Surprising Benefits of Coriander in Hindi ( धनिया के फायदे )

0
553
benifits of coriander

Benefits of Coriander:- धनिया या को कोथमीर भारतीय रसोई में प्रयोग की जाने वाली एक सुगंधित हरी पत्ती है , हममें से ज्यादातर लोग हरी धनिया की पत्ती का इस्तेमाल आमतौर पर खाने को सजाने और उसमें सुगंध लाने के लिए करते हैं लेकिन शायद ही आपको पता हो की धनिया मैं ऐसे तमाम गुण पाए जाते हैं और स्किन के साथ-साथ हमारे स्वास्थ्य के लिए भी बहुत गुणकारी हरा धनिए की पत्तियां जहां खाने का स्वाद दोगुना कर देती है इसके प्रयोग से कई लाइफ़स्टाइल रोगों से छुटकारा भी मिलता है |

Benefits of Coriander in Hindi

आइए जानते हैं धनिया के फायदे के बारे में हरे धनिए की पत्तियां और बीच दोनों ही खाने का स्वाद बढ़ा देते हैं , खाने में भले ही मिर्च मसाला ना हो लेकिन अगर धनिया पत्ती से गार्निश की जाए तो उसकी खूबसूरती और स्वाद में चार चांद लग जाते हैं . लेकिन क्या आप जानते हैं कि हरी धनिया की पत्ती में कई सेहत के राज छुपे हैं . जैसे प्रोटीन , कार्बोहाइड्रेट , फाइबर और कई तरह के मिनरल्स पाए जाते हैं . इसके अलावा धनिया में कैल्शियम ,आयरन ,मैग्नीशियम ,पोटेशियम, विटामिन सी ,और कैरोटीन भी पाया जाता है|

यहां हम आपको धनिया की पत्तियों के फायदे और नुकसान के बारे में विस्तार से बताएंगे| जिस धनिए को आप सब्जी साथ ही में पाते हैं क्या आप जानते हैं इसके स्वास्थ्य लाभ के बारे में . खाना पकाने के बाद गार्निश करने के लिए करते हैं उसके ऊपर धनिया के पत्ते डालते हैं . सर्दियों में घर की रसोई में पकाने वाले व्यंजन पर हरा धनिया डाल आता है |

यह खाने को स्वादिष्ट बनता है साथ ही इसकी खुशबू से खान और भी टेस्टी लगता है| धनिया का स्वाद ही बेहतरीन नहीं होता बल्कि यह औषधि पौधा भी है . जो कई गुणों से भरपूर होता है इसके सेवन से कई रोगों से छुटकारा पाया जा सकता है | धन्यवाद पाचन शक्ति को बढ़ाने का काम भी करता है इसमें प्रोटीन , फाइबर , कार्बोहाइड्रेट्स , मिनरल होते हैं जो इसको पावरफुल बनाते हैं

धनिया के फायदे

Benefits of Coriander

दाल हो या सब्जी, अगर ऊपर से धनिये के पत्ते काटकर डाल दिए जाएं, तो खाने का स्वाद बढ़ना तय है। इसलिए, धनिये के पत्ते और हर धनिया के बीज का उपयोग किसी की रसोई में किया जाता है। साथ ही आपको जानकर हैरानी होगी कि धनियां स्वाद के साथ-साथ सेहत के लिए भी कई प्रकार से लाभदायक है। स्टाइलक्रेज के इस आर्टिकल में हम सेहत के लिए धनिये के पत्ते के फायदे बताएंगे।

साथ ही जानेंगे इसके उपयोग और संभावित नुकसान के बारे में। आर्टिकल को शुरू करने के पहले हम बता दें कि धनिया के पत्ते हमें स्वस्थ रख सकते हैं। साथ ही ये बीमारी की अवस्था में कुछ लक्षणों को कम कर सकते हैं, लेकिन गंभीर बीमारी की अवस्था में मददगार साबित नहीं हो सकते। कोई गंभीर रोग होने पर डॉक्टर से इलाज करवाना ही सही निर्णय है।

डायबिटीज के लिए (Benefits of Coriander for Diabetes )

हरा धनिया शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए रामबाण माना जाता है| डायबिटीज रोगियों के लिए हरा धनिया किसी जड़ी बूटी से कम नहीं है | इसके नियम सेवन से ब्लड में इंसुलिन की मात्रा को कंट्रोल किया जा सकता है |वजन घटाने, और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए धनिया का नियमित रूप से सेवन करें |

किडनी को स्वस्थ रखने के लिए(Benefits of Coriander for Kidney )

कई शोध में सामने आया है कि धनिए का सेवन करने से किडनी को फायदा होता है . धनिया में ऐसे तत्व होते हैं जो किडनी को स्वस्थ रखने के लिए मददगार होते हैं . किडनी के लिए हरा धनिया बहुत ही फायदेमंद माना जाता है रिसर्च में सामने आया कि जो लोग नियमित तौर पर धनिया का इस्तेमाल करते हैं किडनी खराब होने की समस्या ना के बराबर होती है इसलिए किडनी को दुरुस्त रखने के लिए डॉक्टर हमेशा इस्तेमाल करने का सुझाव देते हैं

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए (Benefits of Coriander for Cholesterol )

हरा धनिया ना सिर्फ पेट की समस्याओं को दूर करने में फायदा देता है बल्कि यह आपकी पाचन शक्ति को बढ़ाने में मददगार होता है . पेट की समस्याओं जैसे पेट दर्द होने पर आधा गिलास पानी मैं दो चम्मच धनिया डालकर पीने से पेट दर्द से राहत मिल सकती है .

आंखों की रोशनी के लिए (Benefits of Coriander for Eyes )

हरे धनिए में विटामिन ए भरपूर मात्रा में होता है जो आंखों के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है रोजाना हरा धनिया का सेवन करने से आंखों की रोशनी बढ़ने में मदद मिलती है |
धनिया में मौजूद विटामिन ए हमारी आंखों के लिए बहुत आवश्यक है। इसीलिए नियमित रूप से हरे धनिये का प्रयोग अपने खाने में करना चाहिए, जिससे आंखों की रोशनी में कभी किसी तरह कि कोई समस्या न आए। यही नहीं धनिया में हाई एंटी ऑक्सीडेंट गुण पाये जाते हैं जो आंखों की खुजली, सूजन और अन्य नेत्र विकार से छुटकारा दिलाने में मददगार हैं।

स्किन के लिए (Benefits of Coriander for Skin )

स्किन संबंधित कई समस्याओं जिससे ड्राई स्किन मैं धनिया का इस्तेमाल से काफी फायदा होता है दरअसल धनिया में ऐसे कई एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो स्किन के लिए काफी फायदेमंद होते हैं इसमें विटामिन सी पाया जाता है इसके अलावा फंगल इन्फेक्शन जैसे स्किन रोगों का भी निवारण करता है हरा धनिया की पत्तियों के रस में चुटकी भर हल्दी मिलाकर यह पेस्ट चेहरे पर लगाएं 15 मिनट के बाद पानी से मुंह धो ले चेहरे की चमक बढ़ जाती है साथ में ब्लैक स्पॉट्स पी खत्म हो जाते हैं |

पेट के लिए (Benefits of Coriander for stomach )

हरी धनिया की पत्तियां विशेष रूप से पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद मानी जाती है यह लिवर को एक्टिव रखने में लाभदायक होती है हरा धनिया पेट की समस्याओं निवारण करने में काफी लाभदायक होता है और पाचन शक्ति को बढ़ाने मददगार होता है जैसे पेट दर्द सूजन गैस बदहजमी जैसी पेट की हर समस्या के लिए सबसे बढ़कर है और कुछ हो ही नहीं सकता यही वजह है|

कि भारतीय व्यंजनों में हरी धनिया का काफी उपयोग किया जाता है जो कि काफी पुराने समय में से इस्तेमाल किया जा रहा है धनिया की ताजी पतियों को छात्र मैं मिलाकर पीने से बदहजमी मैं आराम मिलता है .

कफ के लिए (Benefits of Coriander for Phlegm )

अगर आप कफ से परेशान है तो धनिए की पत्तियों का इस्तेमाल करें धनिए को कफ नाशक भी माना जाता है लंबे समय से अस्थमा जैसे रोगों के लिए भी धनिया काफी मददगार है और खाली पेट दो चमत्कार ताजा धनिए के रस का सेवन करें .

वेट लॉस के लिए (Benefits of Coriander Weight loss )

सबसे पहले एक बर्तन या जार में एक नींबू को निचोड़ कर उसका रस निकालें ले . अब इसमें मसली हुई 60 ग्राम हरी धनिया की पत्तियों डालें और उसमें पानी मिला लें। इसे अच्छी तरह से मिक्स कर लें। इस जूस को खाली पेट लगातार 5 दिन तक लें, इससे खून में मौजूद अशुद्धियां तो दूर होंगी ही, साथ में 5 किलो तक वजन भी कम हो जायेगा।

मधुमेह के लिए (Benefits of Coriander for diabetes )

रक्त में शुगर की मात्रा बढ़ने से मधुमेह काखतरा हो सकता है इस संबंध में हुए एक शोध के अनुसार , धान के पत्ते में एंटीबायोटिक गुण हाेते हैं। यह गुण रक्त में मौजूद ग्लूकोज की मात्रा को कम करने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, धनिये के पत्ते एंटीडायबिटिक गुण के कारण पैंक्रियाज सेल्स यानी अग्न्याशय में इंसुलिन के प्रवार हो बढ़ा देते हैं। इस प्रकार यह गुण मधुमेह को नियंत्रित करने में फायदेमंद होता है

यह भी देख:-पालक के फायदे

Side Effects Of Coriander In Hindi 

  • अधिक मात्रा में धनिये के खाने से लिवर में परेशानी हो सकती है |
  • धनिये के अधिक मात्रा में सेवन करने से एलर्जी जैसे चक्कर आना, रशेज़,  सूजन और सांस लेने में तकलीफ़ हो सकती है
  • गर्भवती महिलाओ और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को अधिक धनिये के सेवन सेपरेशानी हो सकती है |
  • धनिया के अधिक मात्रा में सेवन करने से हमारी त्वचा के सनबर्न होने की सम्भावना बढ़ जाती है |

For more details regarding the coriander in Hindi:- click here

धनिया क्या है?

Benefits of Coriander:- धनिया या को कोथमीर भारतीय रसोई में प्रयोग की जाने वाली एक सुगंधित हरी पत्ती है , हममें से ज्यादातर लोग हरी धनिया की पत्ती का इस्तेमाल आमतौर पर खाने को सजाने और उसमें सुगंध लाने के लिए करते हैं लेकिन शायद ही आपको पता हो की धनिया मैं ऐसे तमाम गुण पाए जाते हैं और स्किन के साथ-साथ हमारे स्वास्थ्य के लिए भी बहुत गुणकारी हरा धनिए की पत्तियां जहां खाने का स्वाद दोगुना कर देती है इसके प्रयोग से कई लाइफ़स्टाइल रोगों से छुटकारा भी मिलता है |

डायबिटीज के लिए धनिया कैसे उपयोगी है बताईये?

हरा धनिया शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए रामबाण माना जाता है| डायबिटीज रोगियों के लिए हरा धनिया किसी जड़ी बूटी से कम नहीं है | इसके नियम सेवन से ब्लड में इंसुलिन की मात्रा को कंट्रोल किया जा सकता है |वजन घटाने, और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए धनिया का नियमित रूप से सेवन करें |

पेट के लिए धनिया कैसे उपयोगी है?

हरी धनिया की पत्तियां विशेष रूप से पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद मानी जाती है यह लिवर को एक्टिव रखने में लाभदायक होती है हरा धनिया पेट की समस्याओं निवारण करने में काफी लाभदायक होता है और पाचन शक्ति को बढ़ाने मददगार होता है जैसे पेट दर्द सूजन गैस बदहजमी जैसी पेट की हर समस्या के लिए सबसे बढ़कर है और कुछ हो ही नहीं सकता यही वजह है|कि भारतीय व्यंजनों में हरी धनिया का काफी उपयोग किया जाता है जो कि काफी पुराने समय में से इस्तेमाल किया जा रहा है धनिया की ताजी पतियों को छात्र मैं मिलाकर पीने से बदहजमी मैं आराम मिलता है |

कफ के लिए धनिया कैसे उपयोगी है?

अगर आप कफ से परेशान है तो धनिए की पत्तियों का इस्तेमाल करें धनिए को कफ नाशक भी माना जाता है लंबे समय से अस्थमा जैसे रोगों के लिए भी धनिया काफी मददगार है और खाली पेट दो चमत्कार ताजा धनिए के रस का सेवन करें .