11 Incredible Benefits of Potatoes in Hindi ( आलू के फायदे )

0
199
Benefits of Potatoes

sweet potato health benefits | red potato health benefits | purple potato health benefits | baked potato health benefits | japanese sweet potato health benefits | purple sweet potato health benefits | mash potato health benefits | white sweet potato health benefits | irish potato health benefits | baked sweet potato health benefitsv | त्वचा के लिए | डायरिया के लिए | सूजन कम करने के लिए | रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए | वजन को नियंत्रित करने के लिए | कोलेस्ट्रोल के लिए | आलू को लंबे समय तक सुरक्षित कैसे रखें | Benefits of Potatoes |

आलू सबसे आम और महत्वपूर्ण भोजन स्रोत है . भारत के हर रसोई घर में आलू के बिना कोई भी व्यंजन बनाना मुश्किल होता है . लेकिन क्या आप इसके फायदे के बारे में जानते हैं वैसे आमतौर पर लोगों का मानना है कि आलू खाने से वजन बढ़ता है लेकिन सच नहीं है . आलू में इतने पौष्टिक तत्व और गुण हैं कि इस खाद्द पदार्थ को कई बीमारियों के लिए औषधि के रुप में उपयोग किया जाता है। आलू के फायदे इतने अनगिनत है कुछ वाक्यों में विश्लेषण करना मुश्किल है। आलू विश्व का एकमात्र ऐसा खाद्य पदार्थ है, जिसे शाकाहारी और मांसाहारी हर तरह के व्यंजन में इस्तेमाल किया जा सकता है। खासकर, पश्चिम बंगाल जैसे राज्य में इसका प्रयोग अमूमन हर तरह की सब्जी में किया जाता है। यह सबसे आम सब्जी है, इसलिए लोग इसके गुणों को नजरअंदाज कर देते हैं, लेकिन आपको बता दें कि आलू कई सामान्य शारीरिक समस्याओं से लेकर कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से रोकता है। इस लेख में जानिए कि सामान्य-सा आलू आपको किस प्रकार स्वस्थ रखने का काम करता है। उससे पहले हम बात करते हैं आलू के प्रकार के बारे में। आलू एक ऐसा सब्जी है जो सस्ता भी है और पौष्टिक गुणों से भरपूर भी होता है। आलू के फायदे के कारण आयुर्वेद में इसको औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। चलिये आलू के फायदों और नुकसान के बारे में आगे जानते हैं .

Benefits of potatoes

आलू की गिनती एक स्वादिष्ट और पौष्टिक खाद्य पदार्थ में की जाती है। यह न सिर्फ पेट भरने करने का काम करता है, बल्कि इसमें मौजूद औषधीय गुण शारीरिक तकलीफों को दूर करने का काम भी कर सकते हैं। यह फाइबर और पोटैशियम से भरपूर होता है । कब्ज व मोटापे जैसी समस्याओं से निजात दिलाने में फाइबर काम करता है और पोटैशियम शरीर में तरल को संतुलित करने का काम करता है । नीचे जानिए कि आलू के गुण किस प्रकार स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हैं।

Benefits of Potatoes

आलू के प्रकार  :

1) रसेट आलू : आप कहेंगे कि रसेट आलू क्या है? यह आलू का सबसे आम प्रकार है। यह छोटे, मध्यम और बड़े आकार का होता है और इनका रंग भूरा होता है। यह खाने में स्वादिष्ट होता है और सब्जी बनाने के लिए सबसे ज्यादा इसी का उपयोग किया जाताहै।

2) लाल आलू : यह आलू का एक अन्य प्रकार है, जो लाल रंग का होता है होता है। यह खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होता है, जिसका इस्तेमाल कर आप सूप और सलाद बनाने के लिए कर सकते हैं। इसके अलावा, आप इन्हें भूनकर भी खा सकते हैं।

3) सफेद आलू : यह आलू दिखने में सफदे रंग का होता है और खूबसूरत नजर आता है। खाने में यह भी लाजवाब होता है। आप इसे उबालकर या रोस्ट करके खा सकते हैं।

4) पीले आलू : नाम के अनुसार इस आलू का रंग पीला होता है। खासकर, मांसाहारी व्यंजनों में इसका इस्तेमाल ज्यादा होता है। यह उन पकवानों के लिए खास है, जिन्हें ग्रिल या रोस्ट किया जाता है।

5) बैंगनी आलू : यह आलू का खास प्रकार है, जो बैंगनी रंग का होता है। आलू का यह प्रकार ग्रिलिंग, बेकिंग और रोस्टिंग के लिए एकदम सही हैं। बैंगनी आलू क्या है, जानने के बाद नीचे जानिए आलू के फायदे के बारे में।

आलू के फायदे :

1) कैंसर के लिए ( Benefits of potatoes for cancer )

आपको जानकर हैरानी होगी कि कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी के लिए भी आलू  के फायदे देखें जाते हैं . जैसा कि आप जानते हैं कि आलू कोलेस्ट्रॉल से मुक्त होता है और एक रिपोर्ट के अनुसार कोलेस्ट्रॉल शरीर में कई प्रकार के कैंसर का कारण बनता है हालांकि इसके लिए अभी भी और प्रमाण की आवश्यकता है।

2) किडनी के लिए ( Benefits of potatoes for Kidney )

किडनी स्टोन को बाहर निकालने में भी आलू के फायदे देखे जाते हैं। आलू पोटैशियम का अच्छा स्रोत है और एक रिपोर्ट के अनुसार पोटैशियम की मदद से पथरी को ठीक किया जाता है। इसके अलावा, आलू में मौजूद फाइबर भी  किडनी स्टोन को बाहर निकाल में मदद करता है। वैज्ञानिक अध्ययन के अनुसार, महिलाओं में मेनोपॉज के बाद फाइबर का सेवन किडनी स्टोन के विरुद्ध सुरक्षात्मक भूमिका अदा करता है .

3) डायरिया के लिए ( Benefits of potatoes for Diarrhea )

डायरिया की स्थिति में भी आलू फायदेमंद होता है। आलू में जिंक जैसे जरूरी पोषक तत्व होते हैं, जो डायरिया को रोकने में प्रभावी भूमिका निभाते हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, जिंक का ओरल सप्लीमेंट एक्यूट डायरिया (जो तीन से पांच दिनों तक बना सकता है) को रोकने का काम करता है। एक वैज्ञानिक रिसर्च में भी इस बात की पुष्टि की गई है कि एक्यूट  डारिया को रोकने के लिए जिंक ओरल सप्लीमेंट का प्रयोग किया जाता है .

4) सूजन कम करने के लिए ( Benefits of potatoes for swelling )

आलू के फायदे यहीं खत्म नहीं होते। सूजन की स्थिति में शरीर को आराम देने के लिए भी आलू का प्रयोग किया जा सकता है। यहां आलू के छिलकों की भूमिका देखी जाती है। एक रिपोर्ट के अनुसार, आलू और आलू का छिलका एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होता है, जो सूजन को कम करने का काम करता है .

5) रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए ( Benefits of potatoes for Immunity )

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने में भी आलू खाने के फायदे देखे जाते हैं। जैसा कि हमने पहले बताया कि आलू विटामिन-सी से समृद्ध होता है, जिसे कारगर इम्यूनिटी बूस्टर के रूप में जाना जाता है। विटामिन-सी एक प्रभावी एंटीऑक्सीडेंट है, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को संचालित करने में एक अहम भूमिका निभाता है। साथ ही शरीर में आयरन जैसे पोषक तत्वों को अवशोषित करने में भी मदद करता है :

6) वजन को नियंत्रित करने के लिए ( Benefits of potatoes for Weight control )

शरीर का वजन नियंत्रित करने में भी आलू अहम भूमिका निभाता है। जैसा कि हमने बताया आलू फाइबर से समृद्ध होता है, जो वजन को नियंत्रित करने का काम करता है । फाइबर युक्त फल बिना ज्यादा कैलोरी बढ़ाए पेट को भरा रखने का काम करते हैं। वजन को नियंत्रित करने में विटामिन-सी भी कारगर होता है। एक रिपोर्ट के अनुसार, विटामिन सी और बॉडी मास के मध्य विपरीत संबंध है, यानी यह बढ़ते वजन पर काबू पाने में मदद करता है । वहीं, वजन कम करना आलू को बनाने के तरीके पर निर्भर करता है, स्टीम, बेक्ड और उबले हुए आलू का सेवन वजन नियंत्रण के लिए अच्छा विकल्प होता है। इसके अलावा, आलू के चिप्स, बर्गर, समोसा, फ्रेंच फ्राइज वजन बढ़ाने के लिए अच्छा विकल्प है। वहीं, आलू एक ट्यूबर या कंद की श्रेणी में आता है। आलू की खासियत है कि इसे मोस्ट फिलिंग फूड की श्रेणी में रखा जाता है। यह लंबे समय तक पेट को भरे रख सकता है और भूख को नियंत्रित करता है। इसके अलावा, वजन नियंत्रित करने के लिए आलू की भूमिका आलू को बनाने के तरीके पर भी निर्भर करता है। वजन नियंत्रित रखने के लिए आलू को स्टीम, बेक्ड या उबालकर खाना अच्छा विकल्प होता है। वहीं, अगर आलू चिप्स, बर्गर, समोसा या फ्रेंच फ्राइज का सेवन करते हैं, तो इससे वजन बढ़ने का जोखिम होता है।

7) कोलेस्ट्रोल के लिए ( Benefits of potatoes for Cholesterol )

आलू खाने के फायदे में नींद को बढ़ावा देना भी शामिल है। जैसा कि हमने बताया कि आलू विटामिन-सी से समृद्ध होता है और विटामिन-सी न्यूरोट्रांसमीटर (ब्रेन केमिकल) का उत्पादन करता है । न्यूरोट्रांसमीटर मस्तिष्क की कार्यप्रणाली में सुधार कर मूड और नींद को नियंत्रित करने का काम करता है। इसके अलावा, विटामिन-सी चिंता, तनाव, अवसाद व थकान को दूर करने का काम करता है, जिससे नींद को बढ़ावा मिलता है .

8) त्वचा के लिए ( Benefits of potatoes for Skin )

बढ़ती उम्र के साथ कई समस्याएं अपने आप ही सामने आ जाती हैं, जिसमें झुर्रियां भी एक है। इन्हें हटाने के लिए आलू आपकी मदद करता है। आलू विटामिन-सी से समृद्ध होता है, जो झुर्रियों को हटाकर एजिंग के प्रभाव को कम करता है । नीचे जानिए झुर्रियों के लिए आप किस प्रकार आलू को प्रयोग में ला सकते हैं :

कैसे करें इस्तेमाल :

1 एक आलू लें और उसे छिल लें।

2 अब मिक्सर की मदद से उसका पेस्ट बना लें।

3 अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर 20 मिनट के लिए लगाएं और बाद में ठंडे पानी से मुंह धो लें।

4 यह उपाय आप हफ्ते में तीन से चार बार कर सकते हैं।

9) काले धब्बे हटाने के लिए ( Benefits of potatoes for Black spots )

त्वचा पर काले धब्बे के लिए भी आप आलू को इस्तेमाल कर सकते हैं। आलू विटामिन-सी से भरपूर होता है, जो त्वचा के डार्क स्पॉर्ट को हटाने का काम करता है .

कैसे करें इस्तेमाल :

छिलके वाले आलू को ब्लेंडर में ब्लेंड करें।

पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और हल्के-हल्के हाथों से करीब 5 मिनट तक मालिश करें।

फिर अपने चेहरे को साफ और ठंडे पानी से धोएं।

बेहतर परिणाम के लिए आप इसे रोज प्रयोग कर सकते हैं।

10) डार्क सर्कल के लिया ( Benefits of potatoes for Dark circle )

आंखों के नीचे होने वाल  डार्क सर्कल को हटाने में आलू आपकी मदद करता है। आलू विटामिन-ई और सी से समृद्ध होता है। ये दोनों कारगर एंटीऑक्टीडेंट की तरह काम करते हैं, जो त्वचा को डार्क सर्कल से निजात दिलाने का काम करते हैं । इसके अलावा, आलू एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से भी समृद्ध होता है, जो आंखों की सूजन को कम करने का काम करता है

कैसे करें इस्तेमाल :

एक आलू को छीलकर टुकड़ों में काट लें।

फिर इन टुकड़ों को आंखों के नीचे काले घेरों पर रखें।

बाद में चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें।

बेहतर परिणाम के लिए आप रोजाना यह उपाय कर सकते हैं :

11) चमकती त्वचा के लिए ( Benefits of potatoes for glowing skin )

त्वचा को चमकदार बनाने में आलू के फायदे देखे जाते हैं। आलू में विटामिन-सी जैसे एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा को चमकदार बनाने का काम करते हैं । नीचे जानिए त्वचा की चमक के लिए कैसे करें आलू का इस्तेमाल

कैसे करें इस्तेमाल :

एक कच्चे आलू को कद्दूकस करें और फेस मास्क की तरह अपने चेहरे पर लगाएं।

लगभग 30 मिनट बाद चेहरे को ठंडे पानी से धोएं।

अच्छे परिणाम के लिए आप हफ्ते में चार से पांच बार इस उपाय को कर सकते हैं।

12 )आलू को लंबे समय तक सुरक्षित कैसे रखें

सब्जियों की दुकान पर प्लास्टिक की थैलियों में बिकने वाले आलू लेने की जगह आप थोक पर बिकने वाले आलुओं का चयन कर सकते हैं। आप यहां अपनी मर्जी से अच्छे आलुओं को चुन सकते हैं। आलू खरीदते वक्त नीचे बताए जा रहे सुझावों का जरूर पालन करें।

चिकनी और मुलायम त्वचा वाले आलुओं का चयन करें।

धब्बेदार, काले दाग व ज्यादा नरम आलुओं से बचें।

हरे धब्बे वाले आलुओं से बचे।

अंकुरित आलुओं का चयन न करें।

अगर आप ज्यादा मात्रा में आलू खरीद रहे हैं, तो यह जरूर सुनिश्चत कर लें कि इसमें कोई आलू सड़ा न हो, क्योंकि इससे दूसरे आलू भी खराब हो सकते हैं।

स्टोर

आलू को ठीक से स्टोर करना भी उतना ही महत्वपूर्ण है।

आलूओं को 40 डिग्री फारेनहाइट से 45 डिग्री फारेनहाइट के तापमान पर अंधेरे, सूखे और हवादार स्थान पर स्टोर किया जाना चाहिए। कमरे का उच्च तापमान आलुओं की पूरी नमी सोख सकता है।

आलूओं को सूरज की रोशनी से बचा कर रखें।

आलूओं को प्याज के साथ न रखें इससे दोनों सब्जियों खराब हो सकती है।

आलू को पेपर बैग में स्टोर कर सकते हैं।

नमी से बचाकर कमरे के सामान्य तापमान पर आलुओं को एक-दो हफ्ते तक स्टोर किया जा सकता है।

Side effects of potatoes in Hindi

आलू कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होता है और कार्बोहाइड्रेट की अधिक मात्रा कैलोरी बढ़ा सकती है, जिससे मोटापे का सामना करना पड़ सकता है

आलू यदि अंकुरित हो गया है तो उसका सेवन नहीं करना चाहिए।

आलू पोटैशियम से भी समृद्ध होता है और अधिक पोटैशियम का सेवन हाइपरकलेमिया का  कारण बनता है। इससे उल्टी, छाती में दर्द,सांस लेने में तकलीफ और मतली जैसी समस्याएं हो सकती हैं

इसका पाचन जल्दी होता है और ब्लड शुगर के बढ़ने का खतरा होता है। इसलिए मधुमेह के मरीजों को इसका सेवन सीमित में ही करने की सलाह दी जाती है।

For more details regarding the Potatoes in Hindi: – click here