Top 5 Health Benefits Of Milk With Turmeric in Hindi ( दूध के फायदे )

0
185

benefits of milk turmeric | benefits of milk | benefits of milk turmeric | benefits of milk with turmeric | benefits of milk with haldi | benefits of milk thistle | benefits of milk tea | benefits of milk for skin | benefits of milk and honey | benefits of milk drinking | benefits of milk turmeric | benefits of milk turmeric | benefits of milk turmeric | benefits of milk turmeric | benefits of milk turmeric |

Benefits of Milk Turmeric

आज पूरी दुनिया ‘वर्ल्ड मिल्क डे’ (World Milk Day 2021) सेलिब्रेट कर रहा है। इस दिन को सेलिब्रेट करने का खास उद्देश्य है दूध के फायदों (Milk Benefits) के बारे में जानना और इसे अपनी डायट में शामिल करना। दूध पीना हर किसी के लिए हेल्दी होता है। बच्चे हों या बुजुर्ग हर किसी को एक गिलास दूध रोज पीना चाहिए। ऐसा इसलिए, क्योंकि दूध ( benefits of milk turmeric ) कैल्शियम का मुख्य स्रोत है। कैल्शियम हड्डियों और दांतों को मजबूती देने के लिए बहुत जरूरी पोषक तत्व है। इसके अलावा दूध में विटामिन डी, पोटैशियम भी पर्याप्त मात्रा में होता है। इसमें मौजूद पोटैशियम ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है।

दूध आप सुबह में पीते होंगे, लेकिन रात में दूध पीने के फायदे भी काफी हैं। आयुर्वेद के अनुसार दूध को संपूर्ण आहार माना जाता है। हेल्थ एक्सपर्ट का मानना है कि अगर किसी वजह से आपका मील मिस हो जाता है, तो एक गिलास दूध पीकर आप उसकी पूर्ति कर सकते हैं। दिन की बजाय रात में दूध पीने को सबसे फायदेमंद माना ( benefits of milk turmeric ) जाता है। गाय का दूध डेयरी के दूध के मुकाबले काफी शुद्ध और टेस्टी होता है। इसको पीने से होने वाले कुछ खास फायदों के बारे में नीचे बताया जा रहा है। दूध पीना हमारे सेहत के लिए कितना फायदेमंद है यह तो आप जानते ही हैं। आमतौर पर लोग डेयरी का दूध पीते हैं। कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अपने घर के आस-पास की पशुशाला या फिर दूध बेचने वाले व्यक्ति से दूध खरीदते हैं।

यह दूध गाय का होता है या फिर भैंस का भी हो सकता है। ज्यादातर लोग गाय का दूध पीना ही पसंद करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि गाय का दूध अन्य दूध के मुकाबले कितना फायदेमंद होता है। यहां गाय का दूध पीने से होने वाले फायदे के बारे में आपको बताया जा रहा है. दूध में ऐसा क्या होता है की माँ हमेशा बच्चो को दूध पीने के ( benefits of milk turmeric) लिए कहती है। भारत में पुराने युग से ही दूध का इस्तेमाल पीने के लिए किया जाता है। ऋषि ने अपने वेदो में भी दूध का उल्लेख किया है जिसमे दूध को मनुष्य के एक लिए वरदान की तरह बताया गया है। जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। दूध में कई तरह के पौष्टिक तत्व होते है।

जो शरीर की शक्ति बढ़ाने में सहायता करते है। क्या आप जानते है ? दूध हमारी शरीर के लिए क्यों जरुरी होता है। चलिए आज हम आपको दूध के कुछ चमत्कारी गुणों के बारे में बताते है। दूध को कंपलीट फूड माना जाता है क्योंकि इसमें सभी जरूरी पोषक तत्व मौजूद होते हैं। मगर आपको दूध पीने का सही समय भी पता होना चाहिए। चलिए आज हम आपको ( benefits of milk turmeric ) दूध पीने का सही समय और दूध पीने के फायदे बताते हैं, जिसके बाद आप भी इसका सेवन शुरू कर देंगे। दूध पीने के फायदे भले ही बहुत हों, लेकिन हर किसी को दूध पीना अच्छा नहीं लगता। बच्चों के पास तो दूध नहीं पीने के कई बहाने तैयार होते हैं। लेकिन इनके अनमोल गुणों के कारण दूध पीना है भी बहुत जरूरी। अगर आपके साथ भी यही परेशानी है, तो जानिए दूध पीने के यह अलग-अलग तरीके और उनके फायदे – दूध को अमृत सामान माना गया है। भारत समेत विश्व के कई देशों में लोग रोजाना दूध पीते हैं। आयुर्वेद में भी दूध के कई गुणों का वर्णन मिलता है।

शिशुओं के लिए दूध को सर्वोतम आहार माना गया है। अलग अलग जगहों पर लोग अलग अलग जानवरों के दूध का सेवन करते हैं। जैसे कि गाय, भैंस, बकरी या कहीं कहीं ऊंटनी के दूध का भी उपयोग किया जाता है। भारतीय नस्ल की गाय के दूध को गुणों की दृष्टि से सबसे अच्छा माना गया है। आमतौर पर सभी प्रकार के दूध का ( benefits of milk turmeric ) स्वाद प्राकृतिक रूप से मीठा ही होता है। बकरी के दूध को आरोग्य की दृष्टि से सर्वदोषहर कहा गया है, अर्थात इसके सेवन से सभी तरह के दोष ठीक हो जाते हैं। बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए भी दूध बहुत उपयोगी है। दूध में प्रोटीन, कार्बोहायड्रेट, विटामिन और मिनरल अधिक मात्रा में होते हैं जो अच्छी सेहत के लिए बहुत ज़रूरी हैं। इस लेख में हम आपको दूध कब और कैसे पिएं व कौन सा दूध ज्यादा फायदेमंद है, इस बारे में विस्तार से बता रहे हैं। आइये जानते हैं :

दूध क्या है

दूध को अक्सर संपूर्ण आहार कहा जाता है क्योंकि यह कॅलशियम और अन्य पोषण तत्व, जो किसी भी उम्र में शरीर के विकास, रखरखाव और वृद्धी के लिये ( benefits of milk turmeric ) ज़रुरी होते है। गाढ़ा मलाईदार और चिकने रुप वाले ताज़े दूध में किसी भी प्रकार का रंगीन पदार्थ या प्रिज़रवेटीव नही होते। गाय के दूध कि तुलना में, भैंस का दूध गाढ़ा, मलाईदार और झागदार होने के अलावा, उसमें अधिक मात्रा मे ह्वे प्रोटीन, मिनरल और विटामीन ए होता है।

गाय के दूध के विपरीत, जिसका हल्का पीला रंग होता है, भैंस के दूध का सफेद रंग होता है। वसा आधारित पदार्थ जैसे मक्ख़न और घी भैंस के दूध से बनते है क्योंकि उसमे पानी की मात्रा कम और वसा कि मात्रा ज़्यादा होती है। बाज़ार में दोनो प्रकार के दूध, ताज़े या पाश्चरीकृत कर काँच कि बोतल, टैट्रा पैक, प्लास्टिक बैग ( benefits of milk turmeric ) में डाल या खुला भी मिलते है।

benefits of milk turmeric

गाय का दूध

अन्य जानवरों के दूध की तुलना में गाय के दूध को सबसे ज्यादा पौष्टिक माना गया है। वतर्मान समय ( benefits of milk turmeric ) में भारत में गाय की 40 प्रजातियाँ पायी जाती हैं। गाय के दूध के इन फायदों के कारण ही गावों के अधिकांश घरों में आज भी लोग गाय पालते हैं। जो गायें जंगल में चरती हैं और जड़ी बूटियां व तमाम किस्म की वनस्पतियाँ खाती हैं। उन गायों का दूध सबसे ज्यादा पौष्टिक होता है। आयुर्वेद में इन गायों के दूध को दिव्य अमृत कहा गया है। गाय का दूध हर उम्र के लोगों के लिए फायदेमंद है। मां के दूध के बाद गाय के दूध को ही शिशुओं के लिए सबसे लाभकारी आहार बताया गया है।

किस नस्ल की गाय का दूध है ज्यादा फायदेमंद

अक्सर लोगों के मन में यह सवाल रहता है कि किस नस्ल की गाय का दूध ( benefits of milk turmeric ) पीना चाहिए। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारतीय नस्ल की गाय के रंग और संतति के अन्तर से भी इसके दूध के गुणों में अन्तर हो जाता है। जैसे-तरुणी (युवा) गाय का दूध मधुर, रसायन और तीनों दोषों को दूर करने वाला है। वहीं वृद्ध गाय का दूध दुर्बल माना गया है। इसी प्रकार काली गाय का दूध वात दोष को दूर करने वाला अधिक गुणकारी हो जाता है, तो पीली गाय का दूध पित्त और वात को दूर करने वाला होता है। जर्सी गायों के दूध को सब से कम गुणकारी माना गया है।

भैंस का दूध

भैंस का दूध गाय के दूध की अपेक्षा अधिक शीतल, चिकना, भारी, वायुकारक ( benefits of milk turmeric ) और स्रोतों में रुकावट पैदा करने वाला होता है। जिन लोगों की पाचक अग्नि बहुत तीक्ष्ण होती है उनके लिए भैंस का दूध काफी फायदेमंद रहता है। इसके अलावा अनिद्रा के रोगियों के लिए भी गाय का दूध अधिक फायदेमंद होता है। भैंस का दूध पीने से अच्छी नींद आती है। इसलिए इसे नींद लाने की औषधि के रुप में प्रयोग किया जाता है। भैंस के दूध में गाय के दूध की तुलना में ज्यादा घी पाया जाता है। हालांकि अगर फायदों की बात की जाए तो गाय के दूध से तैयार घी, भैंस के घी से ज्यादा गुणकारी होता है।

बकरी का दूध

गाय और भैंस के अलावा अपने देश में बकरी का दूध का भी उपयोग किया जाता है। हालांकि गाय और भैंस के दूध की तुलना में बकरी के दूध का ( benefits of milk turmeric ) कम उपयोग किया जाता है। लेकिन यह दूध आसानी से पच जाता है इसी वजह से रोगियों और शिशुओं के लिए यह खासतौर पर उपयोगी होता है। बकरी का दूध कसैला और मधुर (मीठा) होता है। इसे अनेक प्रकार के रोगों में लाभकारी माना गया है, जैसे टीबी, बुखार, श्वास, रक्तस्राव, खांसी, शोष, विष नाशक आदि। बकरी का दूध पीने से पाचक अग्नि बढ़ती है। जिन लोगों की पाचक अग्नि मंद होती है उन्हें बकरी का दूध पीने की सलाह दी जाती है।

कैसा दूध नहीं पीना चाहिए

आयुर्वेद में खासतौर पर पुराने या बासी दूध को पीने से ( benefits of milk turmeric ) मना किया गया है। बासी दूध को पीने से अपच व पेट से जुड़ी अन्य कई समस्याएं हो सकती हैं। इसके अलावा जिस दूध का रंग, स्वाद व गंध बदल गया हो या दूध फट गया हो उस दूध का सेवन कभी नहीं करना चाहिए। आमतौर पर कच्चा दूध भारी और कफ बढ़ाने वाला माना जाता है और आसानी से पचता नहीं है। इसीलिए दूध को उबालकर पीना चाहिए। बिना उबाले देर तक रखने से दूध खराब हो जाता है और ऐसे दूध का कभी भी सेवन नहीं करना चाहिए।

दूध कब पीना चाहिए

प्रातःकाल का दूध सायंकाल के दूध की अपेक्षा भारी ( benefits of milk turmeric ) व शीतल होता है। आमतौर पर लोग दिन के समय पाचन में जलन पैदा करने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं। इसलिए उन्हें रात में सोने से पहले दूध ( benefits of milk turmeric ) पीना चाहिए। रात में दूध पीने से पेट की जलन शांत होती है और अच्छी नींद आती है। वैसे गाय का दूध निकालते ही तुरन्त प्राकृतिक-रूप से गर्म अवस्था में ही अच्छा माना जाता है। भैंस का दूध धाराशीत अर्थात दूध दुहने के बाद ठण्डा किया हुआ और बकरी का दूध शृतशीत (उबालकर ठण्डा किया गया) अच्छा माना जाता है।

दूध के साथ क्या ना खाएं

1) नमक

2) दही

3) मछली

4) मूली या मूली के पत्ते व अन्य कच्चे सलाद

5) इमली

6) खरबूजा

7) नारियल

8) नींबू व अन्य खट्टे फल

9) जामुन

10) अनार

11) आंवला

12) कुलथी व उड़द

दूध से बनी चीजों के फायदे

1) दूध की मलाई : स्निग्ध, वात और पित्त को शान्त करने वाली और वृष्य (शुक्र को बढ़ाने वाली) होती है।

2) नई ब्याई गाय का दूध : पीयूष (खीस) गुरु, अभिष्यन्दी और कफ ( benefits of milk turmeric ) बढ़ाने वाला होता है तथा इसमें प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है।

3) खोया : भारी, चिकनाई युक्त, ताकत और शुक्र बढ़ाने वाला होता है।

4) छेना या पनीर : बलकारक और खोये से हल्का होता है।

5) छेना का पानी– बलकारक और मन्दाग्नि में लाभकारी है।

दूध के फायदे – Benefits of Milk (Doodh) in Hindi

1) हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए ( Benefits of milk for Strong bons )

यह बात तो हम सभी जानते हैं कि हड्डियों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए बॉडी में कैल्शियम की पर्याप्त मात्रा होनी चाहिए। इस दौरान हमें इस बात का भी खास ख्याल रखना होता है कि कहीं हम अधिक मात्रा में कैल्शियम का सेवन तो नहीं कर रहे हैं। वहीं, गाय के दूध में कैल्शियम की सामान्य मात्रा पाई जाती है। इसलिए गाय का दूध अगर नियमित ( benefits of milk turmeric ) रूप से पीया जाए तो हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद मिल सकती है। दूध पीने के फायदे में हड्डी और मजपेशियों को मजबूती देना शामिल है। दूध और अन्य डेयरी उत्पाद कैल्शियम व मैग्नीशियम के महत्वपूर्ण स्रोत होते हैं। यह दोनों पोषक तत्व हड्डियों के विकास के लिए जरूरी माने गए हैं। बच्चों व युवाओं के साथ ही व्यस्कों के हड्डी स्वास्थ्य के लिए भी दूध अच्छा विकल्प है। दूध हड्डियों को मजबूत बनाकर बढ़ती उम्र में ऑस्टियोपोरोसिस (हड्डी का एक प्रकार रोग) और फ्रैक्चर से बचाव में मदद करता है। इसके अलावा, दूध में प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट भी काफी मात्रा में होता है, जिसे मांसपेशियों के लिए फायदेमंद माना जाता है। एक शोध में जिक्र है कि दूध थाई मसल्स को मजबूत करने में मदद करता है।

2) वजन कम करने के लिए ( Benefits of milk for lose weight )

दूध में कुछ ऐसे तत्व होते हैं, जो आपको देर तक भूख का ( benefits of milk turmeric ) अहसास नहीं होने देते हैं। इससे आपका पेट भरा रहता है। रात में सोने से पहले आप एक गिलास दूध पिएं। ऐसा उन लोगों को जरूर करना चाहिए, जो आधी रात को उठकर स्नैक्स, चॉकलेट आदि का सेवन करते हैं। वजन घटाने की कोशिश में हैं, तो रात में दूध पीकर सोएं। खासकर, लॉ-फैट या नॉन-फैट दूध पिएं। दूध बढ़ते वजन को कम करने में मददगार साबित होता है। एक रिसर्च के ( benefits of milk turmeric ) मुताबिक, डेयरी का सेवन करने वाले 38% बच्चों का वजन इसका सेवन कम करने वालों के मुकाबले नियंत्रित था। दरअसल, दूध और डेयरी उत्पाद प्रोटीन के अच्छे स्रोत हैं और प्रोटीन वजन घटाने व नियंत्रित करने में सहायक होता है। इसकी मदद से भोजन के बाद भी बार-बार होने वाली खाने की इच्छा को कम करके एनर्जी की खपत को रोकता है, जिससे शरीर में फेट कम होता है।

3) बालों को झड़ने से बचाए ( Benefits of milk for Strong Hair )

जिन लोगों को बाल झड़ने की समस्या है उनके लिए गाय का दूध काफी फायदेमंद साबित होगा। बाल झड़ने की समस्या तब उत्पन्न होती है जब व्यक्ति के शरीर में विटामिन-डी और जिंक जैसे पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। इन पोषक तत्वों की पर्याप्त मात्रा गाय के दूध में पाई जाती है। इसलिए गाय के दूध के जरिए उन पोषक तत्वों का सेवन करके बालों को मजबूत बनाने में मदद मिलेगी और ( benefits of milk turmeric ) बालों का झड़ना भी काफी हद तक कम होता है। रोज दूध पीने के फायदे में बालों का स्वास्थ्य भी शामिल है। दूध में कैल्शियम और प्रोटीन की अच्छी मात्रा होती है। दोनों पोषक तत्व बालों के विकास के लिए महत्वपूर्ण बिल्डिंग ब्लॉक की तरह काम करते हैं। खासकर, प्रोटीन बालों को झड़ने से रोकता है और ग्रोथ में मदद करता है। वहीं, कैल्शियम भी बालों को स्वस्थ रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसके अलावा, दूध में मौजूद नियासिन, बायोटिन, पैंटोथैनिक एसिड भी बालों के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते हैं

4) ब्लड प्रेशर के लिए ( Benefits of milk for blood pressure )

दूध पीने के फायदे में रक्तचाप को नियंत्रित करना भी शामिल है। जी हां, लो-फैट ( benefits of milk turmeric ) मिल्क का सेवन करने से हाइपरटेंशन यानी उच्च रक्तचाप को नियंत्रण में रखा जाता है। इसी संबंध में हुए एक रिसर्च में कहा गया है कि कम वसा वाले डेयरी उत्पादों का सेवन बढ़ती उम्र में उच्च रक्तचाप की रोकथाम में अहम भूमिका निभाता है। रिसर्च के मुताबिक, डेयरी प्रोडक्ट प्रोटीन और बायोएक्टिव पेप्टाइड्स से समृद्ध है, जो एंजियोटेंसिन-आई-कन्वर्टिंग एंजाइम को बाधित करके एंडोथेलियम फंक्शन को मॉड्यूलेट करके या शरीर के वजन को प्रभावित करके रक्तचाप पर लाभकारी प्रभाव डालते हैं।

5) अच्छी नींद के लिए ( Benefits of milk for sleep well )

दूध के लाभ में रात को अच्छी नींद को बढ़ावा देना भी शामिल है। कई अध्ययनों में यह बात साबित हुई है कि रात को सोने ( benefits of milk turmeric ) से पहले दूध पीने से नींद अच्छी आती है। दूध में एमिनो एसिड ट्राइटोफन और मेलाटोनिन होता है, जो नींद लाने में मदद करता है। रात में नींद न आने, बेचैनी या नींद बीच में टूट जाने की समस्या है, तो रोजाना रात को सोने से पहले नॉर्मल या गर्म दूध का सेवन किया जाता है।

दूध का उपयोग – How to Use Milk

कैसे उपयोग करें?

1) दूध को ठंडा पी सकते हैं।

2) दूध को गर्म करके पी सकते हैं।

3) मिल्क के विभिन्न तरह के फ्रूट्स डालकर शेक बनाकर पी सकते हैं।

4) मिल्क बर्फी बनाकर खा सकते हैं।

5) दूध का उपयोग खीर बनाने के लिए किया जा सकता है।

6) दूध को कॉर्नफ्लेक्स व चोकोज में डालकर पी व खा सकते हैं।

7) दूध में हॉर्लिक्स व बॉर्नविटा डालकर पी सकती हैं।

कितना दूध पीना चाहिए?

1) बाल रोग विशेषज्ञ कैल्शियम के लिए बच्चों को दिन में 400 से 500 ग्राम (2 से 3 कप) गाय का दूध देने की सलाह देते हैं .

2) वयस्क दो गिलास गाय का दूध पी सकते हैं। 200 एमएल से अधिक दूध हृदय संबंधी समस्या के लिए बेहतर माना गया है।

Side Effects of Milk in Hindi

  • जैसा कि हमने बताया दूध में लैक्टोज होता है, जो कभी-कभी पाचन को खराब कर सकता है। इस कारण ज्यादा दूध पीने से किसी-किसी को दस्त, ब्लोटिंग या गैस की समस्या हो सकती है ।
  • कुछ लोगों को दूध से एलर्जी भी हो जाती है। इसका कारण भी लैक्टोज होता है। ऐसे में यह इम्यून सिस्टम को प्रभावित कर सकता है।
  • ज्यादा दूध पीने से क्या होता है, अगर आप भी यह सोचते हैं, तो जान लें कि इससे हिप यानी कूल्हे के फ्रैक्चर का खतरा बढ़ सकता है। इसके पीछे भी लैक्टाेज को कारण माना गया है।
  • एक दिन में तीन गिलास से अधिक दूध का सेवन सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। ऐसे में उम्र के हिसाब से दूध का सेवन कितना करना है, इस बारे में डॉक्टरी सलाह जरूर लें।

For more details regarding the Milk in Hindi: Click Here