Badam Benefits in Hindi – बादाम के 5 अचूक फायदे, बादाम खाने के फायदे

0
227
Badam Benefits in Hindi

Badam Benefits in Hindi। बादाम के फायदे। Almonds। Almond Benefits in Hindi । Badam Benefits

Badam Benefits in Hindi। बादाम के फायदे

बादाम में कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं। बादाम के फल के अंदर एक बीज होता है। उस बीज को खाया जाता है। बादाम अंडाकार और एक सिरे से नुकीला होता है। बादाम का बीज सफेद रंग का और भूरे रंग का पतला छिलका होता है। बादाम में सेहत के लिए काफी फायदेमंद होती हैं।

बादाम में प्रोटीन, मिनरल्स, विटामिंस और फाइबर्स प्रचुर मात्रा में पाए जाते है। यह कोलेस्ट्रोल को कम करने में सहयक होता है तथा कार्डियोवस्कुलर रोगों और कैंसर को नियंत्रित करने में सहायक होता है। आज हम आपको हमारे इस लेख के माध्यम से बादाम क्या होता है?, बादाम के फायदे, बादाम के नुकसान, और बादाम के पोषक तत्व आदि पर चर्चा परिचर्चा करेंगे।

Badam in Hindi

बादाम का वैज्ञानिक नाम प्रूनुस डल्शिस है, और रोजेशी परिवार से संबंध रखता है। रोजेशी परिवार में आडू, सेब, नाशपाती, चेरी और खुबानी भी संबंधित है। बादाम का उत्पादन मध्य एशिया और चीन में किया जाता है। बादाम में उत्पादन सबसे पहले संयुक्त राज्य में किया जाता है। स्पेन एवं ईरान में बादाम का उत्पादन किया जाता है। भारत में सबसे ज्यादा बादाम का उत्पादन जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में किया जा सकता है।

यह भी देखे–>> Muskmelon In Hindi

Nutrients of Badam in Hindi

बादाम में कई पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं जैसे ओमेगा 3 फैटी एसिड, ओमेगा 6, फैटी एसिड, विटामिन E, कैल्शियम, फॉस्फोरस, मैगनीज, विटामिन बी कांप्लेक्स, राइबोफ्लेविन, मैग्नीशियम, पोटैशियम, सोडियम, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट आदि । 25 प्रकार के बादाम कैलिफोर्निया में उगाये जाते हैं।

Badam Benefits in Hindi

दिमाग के लिए – Badam in Hindi for brain power 

बादाम में विटामिन ई पाया जाता है , जो न केवल दिमाग की सतर्कता को बढ़ाने का कार्य है बल्कि संज्ञानात्मक गिरावट (cognitive decline) को रोकने में भी सहायक होता है। बादाम में ज़िंक (zinc) भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो दिमाग की कोशिकाओं (brain cells) को सुरक्षित रखने का सहायक होता है। बादाम में विटामिन बी-6 भी पाया जाता है, दिमाग की कोशिकाओं की मरम्मत करने में सहायता करता है।

बादाम फेनिलएलनिन पार्किंसंस रोग (Parkinsons disease) को रोकने और डोपामाइन (dopamine) और एड्रेनालाईन (adrenaline) जैसे मस्तिष्क के रसायनों (brain chemicals) का सेक्रेशन करने में सहायक होता है। डोपामाइन (dopamine) और एड्रेनालाईन होर्मोनेस ध्यान और स्मृति के लिए काफी फायदेमंद हैं। रोजाना बादाम का सेवन करने से यादाशत तेज करने में सहायक होती है।

वजन घटाने के लिए – Badam in Hindi for weight loss

बादाम में अनेक पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते है, जो वजन कम करने में सहायता करते है । बादाम का सेवन करने से पेट जल्दी भर जाता है। बादाम में ज़िंक और विटामिन बी प्रचुर मात्रा में पाए जाते है जो हमे शुगर का सेवन करने से रोकने में सहायक होता है।

जन्म दोष के लिए – Badam in Hindi For birth defects

बादाम में फोलिक एसिड पायी जाती है, जो होने वाली संतान को हृष्ट-पुष्ट बनाने का कार्य करता है। बादाम का सेवन करने से शिशु में होने वाले विकारों या फिर जन्म दोष को रोका जा सकता है। गर्भावस्था के दौरान बादाम का सेवन करने से शिशु में एनटीडी (तंत्रिका ट्यूब दोष) की आशंका कम होती है।

कब्ज के लिए – Badam in Hindi for constipation

बादाम में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं, जो केवल कब्ज़की समस्या से निजात दिलाने में सहायक होता है और कब्ज़ से बचाव भी करने में सहायक होता हैं। बादाम का सेवन करने से कॉलन कैंसर की समस्या को कम किया जा सकता है।

बादाम एक तेलीय प्रदार्थ होता है जिससे सीने में जलन की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।4-5 बादाम खाने के पश्चात् ढेर सारा पानी पीने से आप कब्ज की समस्या से छुटकारा पा सकते है।

हड्डियाँ की मज़बूत के लिए – Badam in Hindi for strong bones

बादाम में फास्फोरस और कैल्शियम प्रचुर मात्रा में पाए जाते है जो हमारी हड्डियों को मजबूत और स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होती है। बादाम में मैग्नीशियम, मैंगनीज और पोटेशियम भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते है। जो की स्वस्थ और मज़बूत हड्डियों के लिए काफी फायदेमंद होती है।

बादाम वाला दूध या फिर साबुत बादाम का सेवन करने से आप ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis) और अन्य हड्डी से सम्बंधित समस्याओ से छुटकारा पा सकते है।बादाम के तेल से मालिश करने से छोटे बच्चों की हड्डियां मज़बूत होती हैं।

त्वचा के लिए – Badam in Hindi for skin

बादाम का त्वचा को पोषित, सुन्दर, जवां व झुर्रियों से मुक्त रखने का कार्य करता है। बादाम का तेल त्वचा के रंग को भी निखारता है। बादाम के तेल से त्वचा की मालिश करने से सनबर्न और अन्य त्वचा-सम्बंधित समस्याओ से छुटकारा पाया जा सकता है।

बालों के लिए – Badamin Hindil for hair

बादाम विटामिन ई, बायोटिन, मैंगनीज, तांबा, फैटी एसिड प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं, जो बालो के स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होते है। बादाम में ज़िंक नई कोशिकाओं के नवीकरण को बढ़ाता है। बालों को झड़ने और मज़बूत तथा घना बनाने में सहायक होता है। बादाम के तेल में लैवेंडर के तेल मिलाकर सिर में मालिश करने से दो मुँहे बालो और रूसी समाप्त की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

हृदय के लिए – Badam in Hindi for heart 

बादाम में मैग्नीशियम पाया जाता है, जो हमारे शरीर में रक्त प्रवाह (blood circulation) एवं रक्त चाप (blood pressure) को नियंत्रित रखने का कार्य करता है। इससे हार्ट अटैक के खतरे को भी कम किया जा सकता है। बादाम में असंतृप्त वसा (non-saturated fat) मौजूद होती है।

यह ह्रदय के स्वास्थ्य को बनाये रखता है। बादाम में विटामिन ई पाया जाता है, जो धमनियों (arteries) को खतरे से बचने में सहायक होता है। नाश्ते के रूप में या सूप, सलाद में डाल कर बादाम का सेवन करने से आप ह्रदय संबंधित समस्याओ से छुटकारा पा सकते हैं।

कोलेस्ट्रॉल के लिए – Badam in Hindi cholesterol

बादाम सेवन करने से हानिकारक कोलेस्ट्रॉल का स्तर नियंत्रण में रहता है। बादाम का सेवन करने से अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर बढ़ जाता है। बादाम का सेवन करने से एलडीएल कोलेस्ट्रॉल(हानिकारक कोलेस्ट्रॉल) को 15 प्रतिशत तक कम किया जा सकता हैं।

मधुमेह के लिए- Badam in Hindi for diabetes

बादाम में उपस्थित वसा (fat), विटामिन, फाइबर, खनिज हमारे शरीर में ग्लूकोज के अवशोषण (absorption) और प्रसंस्करण (processing) को नियंत्रित करने में सहायक होते हैं।बादाम नट्स पुरुषों में टाइप-2 मधुमेह को नियंत्रित करने का कार्य करती है। रोज़ाना एक मुठ्ठी बादाम का सेवन करने से रक्त में शुगर के स्तर और मधुमेह की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है ।

Harmful Effects of Badam in Hindi

अधिक मात्रा में बादाम का सेवन से कब्ज और पेट की सूजन की समस्या सामने आ सकती क्योकि बादाम में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं।

बादाम का अधिक मात्रा में सेवन करने से दवाओं का असर पर हानिकारक प्रभाव पद सकता हैं, क्योकि बादाम में मैंगनीज़ प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। मैंगनीज की अधिकता हमारे शरीर में रेचक औषधीयों, एंटीबायोटिक दवाओं और कुछ ब्लड प्रेशर की दवाओं के असर को प्रभावित करता है।दैनिक आहार में केवल 1.3 से 2.3 मिलीग्राम मैंगनीज अ ही सेवन करना चाहिए है।

बादाम में विटामिन ई अधिक मात्रा में पाया जाता है,जिससे दस्त, चक्कर आना और सुस्ती आदि समस्याए उत्पन्न हो सकती है। क्योकि एक व्यक्ति को प्रतिदिन 15 g विटामिन इ की आवश्यकता होती है।

बादाम का अधिक मात्रा में सेवन करने से मोटापे की समस्या सामने आ सकती है , क्योकि एक औंस बादाम में 14g फैट और 163 कैलोरी मौजूद होती है।

कड़वे बादाम में हाइड्रोसायनिक एसिड पाया जाता हैं। यह तंत्रिका तंत्र को मंद करने का कार्य करता हैं, जिससे सांस लेने में कठिनाई हो सकती है।

For more details regarding the Badam benefits in Hindi: Click Here