Top 5 Surprising Health Benefits of Coffee in Hindi ( कॉफी पीने के फायदे )

0
553

कॉफी पीने के फायदे:- कॉफी पीते ही आपके अंदर स्फूर्ति आ जाती है। लेकिन आप जानते है कि कॉफी हमारी नींद भगाने के अलावा हमारे सेहत के लिए काफी फायदेमंद है। अगर इसका सेवन दिन में केवल 2-3 बार किया जाएं। जानिए इसके फायदों के बारें में। भारतीय समाज में भी धीरे धीरे कॉफी पीने का चलन बढ़ रहा है। आप जब भी सुबह जगते होगे तो ( कॉफी पीने के फायदे ) आपको सबसे पहले चाय या कॉफी चाहिए।

कॉफी पीने के फायदे

जिसके बिना तो आपकी दिन की शुरुआत ही नही होती है। इसके बिना आपको आलसी बने रहते है। कॉफी पीते ही आपके अंदर स्फूर्ति आ जाती है। लेकिन आप जानते है कि कॉपी हमारी नींद भगाने के अलावा हमारे सेहत के लिए काफी फायदेमंद है।

अगर इसका सेवन दिन में केवल 2-3 बार किया जाएं। जानिए इसके फायदों के बारें में। कॉफी सेहत के लिए केवल लाभदायक ही नहीं होती है बल्कि यह व्यक्ति को तरो -ताजा बनाये रखता है। कॉफी की खुशबू ऐसी है की व्यक्ति का मन मोह लेती है।हालांकि कॉफी स्वाद में कड़वा जरूर है, लेकिन शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करता है।कॉफी का सेवन पूरी दुनिया में लोग बड़े पैमाने पर करते है।

कॉफी के फलो ( कॉफी पीने के फायदे ) को भूनकर बीज तैयार किए जाते है।कॉफी के बीज का स्वाद भुनने की प्रक्रिया पर निर्भर होता है।सामान्य तौर पर कॉफी गर्म ही पी जाती है, किन आजकल लोगो में कोल्डकॉफी भी अधिक पसंद की जाती है।विश्व में ब्राजील सबसे अधिक कॉफी का उत्पादन करता है।

भारत में कर्नाटक कॉफी का उत्पादन अधिक करता है।इसके अलावा तमिलनाडु में भी कॉफी का उत्पादन किया जाता है।कॉफी तनाव को दूर करने के लिए फायदेमंद होता है क्योंकि कॉफी में एंटीऑक्सीडेंट्स होते है।इस लेख में आपको Coffee के फायदे और नुकसान के बारे में विस्तार से बतलाया गया है सुबह-सुबह एनर्जी ( कॉफी पीने के फायदे ) के लिए आप में से कई लोग अपने दिन की शुरुआत कॉफी से करते होंगे,

कॉफी पीने के फायदे

लेकिन अगर आप इसका सेवन गलत समय पर करते हैं, तो यही कॉफी आपकी एनर्जी चुरा भी सकती है ! इतना ही नहीं, यह आपको हाई ब्लडप्रेशर का मरीज बनाने के साथ ही आपकी नींद भी चुरा सकती है।

इन सब से बचने के लिए आपको जरूरत है, कॉफी को सही समय पर पीने की। जानिए विशेषज्ञों की राय । आमतौर पर आप कॉफी को ताजगी के लिए पीते होंगे लेकिन कॉफी (Coffee) कई बीमारियों से लड़ने में फायदेमंद हो सकती है. बशर्ते आप जरूरत के मुताबिक ही कॉफी का सेवन करें. सुबह-सुबह एनर्जी के लिए आप में से कई लोग अपने दिन की शुरुआत कॉफी से करते होंगे,

लेकिन अगर आप इसका सेवन गलत समय पर ( कॉफी पीने के फायदे ) या ज्यादा मात्रा में करते हैं तो यह आपके लिए हानिकारक भी हो सकती है. कॉफी का ज्यादा सेवन करने से आपको हाई ब्लडप्रेशर की समस्या हो सकती है. साथ ही कॉफी आपकी नींद भी चुरा सकती है.

अगर आप भी कॉफी के शौकीनों में से एक हैं, तो आपके लिए एक अच्‍छी खबर है

रोजाना 3 से 4 कप कॉफी पीने से आपका हृदय (Heart) स्‍वास्‍थ्‍य बेहतर रहता है और मेटाबॉलिक सिंड्रोम (Metabolic Syndrome) के विकास का खतरा भी कम हो सकता है. यह बात हाल ही में हुए एक अध्य्यन में सामने आई है| कॉफी ( कॉफी पीने के फायदे ) आपकी सुस्ती और आलस को दूर करने में भी मददगार है साथ ही कॉफी में कैफीन के उत्तेजक गुण तुरंत आपके मूड को ठीक बेहतर करने में मददगार हो सकते हैं. कॉफी में मेटाबॉलिक सिंड्रोम के विकास के जोखिम को कम करने की क्षमता को बढ़ाने में मददगार हो सकती है|

मेटाबॉलिक सिंड्रोम कोई एक बीमारी नहीं है, बल्कि यह कई अन्‍य बीमारियों का रास्‍ता खोलता है, जिसमें मोटापा, डायबिटीज, हाई ब्‍लड प्रेशर और कार्डियोवस्कुलर (दिल से जुड़ी समस्याएं) शामिल हैं|

यह बात इंस्टीट्यूट फॉर साइंटिफिक इंफॉर्मेशन ऑन कॉफी की एक‍ रिर्पोट में सामने आई है. अध्‍ययन की मानें तो मेटाबॉलिक सिंड्रोम को दुनिया भर में एक अरब से अधिक लोगों को प्रभावित करने ( कॉफी पीने के फायदे )के लिए जाना जाता है. मेटाबॉलिक सिंड्रोम हृदय संबंधी समस्याओं का खतरा बढ़ाता है, जिसमें हृदय रोग और स्ट्रोक जैसी समस्याएं शामिल हैं|

कॉफ़ी क्या है

कॉफ़ी कड़वी और गर्म तासीर की होती है। कॉफ़ी कफ और वात को कम करने वाली; हृदय को स्वस्थ रखने वाली, दुर्गन्धनाशक और स्फूर्ति प्रदान करने वाला होती है। यह पाइल्स, दस्त, सिरदर्द, संधिवात, आमवात, निद्रा तथा शारीरिक जड़ता नाशक होती है। कॉफ़ी को अल्प मात्रा में सेवन करने से सांस संबंधी समस्या में लाभ मिलता है। कॉफ़ी में उपस्थित (कॉफी पीने के फायदे) रस कैफीन के कारण यह मूत्र संबंधी बीमारी, मस्तिष्क तथा हृदय को उत्तेजित करने में मदद करती है। कॉफ़ी के रस का प्रयोग हृदय संबंधी बीमारी तथा किडनी के सूजन को कम करने में भी सहायता करती है।

इसका मस्तिष्क को उत्तेजित करने वाली या केंद्रीय नाड़ी संस्थान पर उत्तेजक प्रभाव होने के कारण सेवन के बाद व्यक्ति अपने को प्रसन्न महसूस करता है। कॉफ़ी का संतुलित मात्रा में सेवन करने से थकान तथा तंद्रा दूर होती है। वैसे प्राचीन आयुर्वेदीय निघण्टुओं में इसका वर्णन नहीं मिलता है। इसके बीजों में कैफीन नामक तत्व पाया जाता है। इसलिए इसका प्रयोग कम मात्रा में करना चाहिए।

कॉफी पीने के फायदे

अन्य भाषाओं में कॉफी के नाम ( Name of Coffee in Different Languages )

Coffee in

1) Sanskrit-राजपीलु, म्लेच्छ-फल, काफी;

2) Hindi-कॉफी, बुन;

3) Kannada-काफी (Coffee), कापिबीजा (Kapibija);

4) Gujrati-बुंद (Bund), बुंददाणा (Bunddana);

5) Tamil-काप्पिकोट्टई (Capiecottay), कप्पी (Kappi), सिलापकम (Cilapakam);

6) Telugu-काप्पिविट्टलु (Kappivittalu), कप्पी (Kappi );

7) Bengali-काफी (Coffee);

8) Nepali-कफी (Cafee);

9) Marathi-बुंद (Bund), काफे (Kaphe), बुंददाणा (Bunddana);

10) Malayalam-बन्नू(Bannu), कप्पी (Kappi);

11) Manipuri-कोफी (Kophi)।

12) English-कॉफी (Coffee), कॉमन कॉफी (Common coffee);

13) Arbi-कहवा (Quahwah), कावा (Kawa);

14) Persian-तोकैमकेवह (Tochemkeweh), कहवा (Kahwa)

कॉफ़ी के फायदे ( Benefits of Coffee in Hindi )

1) त्वचा के लिए ( Benefits of Coffee for Skin )

डिहाइड्रेशन, एलर्जी व आँखो के निचे काले घेरे का इलजा कैफीन नहीं है। लेकिन काले घेरो के सूजन को कम करने में फायदेमंद रहता है। कॉफी आँखों के काले घेरे को कम करने में सक्षम है। जिन लोगो को काले घेरे है, उनको कॉफी का सेवन करना चाहिए। कॉफी में प्रमुखता से मौजूद कैफीन तत्व त्वचा के लिए लाभदायक हो सकता है।

यही कारण है इसका ( कॉफी पीने के फायदे ) प्रयोग कई कॉस्मेटिक प्रोडक्ट में किया जाने लगा है। कैफीन त्वचा में अच्छी तरह समाकर कोशिका स्तर पर काम करने में सक्षम है। साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट गतिविधि पाई जाती है। कॉफी के गुण के चलते इसका मुख्य घटक कैफीन त्वचा को अल्ट्रावायलेट रेडिएशन के हानिकारक प्रभाव से बचा सकता है, जोकि त्वचा को उम्रदराज दिखाने का बड़ा कारण होता है। इसके अलावा, कैफीन त्वचा कोशिकाओं में फैट जमने से रोक सकता है।

2) डायबिटीज के लिए ( Benefits of Coffee for diabetes )

कॉफी डायबिटीज के लिए बहुत फायदेमंद साबित होती है। टाइप 2 से पीड़ित मरीजों को दिन में दो बार रोजाना कॉफी पिने से 50 % तक शुगर का स्तर कम हो जाता है। इस बात का ध्यान रहे कॉफी में चीनी ना मिलाये। कॉफी का नियमित सेवन टाइप 2 डायबिटीज के जोखिम को कम कर सकता है। एक शोध के अनुसार ( कॉफी पीने के फायदे) रोजाना 4 कप कॉफी का सेवन टाइप 2 डायबिटिज के जोखिम को 30 प्रतिशत तक कम कर सकता है ।

3) वजनकम करने के लिए ( Benefits of Coffee for lose weight )

कॉफी मोटापा कम करने में मदद करती है। कॉफी में उपस्थित मैग्नीशियम, पोटैशियम चर्बी को कम करते है। चर्बी कम होने शरीर का वजन नहीं बढ़ता है और मोटापा कम हो जाता है। रोजाना दिन में दो कप कॉफी का सेवन जरूर करें।वजन करने के घरेलू उपाय के रूप में कॉफी पीने के फायदे देखे जा सकते हैं। दरअसल, इसमें मौजूद कैफीन, मेटाबॉलिज्म यानी भोजन से ऊर्जा बनने की क्रिया को ( कॉफी पीने के फायदे ) बढ़ाता है। साथ ही इससे पैदा होने वाली गर्मी मोटापे को नियंत्रित करने में सहायक होती है । वहीं, एक अन्य वैज्ञानिक अध्ययन में भी जिक्र मिलता है कि कैफीन के द्वारा मेटाबॉलिज्म का बढ़ना वजन कम करने में मददगार होता है ।

4) तनाव से पाएं छुटकारा ( Benefits of Coffee for Tension )

सिओल नेशनल यूनिवर्सिटी के रिसर्चरों ने चूहे पर प्रयोग करके पाया कि चूहे को देर तक जागती हालत में रखने के बाद जब उसे कॉफी सुंघाई गई तो दिमाग में उन प्रोटीन पर असर पड़ा जो तनाव के लिए जिम्मेदार होते हैं. सिर्फ तनाव ही नहीं नींद पूरी ना होने पर होने वाली थकावट भी कॉफी से दूर होती है।

विशेषज्ञों का मानना है कि तनाव को कम करने में कैफीन की सकारात्मक ( कॉफी पीने के फायदे ) भूमिका होती है, क्योंकि इसका सेवन अल्फा-एमिलेज (sAA) नामक एंजाइम में बढ़ोत्तरी कर सकता है। कैफीन का ये गुण तनाव से राहत में सहायता कर सकता है। वहीं, जो महिलाएं कॉफी का नियमित सेवन करती हैं, उनके अवसाद में जाने का डर कॉफी के गुण के कारण कम हो सकता है

5) लिवर कि सुरक्षा के लिए (Benefits Of Coffee For Liver )

लंबे समय तक शराब का सेवन करने से लिवर के टिश्यू क्षतिग्रस्त हो सकते हैं और लिवर में सूजन आ सकती है। इस स्थिति को अल्कोहलिक सिरोसिस कहते हैं, हालांकि यह बीमारी शराब न पीने वाले व्यक्ति को भी हो सकती है, जिसे नॉन अल्कोहलिक सिरोसिस के नाम से जाना जाता है। कॉफी का सेवन दोनों प्रकार के सिरोसिस से बचाव में मदद ( कॉफी पीने के फायदे ) कर सकता है।

एक शोध में रोजाना 4 कप कॉफी का सेवन करने वाले व्यक्तियों में एस्पारटेट एमिनोट्रांस्फरेज और एलेनिन एमिनोट्रांस्फरेज नामक एंजाइम का स्तर कम पाया गया। इन दोनों एंजाइम की बढ़ी हुई मात्रा लिवर क्षति की ओर संकेत करती है। इस कारण कहा जा सकता है कि कॉफी के गुण लिवर को क्षति से बचा सकते हैं।( कॉफी पीने के फायदे )लंबे समय तक शराब का सेवन करने से लिवर के टिश्यू क्षतिग्रस्त हो सकते हैं और लिवर में सूजन आ सकती है। इस स्थिति को अल्कोहलिक सिरोसिस कहते हैं, हालांकि यह बीमारी शराब न पीने वाले व्यक्ति को भी हो सकती है, जिसे नॉन अल्कोहलिक सिरोसिस के नाम से जाना जाता है।

कॉफी पीने के फायदे

कॉफी का सेवन दोनों प्रकार के सिरोसिस से बचाव में मदद ( कॉफी पीने के फायदे ) कर सकता है। एक शोध में रोजाना 4 कप कॉफी का सेवन करने वाले व्यक्तियों में एस्पारटेट एमिनोट्रांस्फरेज और एलेनिन एमिनोट्रांस्फरेज नामक एंजाइम का स्तर कम पाया गया। इन दोनों एंजाइम की बढ़ी हुई मात्रा लिवर क्षति की ओर संकेत करती है। इस कारण कहा जा सकता है कि कॉफी के गुण लिवर को क्षति से बचा सकते हैं।

कॉफी का सेवन कैसे करना चाहिए ?

बीमारी के लिए कॉफी के सेवन और इस्तेमाल का तरीका पहले ही बताया गया है। अगर आप किसी ख़ास बीमारी ( कॉफी पीने के फायदे )के इलाज के लिए कॉफी का उपयोग कर रहे हैं तो आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह ज़रूर लें। इसके अलावा चिकित्सक के परामर्श के अनुसार –

कॉफी का सेवन कब और कितनी मात्रा में करें?

ताजगी और ऊर्जा के लिहाज से कॉफी का सेवन सुबह के समय अच्छा हो सकता है, लेकिन इसका संतुलित सेवन दिन में कभी भी किया जा सकता है। सोने से ठीक पहले कैफीन का सेवन करना चाहिए या नहीं इस पर अभी संदेह की स्थिति बनी हुई है। बेहतर होगा कि आप अपने डॉक्टर से इस बारे में सलाह लें। अब बात करते हैं कि कॉफी का सेवन कितनी मात्रा में ( कॉफी पीने के फायदे ) करना चाहिए, तो विशेषज्ञों के अनुसार प्रतिदिन करीब 3 कप कॉफी पी जा सकती है । इससे अधिक मात्रा में कैफीन नुकसानदायक हो सकता है, जिसके बारे में हम लेख में आगे बताएंगे।

कॉफी पीने के साइड इफेक्ट ( Side effects of Coffee )

कॉफी पीने के फायदे जैसे है वैसे ही अंसतुलित मात्रा में कॉफी पीने के नुकसान भी होते हैं। -बच्चों के लिए कैफीन की 5.3 ग्राम मात्रा का सेवन प्राण-घातक साबित हो सकती है। इसके अलावा गर्भावस्था में इसके प्रयोग से बचना चाहिये। -इसका प्रयोग स्तनपान कराने वाली महिलाओं को नहीं करना चाहिए और यदि कोई ( कॉफी पीने के फायदे ) करता है तो कैफीन के प्रभाव से अनिद्रा की बीमारी हो सकती है।

कॉफी पीने के नुकसान गर्भवती महिला और स्तनपान कराने वाली महिला दोनों को हो सकता है। -प्रतिदिन 5 कप कॉफी (500 मिग्रा कैफीन) का प्रयोग सुरक्षित होता है। मानसिक, किडनी और थायराइड ग्रंथियों के रोगियों को कॉफी का प्रयोग सावधानीपूर्वक करना चाहिए। इसका लंबे समय तक अत्यधिक मात्रा में सेवन करने पर दस्त, सिरदर्द, अरुचि, हृदय में बेचैनी,अनिद्रा, उल्टी एवं आमाशय की समस्या हो सकती हैं।

For more details regarding the Coffee in Hindi Click here

कॉफ़ी क्या है?

कॉफ़ी कड़वी और गर्म तासीर की होती है। कॉफ़ी कफ और वात को कम करने वाली; हृदय को स्वस्थ रखने वाली, दुर्गन्धनाशक और स्फूर्ति प्रदान करने वाला होती है। यह पाइल्स, दस्त, सिरदर्द, संधिवात, आमवात, निद्रा तथा शारीरिक जड़ता नाशक होती है। कॉफ़ी को अल्प मात्रा में सेवन करने से सांस संबंधी समस्या में लाभ मिलता है। कॉफ़ी में उपस्थित (कॉफी पीने के फायदे) रस कैफीन के कारण यह मूत्र संबंधी बीमारी, मस्तिष्क तथा हृदय को उत्तेजित करने में मदद करती है। कॉफ़ी के रस का प्रयोग हृदय संबंधी बीमारी तथा किडनी के सूजन को कम करने में भी सहायता करती है।
इसका मस्तिष्क को उत्तेजित करने वाली या केंद्रीय नाड़ी संस्थान पर उत्तेजक प्रभाव होने के कारण सेवन के बाद व्यक्ति अपने को प्रसन्न महसूस करता है। कॉफ़ी का संतुलित मात्रा में सेवन करने से थकान तथा तंद्रा दूर होती है। वैसे प्राचीन आयुर्वेदीय निघण्टुओं में इसका वर्णन नहीं मिलता है। इसके बीजों में कैफीन नामक तत्व पाया जाता है। इसलिए इसका प्रयोग कम मात्रा में करना चाहिए।

कॉफी का सेवन कब और कितनी मात्रा में करें?

ताजगी और ऊर्जा के लिहाज से कॉफी का सेवन सुबह के समय अच्छा हो सकता है, लेकिन इसका संतुलित सेवन दिन में कभी भी किया जा सकता है। सोने से ठीक पहले कैफीन का सेवन करना चाहिए या नहीं इस पर अभी संदेह की स्थिति बनी हुई है। बेहतर होगा कि आप अपने डॉक्टर से इस बारे में सलाह लें। अब बात करते हैं कि कॉफी का सेवन कितनी मात्रा में ( कॉफी पीने के फायदे ) करना चाहिए, तो विशेषज्ञों के अनुसार प्रतिदिन करीब 3 कप कॉफी पी जा सकती है । इससे अधिक मात्रा में कैफीन नुकसानदायक हो सकता है, जिसके बारे में हम लेख में आगे बताएंगे।

कॉफी का सेवन कैसे करना चाहिए ?

बीमारी के लिए कॉफी के सेवन और इस्तेमाल का तरीका पहले ही बताया गया है। अगर आप किसी ख़ास बीमारी ( कॉफी पीने के फायदे )के इलाज के लिए कॉफी का उपयोग कर रहे हैं तो आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह ज़रूर लें। इसके अलावा चिकित्सक के परामर्श के अनुसार –

कॉफी पीने के साइड इफेक्ट

कॉफी पीने के फायदे जैसे है वैसे ही अंसतुलित मात्रा में कॉफी पीने के नुकसान भी होते हैं। -बच्चों के लिए कैफीन की 5.3 ग्राम मात्रा का सेवन प्राण-घातक साबित हो सकती है। इसके अलावा गर्भावस्था में इसके प्रयोग से बचना चाहिये। -इसका प्रयोग स्तनपान कराने वाली महिलाओं को नहीं करना चाहिए और यदि कोई ( कॉफी पीने के फायदे ) करता है तो कैफीन के प्रभाव से अनिद्रा की बीमारी हो सकती है। कॉफी पीने के नुकसान गर्भवती महिला और स्तनपान कराने वाली महिला दोनों को हो सकता है। -प्रतिदिन 5 कप कॉफी (500 मिग्रा कैफीन) का प्रयोग सुरक्षित होता है। मानसिक, किडनी और थायराइड ग्रंथियों के रोगियों को कॉफी का प्रयोग सावधानीपूर्वक करना चाहिए। इसका लंबे समय तक अत्यधिक मात्रा में सेवन करने पर दस्त, सिरदर्द, अरुचि, हृदय में बेचैनी,अनिद्रा, उल्टी एवं आमाशय की समस्या हो सकती हैं।