7 Surprising Health Benefits of Honey For Weight Loss and Hair ( शहद के फायदे )

0
240

शहद खाने के फायदे | benefits of honey | what are benefits of honey | what the benefits of honey | what is the benefits of honey | the benefits of honey | what is benefits of honey | what are the benefits of honey | what benefits of honey | benefits of honey on skin | benefits of honey for skin | can diabetics eat honey | diabetics can eat honey | can diabetes eat honey | can diabetic eat honey | can a diabetic eat honey | bear eat honey | can dogs eat honey | how to eat honey | शहद खाने के फायदे | शहद खाने के फायदे | शहद खाने के फायदे | शहद खाने के फायदे | शहद खाने के फायदे | शहद खाने के फायदे | शहद खाने के फायदे | शहद खाने के फायदे | शहद खाने के फायदे | शहद खाने के फायदे |

शहद खाने के फायदे

शहद की मिठास हर इंसान को भाती है। बच्चा पैदा होता है तो शहद से उसका मुंह मीठा कराने का चलन है। शहद न सिर्फ स्वाद के कारण ही लोगों को भाता है, बल्कि ये कई बीमारियों का उपचार भी करता है। इम्यून सिस्टम को बढ़ाने के लिए शहद रामबाण है। कोरोना से बचना है तो (शहद खाने के फायदे) शहद खाएं। शहद में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, विटामिन ए, बी, सी, आयरन, मैग्नीशियम, कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटेशियम, सोडियम आदि गुणकारी तत्व होते हैं, जो आपको बीमारियों से महफूज रखते हैं। शहद खाने से आंखों की रोशनी बढ़ती है। आंखों में मोतियाबिंद की बीमारी हो गई हो तो शहद का इस्तेमाल करें।

शहद पिछले 8000 सालों से हमारे भोजन और उपचार में प्रयोग हो रहा है। शहद के फायदे और स्किन पर लगाने के फायदों की जानकारी, साथ ही लाभ और प्रयोग का तरीका पढ़ें इस लेख में। सदियों से शहद का इस्तेमाल एक महत्वपूर्ण औषधि के रूप में किया जाता है। जहां इसका सेवन सेहत की जुड़ी परेशानियों को दूर रखता है। वहीं, इसका इस्तेमाल सुदंरता बढ़ाने के लिए भी किया जाता है। चलिए जानते हैं सर्दियों में शहद का सेवन आपके लिए क्यों फायदेमंद होता है। शहद एक ऐसी एंटीबायोटि‍क औषधि है, जो पूर्णत: प्राकृतिक है। स्वास्थ्य से लेकर सुंदरता तक, इसके ( शहद खाने के फायदे ) पास हर समस्या का समाधान उपलब्ध है। शहद एक ऐसा स्वादिष्ट खाद्य पदार्थ है जिसे हम कई प्रकार से अपनी डायट में शामिल कर सकते हैं। कई लोग इसे दूध के साथ मिलाकर पीते हैं तो कई लोग किसी व्यंजन को बनाने में इसका इस्तेमाल करते हैं। स्वाद से भरा होने के साथ-साथ या पौष्टिक तत्वों से भरपूर भी होता है।

इतना ही नहीं, रात में जो लोग शहद का सेवन करते हैं उनकी सेहत पर यह कई प्रकार के सकारात्मक प्रभाव भी डालता है। आइए इसके सेवन से होने वाले फायदों के बारे में नीचे विस्तारपूर्वक जानते हैं। शहद एक प्राकृतिक प्रोडक्ट है जिसे मधुमक्खी के द्वारा बनाया जाता है। जब हम मीठे और सेहतमंद चीज़ के बारे में सोचते हैं तो हमें शहद ही ( शहद खाने के फायदे ) सबसे पहले याद आता है। शहद के फायदे कई सारे हैं। शहद को एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लामेट्री खूबी के लिए जाना जाता है। देसी इलाज के लिए शहद को चोट, घाव ठीक करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है साथ ही बाहरी रोगजनकों से सेल को खराब होने से बचाने में भी मदद करता है। इसमें अच्छी मात्रा में फ्रुक्टोज और ग्लूकोज पाया जाता है जो मीठा स्वाद देते हैं।

शहद, स्वस्थ कैलोरी देने के लिए भी जाना जाता है। दिन में 1 चम्मच शहद खाने से आपको 43 कैलोरी मिलती है। एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने के कारण शहद को आयुर्वेद के द्वारा इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। यहां से आप शहद के फायदे इन हिंदी में जानकारी विस्तार से प्राप्त कर सकते हैं। शहद के फायदों के बारे में जितनी बात की जाए वो कम है। गुणों के आधार पर देखा जाए तो शहद जैसा पौष्टिक आहार( शहद खाने के फायदे ) दूसरा और कोई नहीं है। शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने के साथ-साथ यह कई तरह की बीमारियों से बचाती है। प्राचीन काल से ही शहद का इस्तेमाल औषधि के रुप में होता रहा है और आज के समय में भी अधिकांश दवाइयों में इसका उपयोग किया जाता है। स्वादिष्ट और मीठा होने के कारण शहद का इस्तेमाल मिठास के लिए भी किया जाता है।

शहद क्या है

शहद एक गाढ़ा, चिपचिपा, पीलापन और कालापन लिए हुए भूरे रंग का तरल पदार्थ है। यह मधुमखियों द्वारा इकठ्ठा किये गए फूलों के परागों से तैयार किया जाता है। यह शरीर में प्रकुपित हुए तीनों दोषों पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। हनी यानी शहद कई गुणों और पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसका उपयोग आयुर्वेद में कई बीमारियों ( शहद खाने के फायदे ) को दूर करने के लिए किया जाता रहा है और प्राचीन काल में इसे देवताओं का अमृत भी कहा जाता है। शहद सेहत के लिए कई प्रकार से फायदेमंद तो हैं ही साथ में कमजोरी और बीमारियों को भी दूर भगाने में मददगार होता है। दादी के नुस्खे  के इस आर्टिकल में हम जानेंगे शहद के गुण के बारे में। साथ ही बीमारियों से बचने के लिए शहद के फायदे भी जानेंगे।

शहद खाने के फायदे

शहद के प्रकार – Types of Honey in Hindi

1) मनुका शहद

2) क्लॉवर शहद

3) लेदर वुड हनी

4) बकवीट हनी

5) अल्फाल्फा हनी

6) रोजमेरी हनी

7) ब्लूबेरी हनी

8) लैवेंडर हनी

शहद के फायदे – Benefits of Honey in Hindi

आमतौर पर शहद में कफ, विष, रक्तपित्त, प्यास और हिचकी को खत्म करने वाले गुण होते हैं। नया शहद ताकत बढ़ाने वाला ( शहद खाने के फायदे ) और थोड़ी मात्रा में कफ को नष्ट करने वाला होता है। वहीं पुराना शहद कब्ज, चर्बी और मोटापा नष्ट करने वाला होता है।

1) लहसुन और शहद के फायदे ( Benefits of Honey with garlic )

एक शीशी शहद में लहसुन छीलकर, थोडा सा कूटकर 7 दिन रख दें। इसके बाद हर रोज एक लहसुन सुबह खाली पेट खाएं। यह पुरुषों की कामशक्ति बढ़ाता है और कमजोरी दूर करता है। शहद लहसुन खाने से स्त्री-पुरुष की सेक्सुअल स्टैमिना बढती है। इससे सर्दी-जुकाम दूर होता है, वजन कम होता है, रक्त संचार सही होता है व ( शहद खाने के फायदे ) कोलेस्ट्रॉल कम होता है जोकि हार्ट के लिए अच्छा है। इसके अलावा यह दांत मजबूत करता है, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, शरीर को विषैले तत्वों से मुक्त कर डिटॉक्स करता है। ध्यान रखें कि यदि इसके सेवन से आपको सीने में जलन हो तो, खाली पेट न खाएं। भोजन के 1 घंटे बाद लें. अपनी प्रकृति के अनुसार ही इसके सेवन की मात्रा धीरे-धीरे बढायें।

2) शहद और आंवला के लाभ ( Benefits of Honey with Gooseberry )

शहद, आवंला, अदरक रस एक चम्मच मिलाकर दिन में 2-3 बार लेने से सर्दी, खांसी, जुकाम ठीक हो जाता है। खून की कमी दूर करने के लिए आंवला का रस और शहद मिलाकर सुबह-शाम लें। – पुरुषों की शारीरिक कमजोरी दूर करने के लिए 1 चम्मच आंवला पाउडर या रस शहद में मिलाकर चाट लें। सुबह-शाम ऐसा करने के आधे घंटे बाद 1 गिलास दूध पी लें। इससे 3 महीने में सभी आन्तरिक कमजोरी दूर हो जाएगी। महिलाओं की ( शहद खाने के फायदे ) अनियमित माहवारी ठीक करने के लिए 1 चम्मच आंवला रस या चूर्ण, शहद में मिलाकर लें। इससे महिलाओं की शारीरिक कमजोरी भी दूर होती है। – शहद, आंवला मिश्रण में एक चुटकी अजवाईन मिलाकर खाने से पेट के सभी रोग, पाचन समस्या, कब्ज से छुटकारा मिल जाता है। आवंला शहद का सेवन नेत्र-ज्योति तेज करता है।

3) शहद और दालचीनी के फायदे ( Benefits of Honey for Cinnamon )

शहद और दालचीनी की चाय पीने से वजन कम होता है, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढती है, कैंसर का खतरा कम होता है, पेट का अल्सर ठीक होता है। – शहद और दालचीनी हल्के गर्म पानी में मिलाकर पीने से हृदय स्वस्थ बना रहता है और धमनियों में कोलेस्ट्रॉल नहीं जमता। – मुहांसों पर रात में सोते समय दालचीनी चूर्ण ( शहद खाने के फायदे ) और शहद मिलाकर लगायें और सुबह धो लें। मुहांसे ठीक होंगे और दाग भी नहीं रहेंगे। – पेशाब के इन्फेक्शन में शहद और दालचीनी चूर्ण को गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से बैक्टीरिया दूर होते हैं और आराम मिलता है। जोड़ो का दर्द और जकड़न शहद और दालचीनी चूर्ण मिलाकर पीने से दूर होता है। – आर्थराइटिस में जोड़ों पर दालचीनी और शहद मिलाकर धीरे धीरे मालिश करें। साँसों की बदबू से छुटकारा पाने के लिए शहद, गुनगुना पानी, दालचीनी चूर्ण मिलाकर कुल्ला करें।

4) मिनरल्स के लिए ( Benefits of Honey for minerals )

शहद के फायदे में से एक यह है फायदा है कि यह मिनरल्स से भरपूर होता है जैसे कि पोटैशियम और आयरन। शहद कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी सामान्य बनाए रखने में मदद करता है। पोटैशियम की मात्रा ज्यादा होने से यह शरीर से बाहर निकलकर ब्लैडर में आसानी से चला जाता है। लेकिन अगर आपके शरीर में सोडियम की मात्रा ज्यादा है ( शहद खाने के फायदे ) तो यह एक्स्ट्रा पानी बाहर नहीं आने देगा जिससे ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है। शहद में मौजूद पोटैशियम, सोडियम के लेवल को सामान्य बनाए रखने में मदद करता है और एक्स्ट्रा पानी को बाहर निकालने में भी मदद करता है जिससे ब्लड प्रेशर सामान्य बना रहता है। शहद में मौजूद पोटैशियम, सोडियम के लेवल को सामान्य बनाए रखने में मदद करता है।

5) बालों के लिए ( Benefits of Honey for Hair )

रूखे और बेजान बालों में शहद लगाने के फायदे भी होते हैं। शहद में एंटी बैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटीऑक्सीडेंट गुणों के साथ ही आवाश्यक पोषक तत्व भी होते हैं। एक शोध के अनुसार, शहद का उपयोग करने से सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस और डैंड्रफ की रोकथाम में मदद मिलती है। साथ ही शहद बालों की कई समस्याओं को दूर करने में भी मदद करता है, जैसे – रूसी, बाल टूटना, दोमुंहे बाल व रूखापन आदि। इस लिहाज से कहा जाता है कि त्वचा ( शहद खाने के फायदे ) और बालों में शहद लगाने के फायदे कई हैं।

6) जले हुए और घाव के लिए ( Benefits of Honey for burn wound )

शहद का उपयोग जलने पर और घावों की स्थिति को सुधारने के लिए किया जाता है। एक शोध से पता चला है कि शहद न सिर्फ जलने की समस्या को ठीक करने में मददगार होता है, बल्कि घाव को भरने में भी फायदेमंद होता है। शोध में पाया गया कि शहद में एंटी इंफेक्शन, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट और घाव भरने वाले गुण पाए जाते हैं। शहद में पाए जाने ( शहद खाने के फायदे ) वाले ये गुण स्किन बर्निंग को कुछ हद तक कम करने के साथ ही घाव के उपचार में भी लाभदायक होते हैं। हालांकि, जलने और घाव की गंभीर स्थिति होने पर शहद का उपयोग करने के स्थान पर डॉक्टर को चेकअप करना ज्यादा बेहतर होगा।

7) कोलेस्ट्रॉल के लिए ( Benefits of Honey for cholesterol )

बढ़ते हुए कॉलेस्ट्रॉल के कारण हृदय रोग जैसी कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है और स्थिति गंभीर होने पर हृदयाघात जैसी स्थिति भी बन सकती है। शहद इस समस्या को नियंत्रित करने में मदद करता है। कई शोध में पाया गया है कि शहद के सेवन से कुल कोलेस्ट्रॉल, एलडीएल और ट्राइग्लिसराइड्स कोलेस्ट्रॉल ( शहद खाने के फायदे ) के स्तर को कम किया जा सकता है। इसके अलावा, यह फायदेमंद कोलेस्ट्रॉल यानी एचडीएल को बढ़ाने में मददगार होता है। वहीं, एक अन्य शोध में पाया गया कि शहद में पाए जाने वाले फ्लेवोनोइड्स हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मददगार होते हैं।

शहद का उपयोग :

1) सलाद की ड्रेसिंग के रूप में शहद का उपयोग कर सकते हैं।

2) चीनी के विकल्प में कई जगह शहद को मिलाया जा सकता है।

3) सोने से पहले एक चम्मच शहद को दूध में मिक्स करके भी ले सकते हैं। आयुर्वेद में इसके कई फायदे बताए गए हैं।

4) रोज सुबह खाली पेट एक चम्मच शहद का सेवन किया जा सकता है।

5) हनी का उपयोग सीरप बनाकर भी किया जा सकता है।

6) तुलसी, हनी और आम का शरबत भी बनाया जा सकता है।

7) एक गिलास गर्म पानी में शहद और नींबू का रस मिक्स करके भी पी सकते हैं। यह मिश्रण डिटॉक्स का काम करता है। इसे सुबह खाली पेट पीने की सलाह दी जाती है।

शहद को लंबे समय तक सुरक्षित कैसे रखें ?

1) आप कंटेनर या गिलास के जार में शहद को स्टोर कर सकते हैं।

2) शहद को स्टोर करने के लिए रसोई एक अच्छा स्थान हो सकता है। फिर भी शहद को स्टोव और ठंडे स्थान से दूर ही रखना चाहिए। इन स्थानों पर तापमान में अचानक परिवर्तन की संभावना होती है, जिससे शहद खराब हाे सकता है।

3) शहद को धूप से दूर रखें। सूरज की रोशनी शहद को नुकसान पहुंचा सकती है।

4) शहद को फ्रिज में भी रख सकते हैं। इससे शहद को कुछ वर्षों तक सुरक्षित रखा जा सकता है।

शहद के साथ क्या ना खाएं :

इन चीजों का सेवन शहद के साथ ना करें, आयुर्वेद में इन्हें शहद के साथ में खाने से मना किया गया है।

1) घी (समान मात्रा में पुराना घी)

2) तेल और वसा

3) अंगूर

4) कमल का बीज

5) मूली

6) अधिक गर्म पानी

7) गर्म दूध या अन्य गर्म पदार्थ

शहद से जुड़ी कुछ विशेष ध्यान रखने वाली बातें :

शहद को कभी भी गर्म करने ना खाएं। इसका मतलब यह है कि किसी भी आहार को पकाते समय उसमें शहद डालकर ना पकाएं। शहद को अधिक तापमान कर गर्म करने से उसमें विषैला प्रभाव आ जाता है, जो सेहत के लिए हानिकारक है। अगर आप खाली पेट सुबह पानी में शहद डालकर पी रहे हैं तो पानी में शहद डालकर उबालें नहीं बल्कि आंच बंद करने के बाद पानी को गिलास में डालकर तब उसमें एक चम्मच शहद मिलाकर पियें। इसी तरह उबलते हुए दूध में शहद ना डालें बल्कि दूध को उबालकर उसे कुछ देर सामान्य तापमान तक ठंडा कर लें। जब दूध गुनगुना रहे तब उसमें शहद मिलाकर पियें। हालांकि उल्टी (वमन क्रिया) करने में गर्म शहद का प्रयोग किया जा सकता है क्योंकि उल्टी के दौरान शहद शरीर से बाहर निकल जाता है। शहद और गाय के घी को कभी भी एक बराबर मात्रा में मिलाकर ना खाएं। एक बराबर मात्रा की बजाय अगर आप शहद और घी की अलग अलग मात्रा को साथ में मिलाकर खाएं तो यह बहुत अधिक लाभदायक होता है।

Side Effects of Honey in Hindi

एलर्जी : जिन्हें पराग के कणों से एलर्जी होती है, वो शहद का सेवन न करें। साथ ही भोजन में शहद की अधिकता शहद से संबंधित एलर्जी को बढ़ा सकती हैं। शहद के नुकसान में एनाफिलेक्सिस (Anaphylaxis) का नाम भी आता है, जो एक प्रकार का एलर्जिक रिएक्शन है ।

पेट में दर्द : शहद के नुकसानों में पेट दर्द भी शामिल है। शहद के अधिक सेवन से पेट दर्द की समस्या खड़ी हो सकती है। इसमें फ्रुक्टोज की मात्रा पाई जाती है, जो छोटी आंतों के पोषक तत्व को अवशोषित करने की क्षमता को बाधित कर सकता है।

भोजन विषाक्तता : शहद के नुकसान के अंतर्गत फूड पॉइजनिंग भी आ सकती है। शहद के अधिक सेवन से बोटुलिज्म पॉइजनिंग हो सकती है। यह समस्या ज्यादातर बच्चों में पाई जाती है ।

ब्लड शुगर : शहद का अधिक सेवन ब्लड शुगर को अस्थिर कर सकता है, क्योंकि इसमें कुछ मात्रा फ्रुक्टोज की होती है। इसलिए, मधुमेह के मरीज को शहद का सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए। डॉक्टर ही शुगर के मरीज को शहद खाने के तरीके बता सकते हैं ।

For more details regarding the Benefits of Honey in Hindi: Click here