5+ Surprising Health Benefits of Natural Peanut Butter in Hindi ( पीनट बटर के फायदे )

0
101

Benefit of peanut butter | पीनट बटर खाने के नुकसान | पीनट बटर घर पर कैसे बनाएं | पीनट बटर फॉर वेट लॉस | पीनट बटर में प्रोटीन की मात्रा | पीनट बटर प्राइस 1 kg | peanut butter benefits

Benefit of Peanut Butter

पीनट बटर में कई ऐसे विटामिन पाए जाते हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत लाभदायक होते हैं। पीनट बटर में विटामिन ए होता है जो आँखों के लिए बहुत फायदेमंद है। इसमें मौजूद विटामिन सी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है और छोटे-मोटे अल्सर भी आसानी से ठीक कर देता है। पीनट बटर के फायदे और नुकसान, लाभ-हानि कई हैं। दुनियाभर में पीनट बटर अपने बेहतरीन स्वाद के लिए जाना जाता है। मूंगफली को एक खास प्रक्रिया से गुजरने के बाद यह मक्खन तैयार किया जाता है। पीनट बटर में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं जो हमारे शरीर को कई स्वास्थ्य समस्याओं से दूर रखने का कार्य करते हैं।

पीनट बटर के सेवन से मधुमेह, कैंसर, हृदय रोग, अल्जाइमर, रक्तचाप, वायरल इन्फेक्शन एवं फंगल इन्फेक्शन के खतरों से बचा जा सकता है। बेशक पीनट बटर के ढेरों फायदे होते हैं परन्तु इसके अत्यधिक सेवन से कुछ स्वास्थ्य संबंधी नुकसान भी हो सकते हैं। इसका सेवन करने से पहले इसमें पाए जाने वाले गुणों की जानकारी लेना अत्यंत आवश्यक है। पीनट बटर मधुमेह (डायबिटीज), हृदय रोग, कैंसर के जोखिम को कम कर सकता है। साथ ही यह अल्जाइमर जैसे स्नायविक रोगों को भी नियंत्रित कर सकता है। यह ब्लड प्रेशर कम करने और वायरल इन्फेक्शन तथा फंगल संक्रमण के जोखिम को कम करने में भी मददगार हो सकता है। मूंगफली की तरह मूंगफली का मक्खन भी बेहद फायदेमंद है।

पीनट बटर यानी मूंगफली के मक्खन को बच्चों से लेकर बड़े तक सभी पसंद करते हैं। विदेशों में ही नहीं, हमारे देश में भी इसकी लोकप्रियता है। पीनट बटर अनप्रोसेस्ड फूड होता है जो कि मूंगफली से बनता है। इसे सुपर फूड कहते हैं, क्योंकि इसमें काफी मात्रा में प्रोटीन, हेल्दी फैट और फाइबर पाया जाता है। इसमें प्रयोग होने वाली मूंगफली भूनी हुई होती हैं और इसे पेस्ट के रूप में विभिन्न विधियों द्वारा बनाया जाता है। इसमें शुगर, वेजीटेबल ऑयल और ट्रांस फैट होता है। यह पौष्टिक गुणों से भरपूर है। पीनट में प्रोटीन, कार्बोहाइडेट, मोनो अनसैचुरेटेड फैटी एसिड, विटामिन के कई सारे प्रकार, सोडियम, मैग्नेशियम, कैल्शियम, मैंगनीज, फास्फोरस, सेलेनियम आदि मिलता है। पीनट बटर का सेवन शरीर को कई प्रकार की स्वास्थ्य रोगों से बचाने के साथ-साथ आपको एनर्जेटिक भी बनाए रखता है।

जो लोग डेयरी प्रोडक्ट नहीं खा सकते उनके लिए पीनट बटर प्रोटीन और हेल्दी फैट के लिए सबसे अच्छा स्रोत मान जाता है. सामान्यतया पीनट बटर का उपयोग ब्रेड और रोटी में लगाकर किया जाता है. सेहत के हिसाब से देखा जाए तो लो फैट और हाई प्रोटीन की वजह से यह एक हेल्दी फूड है. आइये, इसके फ़ायदों के बारे में विस्तार ( benefit of peanut butter) से जानते हैं। वहीं यदि इनमें कुछ टेस्ट मिल जाए तो इन्हें खाने का मजा दोगुना हो जाता है। इसी लिस्ट में पीनट बटर भी काफी टेस्टी प्रोडक्ट है जिसे खाने के कई फायदे हैं। ये जरूरी नहीं कि सिर्फ जिम जाने वाले या फिर वर्कआउट करने वाले लोग ही इसे खा सकते हैं। बल्कि इसे हर कोई खा सकता है बस इसे खाने की मात्रा बदल जाती है।

पीनट बटर का सेवन फायदेमंद होता है, खासकर उन लोगों के लिए जो डेयरी प्रोड्क्ट्स नहीं खा सकते हैं. वैसे तो पीनट बटर के फायदे बहुत हैं. लेकिन मोटे तौर पर देखा जाये तो पीनट बटर में हेल्दी कोलेस्ट्राल, प्रोटीन और अन्य जरूरी विटामिन पाये जाते हैं. डेली डाइट में पीनट बटर का इस्तेमाल शरीर को जरूरी पोषण देता है. हेल्दी डाइट में पीनट बटर का उपयोग बहुत आसान है. यह दावा किया जाता है कि अन्य ऑर्गेनिक फूड और फूड प्रॉडक्ट्स की तरह ऑर्गेनिक पीनट बटर हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकता है। आजकल फिटनेस को पसंद करने वाले अधिकतर लोगों के द्वारा पीनट बटर मूंगफली और उसका बटर (पीनट बटर) सिर्फ स्वादिष्ट नहीं होता है बल्कि इसमें हमारे शरीर को फायदा पहुंचाने वाले कई पोषक तत्व होते हैं।

पीनट बटर से हार्ट हेल्थ को भी फायदा पहुंचता है। बहुत से लोग वजन कम करने और वजन बढ़ाने के लिए पीनट बटर को अपनी डायट में शामिल करते हैं। पीनट बटर 25 फीसदी प्रोटीन से बना होता है। पीनट बटर कई देशों में काफी पसंद किया जाता है। आजकल फिटनेस को पसंद करने वाले अधिकतर लोगों के द्वारा पीनट बटर काफी पसंद किया जा रहा है। यह दावा किया जाता है कि अन्य ऑर्गेनिक फूड और फूड प्रॉडक्ट्स की तरह ऑर्गेनिक पीनट बटर हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकता है। लोग अपने वर्कआउट स्नैक के रूप में ऑर्गेनिक पीनट बटर को चुनते हैं। आइए जानते हैं कि ऑर्गेनिक पीनट बटर के खाने से क्या फायदे होते हैं।

पीनट बटर क्‍या है

मूँगफली का मेवेदार और मुलायम स्वाद, नरम और करारे पीनट बटर कि तरह किसी में नही होता है। पीनट बटर और जैली सेण्डविच बच्चे और बड़े, दोनो का मनपसंद है। मुख्यतः भूनी और पिसी हुई मूईगफली से बना, तेल के साथ मिलाकर एक बेहतरीन पायस, पीनट बटर बनता है। कुछ पीनट बटर में चॉकलेट या अन्य प्रकार कि सामग्री भी मिलायी जाती है। घर पर पीनट बटर बनाने के लिये, मूँगफली को धिमी आँच पर उनके सुनहरे होने तक भून लें। भूनने के बाद, तुरंत ठंडा कर उन्हे ज़यादा पकने से बचायें। एैसा करने से मूँगफली का तेल सूखता नही है। उपर के छिलके को निकाल दें। मूँगफली को वनस्पति तेल, स्वादअनुसार शक्कर और नमक से साथ पीस लें।

मिलया हुआ तेल प्राकृतिक स्थिरक से रुप में काम करता है क्योंकि यह मूँगफली के प्राकृतिक तेल को पीनट बटर से अलग होने और उपर आने से रोकता है। क्यिंकि इसमे किसी भी प्रकार का स्थिरक पदार्थ नही मिलाया जाता, जो बाज़ार में मिलते पीनट बटर में होता है, इसलिये यह ज़रुरी हे कि घर पर बने पीनट बटर को थोड़े थोड़े दिनों में अच्छी तरह मिलाया जाये। अमूमन ज्यादातर लोग इसके बारे में जानते हैं. जो लोग इसके बारे में नहीं जानते हैं उनके लिए यह जानकारी जरूरी है. पीनट बटर मूंगफली से बनाया जाता है. पकी हुयी सूखी मूंगफली के द्वारा पीनट बटर को बनाया जाता है

benefit of peanut butter

पीनट बटर के उपयोग रसोई में ( uses of peanut butter in cooking )

1) पीनट बटर का प्रयोग करने का सबसे मशहुर, आसान और साथ ही सबका पसंदिदा तरीका उसे दि ब्रेड स्लाईस या टोस्ट के उपर लगाकर खाना है।

2) पीनट बटर कुकीस्, चॉकलेट पीनट बटर बारस्, पीनट बटर और जैम ड्रॉप्स, बेकिंग करने के लिये पीनट बटर कि प्रतिभा दिखाने के कुछ उदाहरण है।

3) इनका विभीन्न प्रकार के चीज़केक और पाई क्रस्ट बनाने में भी नवीनता से प्रयोग किया जा सकता है।

4) कुरकुरे केक बनाने के लिये पीनट बटर को चॉकलेट चिप्स के साथ मिलायें।

5) डेजर्ट में प्रयोग करने के अलावा, पीनट बटर का सलाद के लिये तीखा पीनट बटर ड्रेसिंग बनाने में भी किया जा सकता है।

6) इसका सॉस बनाने में भी प्रयोग किया जाता है जो पूर्वी पाकशैली में बनते हैं।

7) पीनट बटर कुकीस् और ट्रफल बच्चों के मनपसंद है।

पीनट बटर के पोषण l ( Nutritional Profile of Peanut Butter in Hindi ):

नीचे दी गई सूचि में पीनट बटर के 2 बड़े चम्मच का एक विस्तृत पोषण प्रोफ़ाइल प्रदान किया गया है, जो कुछ इस प्रकार है:

1) कैलोरी : 188

2) प्रोटीन: 7.02 ग्राम

3) संतृप्त फॅट्स: 3.05 ग्राम

4) मोनोअनसैचुरेटेड वसा: 6.63 ग्राम

5) पॉलीअनसेचुरेटेड वसा: 3.63 ग्राम

6) कार्बोहाइड्रेट: 7.67 ग्राम

7) रेशा: 1.80 ग्राम

8) शर्करा: 2.08 ग्राम

9) कैल्शियम: 17 मिलीग्राम

10) आयरन: 0.69 मिग्रा

11) मैगनीशियम: 57 मिग्रा

12) फास्फोरस: 107 मिग्रा

13) पोटैशियम: 189 मिग्रा

14) सोडियम: 152 मिलीग्राम

15) जस्ता: 0.85 मिलीग्राम

16) नियासिन: 4.21 मि.ग्रा

17) विटामिन B6: 0.18 मिग्रा

18) विटामिन E: 1.90 मिग्रा

पीनट बटर के फायदे – Benefits of Peanut Butter in Hindi

1) वजन कम करने के लिए ( Benefits of Peanut Butter for lose weight )

एक बड़े चम्मच ऑर्गेनिक पीनट बटर में लगभग 100 कैलोरी होती है। ये कैलोरी मोनो-अनसैचुरेटेड फैट के रूप में होती हैं। मोनो-अनसैचुरेटेड फैट शरीर के लिए फायदेमंद होती है। यह हार्ट डिजीज और मोटापे को रिस्क को कम करने में मदद करता है। कई स्टडी में यह बात सामने आ चुका है कि पीनट बटर के सेवन से वजन घटाने में मदद मिल सकती है। कई अध्ययन बताते हैं कि मूंगफली और अन्य नट्स खाने से लोगों को अपना वजन बनाए रखने में मदद मिल सकती है, या वजन घटाने में भी मदद मिल सकती है। ऐसा इसलिए हो सकता है क्योंकि मूंगफली तृप्ति में सुधार करती है, जो उनके प्रोटीन, वसा और फाइबर सामग्री के लिए परिपूर्णता की भावना है। 2018 के एक अध्ययन से पता चलता है कि मूंगफली सहित अन्य नट्स खाने से व्यक्ति के अधिक वजन या मोटापे का खतरा कम हो जाता है। इस अध्ययन ने 5 वर्षों में 10 यूरोपीय देशों के 373,000 से अधिक लोगों के आहार और जीवन शैली के आंकड़ों की तुलना की।

2) पाचन को बेहतर करने के लिए ( Benefits of Peanut Butter for improve digestion )

मूंगफली और मूंगफली के मक्खन में फाइबर पर्याप्त मात्र में होता है। एक कप या लगभग 125 ग्राम मूंगफली में 12 ग्राम और मूंगफली के मक्खन में 20 ग्राम फाइबर होता है। फाइबर हमारे आहार का बेहद महत्वपूर्ण अंग है। आहार में फाइबर की कमी से कई किस्म की स्वास्थ्य सम्बन्धी कई समस्याएँ पैदा हो सकती हैं, जैसे कब्ज, डायबिटीज, कोलेस्ट्रॉल और विभिन्न किस्म की दिल की बीमारियाँ। पीनट बटर का सेवन करने से पाचन तंत्र सही रहता है। इसमें मौजूद फाइबर की मात्रा पाचन क्रिया को ठीक करके आपको कई प्रकार की बीमारियों से बचाए रखता है। जितना शरीर के लिए खाना आवश्यक है, उतना ही उसे पचाना भी जरूरी है। भोजन को पचाने में पीनट बटर एक अहम भूमिका निभाता है। दरअसल, पीनट बटर को फाइबर का अच्छा स्रोत माना जाता है, जो पाचन क्रिया को सुचारू रूप से चलाने में मदद करता है।

3) डायबिटीज के लिए ( Benefits of Peanut Butter for diabetes )

पीनट बटरका सेवन टाइप 2 मधुमेह के खतरे को कम करने में मदद करता है। मूंगफली में न केवल प्रोटीन होता है, बल्कि असंतृप्त वसा भी होता है, जिससे इंसुलिन संवेदनशीलता में भी सुधार होता है। मूंगफली का मक्खन, मधुमेह की खपत पर शोध के अनुसार, पीनट बटरऔर अन्य नट्स का अधिक सेवन टाइप 2 मधुमेह के खतरे को कम करता है। पीनट बटर के सेवन से टाइप 2 डायबिटीज का जोखिम कम करने में मदद मिलती है। मूंगफली में न केवल प्रोटीन बल्कि असंतृप्त वसा भी होती है जिससे इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार के भी मामले सामने आये हैं। पीनट बटर के सेवन के डायबिटीज से संबध पर हुए अनुसन्धान के मुताबिक पीनट बटर और अन्य मेवे के अधिक सेवन टाइप 2 डायबिटीज का खतरा कम होता है।

4) कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए  ( Benefits of Peanut Butter for cholesterol )

पीनट बटर में जैतून के तेल के बराबर वसा (फैट) पाई जाती है। इसमें पॉलीअनसैचुरेटेड फैट और मोनोअनसैचुरेटेड फैट होता है। इस किस्म की वसा संतृप्त (सैचुरेटेड) नहीं होती इसलिए इनके सेवन से दिल को कोई खतरा नहीं होता। पीनट बटर में मौजूद असंतृप्त वसा नुकसानदेह कोलेस्ट्रॉल (कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन) का स्तर कम करती है और फायदेमंद कोलेस्ट्रॉल (उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन) का संचार बढ़ाती हैं. पीनट बटर को खाने से हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर नियंत्रित रहता है। यह हमारे शरीर से बैड कोलेस्ट्रॉल यानि एलडीएल कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करने में बहुत सहायक माना जाता है। एक शोध के अनुसार पीनट बटर के लगातार सेवन से एलडीएल कोलेस्ट्रॉल में लगभग 15 प्रतिशत की गिरावट आ सकती है।

5) आंखों के लिए ( Benefits of Peanut Butter for Eyes )

आंखों के लिए पीनट बटर बहुत अच्छा होता है, क्योंकि इसमें विटामिन ए होता है, जो आंखों से जुड़ी कई प्रकार की बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करने में सक्षम माना जाता है। इसलिए जिन लोगों को कंप्यूटर, मोबाइल की स्क्रीन पर काम करना पड़ता है, उन्हें पीनट बटर का सेवन अवश्य करना चाहिए। पीनट बटर में कई ऐसे विटामिन पाए जाते हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत लाभदायक होते हैं। पीनट बटर में विटामिन ए होता है जो आँखों के लिए बहुत फायदेमंद है। इसमें मौजूद विटामिन सी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है और छोटे-मोटे अल्सर भी आसानी से ठीक कर देता है। इसके अलावा पीनट बटर में विटामिन ई हमारे शरीर के लिए बेहद आवश्यक सूक्ष्म पोषक तत्व है जिसकी जरूरत जटिल स्वरूप वाले फैटी एसिड को विघटित करने और धमनियों में वसा के जमा होने से पैदा अवरोध दूर करने के लिए होती है।

6) कैंसर के जोखिम को करने के लिए  ( Benefits of Peanut Butter for Cancer )

पीनट बटर में बी-साइटोस्टेरॉल होता है। यह एक प्रकार का फाइटोस्टेरॉल है जिसमें कैंसर, विशेष रूप से कोलन कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर और स्तन कैंसर से लड़ने के गुण होते हैं। मूंगफली और इसके तैयार उत्पाद, जैसे मूंगफली का तेल और मूंगफली का मक्खन, आदि फाइटोस्टेरॉल से भरपूर होते हैं।

पीनट बटर का उपयोग – How to Use Peanut Butter in Hindi

● एक छोटे चम्मच पीनट बटर को आप ब्रेड के साथ लगाकर चाय के साथ खा सकते हैं।

● एक छोटे चम्मच पीनट बटर को आप टोस्ट पर लगाकर भी खा सकते हैं।

● मफिन्स बनाते समय पीनट बटर का उपयोग किया जा सकता है।

● सूप बनाने में भी एक छोटे चम्मच पीनट बटर का उपयोग किया जा सकता है।

● मुरब्बा बनाने के लिए भी पीनट बटर का उपयोग किया जा सकता है।

पीनट बटर बनाने की विधि :

1) ओवन का तापमान 350 डिग्री फारेनहाइट तक गर्म करें।

2) अब एक बर्तन लें और इसमें पीनट बटर, चीनी, अंडा व वैनिला एक्सट्रेक्ट को एक साथ मिलाएं।

3) अब चम्मच के सहारे इसे बेकिंग शीट पर डालें। शीट पर डाले गए पीटन मिश्रण को चम्मच के सहारे कुकीज का आकार दें।

4) अब इसे ओवन में करीब 15 मिनट के लिए रख दें।

5) ध्यान रहे कि पकने के दौरान यह जल न जाए। अब इसको स्नैक्स के रूप में परोसें।

Side Effects of Peanut Butter in Hindi

  • पीनट बटर के अत्यधिक सेवन से हमारे शरीर का वजन बढ़ सकता है इसीलिए इसका उचित मात्रा में ही उपयोग करना चाहिए।
  • पीनट बटर का जरुरत से ज्यादा सेवन करने से गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल की समस्या उत्पन्न हो सकती है जिससे हमें खाना पचाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।
  • जिन लोगों को मूंगफली से एलर्जी की समस्या होती है उन्हें पीनट बटर के सेवन से बचना चाहिए।
  • पीनट बटर के अत्यधिक सेवन से शरीर में कोलेन कैंसर का खतरा बढ़ सकता है। इसमें फोलेट की अधिक मात्रा पायी जाती है जिसके कारण हमारे शरीर फोलेट का स्तर बढ़ सकता है और कोलेन कैंसर होने की संभावना बढ़ सकती है।

For more details regarding the Peanut Butter in Hindi: Click Here