Top 5 Benefits of Shilajit in Hindi ( शिलाजीत के फायदे हिंदी में )

0
745

Benefits Of Shilajit:– आयुर्वेद के अनुसार शिलाजीत की उत्पत्ति पत्थर से हुई है। गर्मी के मौसम में सूर्य की तेज गर्मी से पर्वत की चट्टानों के धातु अंश पिघल कर रिसने लगता है। इसी पदार्थ को शिलाजीत कहा जाता है। यह देखने में तारकोल की तरह काला तथा गाढ़ा होता है जो सूखने के बाद एकदम चमकीला रूप ले लेता है। शिलाजीत का मतलब है मर्दानगी बढ़ाने वाली आयुर्वेद औषधि. यही हम-आप बरसों से मानते आए हैं | ऐसा है भी. तमाम शोधों में ये बात साबित हो चुकी है कि शिलाजीत का सेवन सेक्‍स पॉवर को बढ़ाता है | पर शिलाजीत के कई और फायदे भी हैं |

Benefits Of Shilajit

Table of Contents

Benefits Of Shilajit

देश के जाने-माने आयुर्वेदिक एक्सपर्ट कहते हैं कि इस धरा पर ऐसा कोई रोग नहीं है, जिसे शिलाजीत जीत न सके। लेकिन हम आजकल देखते हैं कि इस महान दवाई को केवल पौरुष शक्ति बढ़ाने में ही उपयोग किया जाता है। इसमें कोई संदेह नहीं है कि यह एक पौरुष शक्तिवर्धक औषधि भी है, लेकिन यह अन्य रोगों की भी महान औषधि है। शिलाजीत के सेवन से निम्नलिखित दिलचस्प फायदे मिलते हैं। शिलाजीत को भारतीय आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति में सबसे महत्वपूर्ण पदार्थों में से एक माना जाता है। यह लंबी उम्र और कई अन्य बीमारियों के लिए हजारों वर्षों से उपयोग किया जा रहा है।

शिलाजीत एक मोटा, काले-भूरे रंग का खनिज तारकोल है, जो हिमालय पर्वतों में दरारें से गर्मियों में तापमान बढ़ने पर बाहर निकल जाता है। शिलाजीत सदियों पुराने, विघटित पौधों से बना है जो कि विटामिन, खनिज और अन्य पोषक तत्वों का शक्तिशाली स्रोत हैं। यह एक शक्तिशाली अनुकूलन है, जो सभी प्रकार के मानसिक और शारीरिक तनाव से बचाव में मदद करता है। शिलाजीत एक गाढ़ा भूरे रंग का, चिपचिपा पदार्थ है जो मुख्य रूप से हिमालय की चट्टानों से पाया जाता है। इसका रंग सफेद से लेकर गाढ़ा भूरा के बीच कुछ भी हो सकता है (अधिकांशतः गाढ़ा भूरा होता है।) शिलाजीत का उपयोग आमतौर पर आयुर्वेदिक चिकित्सा में किया जाता है।

Benefits Of Shilajit

आयुर्वेद ने शिलाजीत की बहुत प्रशंसा की है जहाँ इसे बलपुष्टिकारक, ओजवर्द्धक, दौर्बल्यनाशक एवं धातु पौष्टिक अधिकांश नुस्खों में शिलाजीत के प्रयोग किये जाते है सेक्सुअल पॉवर बढ़ाने के लिए रात में सोने से पहले एक शिलाजीत का दूध के साथ सेवन करें।इसके लिए एक गिलास दूध को उबालें। इसमें, आधा चम्मच शिलाजीत का पाउडर मिलाएं और इसे पीएं।हालांकि, शिलाजीत का सेवन करने से पहले किसी एक्सपर्ट्स से इसके सेवन से जुड़ी सही जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए।

क्योंकि शिलाजीत के सेवन के कुछ साइड-इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। साधारणत: इस औषधि का दिनभर में 300 मिग्रा से 500 मिग्रा सेवन करने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा किसी भी अन्य प्रकार की दवाइयों के साथ सेवन नहीं करना चाहिए। इसीलिए, इसका सेवन बहुत ही सावधानी से करना चाहिए।

शिलाजीत क्‍या है? What is Shilajit in Hindi

शिलाजीत एक प्राकृतिक खनिज पदार्थ है। इसका निर्माण प्राकृतिक रूप से अपने आप ही होता है, लेकिन इसे बनने में हजारों साल लगते हैं। शोधकर्ताओं का मानना है कि यूफोरबिया, रायलियाना और ट्राइफोलिया रेपेंस जैसी पौधों की प्रजातियों के अपघटन के बाद यह तैयार होता है। इस आधार पर शिलाजीत को प्रकृति का एक अनमोल उत्पाद भी माना जाता है। यह चिपचिपा होता है और शुद्ध रूप में इसकी महक गौमूत्र की तरह होती है। शिलाजीत के फायदे हासिल करने के लिए इसे बहुत ही कम मात्रा में लेने की जरूरत होती है। इसलिए, इसका सेवन हमेशा आयुर्वेदिक चिकित्सक की देखरेख में करने की सलाह दी जाती है।

Benefits of Shilajit

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल क्या है

पतंजलि शिलाजीत पुरुषों और महिलाओं में सामान्य शारीरिक कमजोरी के लिए एक उत्कृष्ट हर्बल उपचार है। पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल पुरुषों और महिलाओं में सामान्य शारीरिक कमजोरी के लिए एक उत्कृष्ट हर्बल उपचार है। प्राथमिक घटक ओड पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल शिलाजीत है। पुरुषों में बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के शीघ्रपतन को ठीक करने के लिए शिलाजीत कैप्सूल सबसे अच्छा ज्ञात हर्बल सप्लीमेंट है। महिलाओं में, शिलाजीत टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने और प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए जाना जाता है।

शिलाजीत कैप्सूल कैसे काम करती है

हम सभी जानते हैं कि पतंजलि शिलाजीत ताकत और शक्ति के लिए अच्छा है। अब देखते हैं कि इस कैप्सूल में शिलाजीत पुरुषों और महिलाओं दोनों के शरीर पर कैसे काम करता है। शिलाजीत चयापचय में मदद करता है और शरीर में ऊर्जा का उत्पादन बढ़ाता है। यह अपचय और उपचय में संतुलन भी बनाए रखता है। यह रक्त के निर्माण और शरीर के अंगों के कामकाज में भी मदद करता है। पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल बुखार, सामान्य कमजोरी, भूख कम लगना जैसे लक्षणों से राहत देने में मदद करता है।

Benefits Of Shilajit

शिलाजीत के फायदे– Benefits of Shilajit in Hindi

1) थकान को दूर करे

Buy Now

शिलाजीत के फायदे में थकान की समस्या से राहत दिलाना भी शामिल है। एक शोध में इस बात का जिक्र मिलता है कि शिलाजीत में कई मिनरल्स के साथ फुलविक और हुमिक एसिड मौजूद होते हैं, जो थकान की समस्या से राहत दिलाने में मदद करता है। इसके साथ ही यह कुछ हद तक मोटापे की समस्या से भी राहत दिला सकता है। इस आधार पर थकान की समस्या से राहत दिलाने में भी शिलाजीत सहायक साबित हो सकता है ।

2) मर्दानगी बढ़ाए

Benefits Of Shilajit

Buy Now

शिलाजीत को पुरुषों की मर्दानगी यानी प्रजनन क्षमता को बढ़ाने में भी उपयोगी माना जाता है। वजह यह है कि इसमें पुरुष टेस्टोस्टेरॉन (यौन क्षमता से संबंधित हॉर्मोन) को बढ़ाने की क्षमता पाई जाती है। इसके अलावा, यह ओलिगोस्पर्मिया (पुरुष स्पर्म का कम होना) और बैक्टीरियल इंफेक्शन के कारण पुरुष प्रजनन क्षमता में कमजोरी को ठीक करने में भी मदद कर सकता है। इस आधार पर इसे पुरुषों की मर्दानगी बढ़ाने के मामले में कारगर माना जाता है।

3) कोलेस्ट्रोल को कम करने में सहायक

Benefits Of Shilajit

BUY NOW

शिलाजीत के लाभ बढ़े हुए कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने के मामले में भी मददगार हो सकते हैं। शिलाजीत के प्रभाव को समझने के लिए चूहों पर शोध किया गया। शोध में जिक्र मिलता है कि शिलाजीत का एक अहम गुण संपूर्ण लिपिड प्रोफाइल (कोलेस्ट्रोल, ट्रिगलिसेराइड और हाई डेंसिटी लिपोप्रोटीन) को सुधारना भी है। इस गुण के कारण यह बढ़े हुए कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने में भी मदद करता है। इस आधार पर यह माना जा सकता है कि हाई कोलेस्ट्रोल की समस्या को नियंत्रित करने के लिए भी बेनिफिट ऑफ शिलाजीत हासिल किए जा सकते हैं।

4) एनीमिया में मददगार

Benefits Of Shilajit

Buy Now

आयरन की कमी के कारण होने वाली एनीमिया की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए भी शिलाजीत किसी औषधि से कम नहीं है। एशियन पेसेफिक जर्नल ऑफ टोपिकल बायोमेडिसिन के चूहों पर आधारित शोध में भी इस बात को स्वीकार किया गया है। शोध में माना गया है कि शिलाजीत में पर्याप्त मात्रा में आयरन मौजूद होता है। यह शरीर में आयरन की पूर्ति कर एनीमिया की समस्या से राहत दिलाने में मदद करता है। इस तथ्य को देखते हुए यह माना जा सकता है कि एनीमिया रोगी के लिए भी बेनिफिट ऑफ शिलाजीत लाभकारी साबित होते हैं।

5) ऊर्जा और पुनरोद्धार प्रदान करता है

Benefits Of Shilajit

Buy now

सदियों से, आयुर्वेदिक दवाओं के चिकित्सकों ने ऊर्जा को बढ़ावा देने और शरीर को पुनर्जन्मित करने के लिए शिलाजीत का उपयोग किया है। शरीर के भीतर मिटोकोंड्रिया के कार्य को बढ़ाकर यह शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है। यह जड़ी बूटी शरीर को मजबूत एंटीऑक्सिडेंट गुणों के साथ पुनर्जीवित करती है। रोग पैदा करने वाले मुक्त कणों से लड़ कर, यह रसायनों और अन्य खतरनाक एजेंटों की वजह से होने वाले शरीर के आंतरिक नुकसान की मरम्मत करता है।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल की सामग्री

अश्वगंधा (Withania somnifera) का अर्क – 200 मिलीग्राम

एस्फाल्टम (शिलाजीत) का सूखा अर्क – 390 मिलीग्राम

इंडियन गोजबेरी / आंवला (Phyllanthus Emblica) – 50 मिलीग्राम

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल के नुक्सान

1) खट्टी डकार

2) अम्ल प्रतिवाह

3) जलन का अहसास

4) घबराहट

5) कम रक्त दबाव

6) उल्टी या मतली

7) सिरदर्द या बदन दर्द

8) पेशाब में जलन

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल का सेवन कौन कर सकता है

उच्च रक्तचाप से पीड़ित रोगियों को इस दवा को कम खुराक में लेना चाहिए। गर्भवती महिलाओं को इस दवा का उपयोग करने से पहले एक चिकित्सक से परामर्श करने की सलाह दी जाती है। चूंकि गर्भवती महिलाओं के लिए इस कैप्सूल की सुरक्षा का पूरी तरह से अध्ययन नहीं किया गया है। स्तनपान कराने वाली माताओं पतंजलि शिलाजीत का उपयोग कर सकती हैं यदि डॉक्टर द्वारा सलाह दी जाए।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल की खुराक

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल की खुराक कई कारकों जैसे कि ऊंचाई, वजन, उम्र, लिंग और समस्या की गंभीरता पर निर्भर करती है। हालांकि, निर्दिष्ट सामान्य खुराक गुनगुने पानी या दूध के साथ दिन में दो बार 1 – 2 कैप्सूल है। यह कैप्सूल भोजन के बाद हमेशा लेना चाहिए।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल की सावधानियां

पतंजलि शिलाजीत का उपयोग करने वाले लोगों को संतुलित और पौष्टिक आहार का सेवन करने की सलाह दी जाती है जिसमें फल और सब्जियाँ शामिल हों। नियमित व्यायाम जैसे चलने या योग करने की सलाह दी जाती है। आपको शराब, चाय, और कॉफी के सेवन से बचना चाहिए। शरीर से हानिकारक रसायनों और विषाक्त पदार्थों को खत्म करने के लिए आपको बहुत सारे तरल पदार्थ पीने चाहिए।

ASHWAGANDHA KE FAYDE: अश्वगंधा के फायदे

पुरुष शिलाजीत का सेवन कैसे करें?

एक चम्मच शहद तथा एक चम्मच त्रिफला चूर्ण के साथ दो रत्ती शिलाजीत मिलाकर सेवन करने से डायबिटीज पूरी तरह ठीक हो जाता है। शिलाजीत का प्रयोग शीघ्रपतन की समस्या दूर कर वीर्यवर्द्धन के लिए किया जाता है। इसके लिए बीस ग्राम शिलाजीत तथा बंग भस्म में दस ग्राम लौह भस्म तथा छह ग्राम अभ्रक भस्म मिलाकर खाने से बहुत लाभ होता है।

शिलाजीत खाने से क्या नुकसान होता है?

गर्मी और एलर्जी के चलते त्वचा पर फोड़े-फुंसी, रैशेज और इरिटेशन जैसी परेशानियां दिखना भी इंडियन वियाग्रा यानि शिलाजीत का साइड-इफेक्ट हो सकता है. – शिलाजीत के सेवन से उल्टी होना, बेचैनी महसूस करना या फिर हार्ट बीट भी बढ़ सकती है. – बार-बार पेशाब करने की इच्छा भी शिलाजीत के अत्यधिक सेवन का एक साइड-इफेक्ट हो सकता है.

शिलाजीत का सेवन कब करना चाहिए?

अनिद्रा की समस्या Testosterone Hormone की कमी के कारण होता है। जबकि शिलाजीत खाने से यह हार्मोन बढ़ जाता है। इसलिए रात में सोने से पहले आप शिलाजीत का सेवन करें।

शिलाजीत का रेट क्या है ?

जिसमें यह दर्ज होता है कि इसमें 86 प्रकार के खनिज तत्व मौजूद हैं| करीमुद्दीन कहते हैं कि वह 10 ग्राम शिलाजीत 300 रुपये से लेकर 600 रुपये तक बेचते हैं|

शिलाजीत खाने से क्या सेक्स पावर बढ़ता है?

लेकिन आयुर्वेद के अनुसार शिलाजीत के सेवन के सेक्स पॉवर बढ़ती है। इतना ही नहीं इसका शरीर पर कई अन्य प्रभाव भी होते हैं जिनकी सहायता से बुढापा भी दूर रहता है। शिलाजीत का मुख्य उद्देश्य शरीर का बल देकर उसे स्वस्थ, शक्तिशाली तथा पुष्ट बनाना होता है। यह देखने में काफी कडवा, कसैला, गर्म तथा वीर्यवद्र्धक होता है।

अश्वगंधा कितने दिन तक खाना चाहिए?

इस मिश्रण को 2-4 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम शीतकाल में 4 महीने तक सेवन करने से शरीर का पोषण होता है।

शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल क्या काम करता है?

यह प्रॉडक्ट मसल (मांसपेशी) को टाइट करने का काम करता है। डाबर के प्रॉडक्ट शिलाजीत गोल्ड की मार्केटिंग कामोत्तेजना बढ़ाने वाली दवा के रूप में की जाती है। ऐसे प्रॉडक्ट्स की बिक्री में बढ़ोतरी की प्रमुख वजह सेक्स वर्जना का धीरे-धीरे खत्म होना है। साथ ही, ज्यादा से ज्यादा महिलाएं भी अब इस प्रॉडक्ट का इस्तेमाल कर रही हैं।

क्या महिलाएं शिलाजीत खा सकती हैं?

यह भारत और नेपाल के बीच हिमालय के पहाड़ों पर पाया जाने वाला एक काले भूरे रंग का चिपचिपा पदार्थ है। शिलाजीत सदियों से आयुर्वेदिक चिकित्सा में एंटी एजिंग यैगिक के रूप में जाना जाता रहा है। वैसे तो शिलाजित का इस्तेमाल पुरूष और महिलाएं दोनों कर सकते हैं, लेकिन महिलाओं के लिए इसके फायदे ज्यादा है।


पतंजलि का अश्वगंधा कैप्सूल खाने से क्या होता है?

जो आपको सर्दी-जुकाम जैसी बीमारियों से लडने की शक्ति प्रदान करता है। –अश्वगंधा वाइट ब्लड सेल्स और रेड ब्लड सेल्स दोनों को बढ़ाने का काम करता है। जो कई गंभीर शारीरिक समस्याओं में लाभदायक है। –अश्वगंधा मानसिक तनाव जैसी गंभीर समस्या को ठीक करने में लाभदायक है।

शिलाजीत कितने दिनों में असर दिखाता है?

एक अध्ययन स्रोत में, 60 बांझ पुरुषों के एक समूह ने भोजन के बाद 90 दिनों के लिए दिन में दो बार शिलाजीत लिया. 90 दिनों के बाद , 60 प्रतिशत से अधिक अध्ययन प्रतिभागियों ने कुल शुक्राणुओं की संख्या में वृद्धि देखी. 12 प्रतिशत से अधिक शुक्राणु गतिशीलता में वृद्धि हुई थी.

क्या शिलाजीत से वजन बढ़ता है?

आयुर्वेद के अनुसार, इस औषधि का असर एक सप्‍ताह के अंदर ही दिखने लगता है. इसके तेजी से वजन बढ़ता है. इसके सेवन की विधि बहुत ही आसान है

शिलाजीत का क्या नाम है?

शिलाजीत कड़वा, कसैला, उष्ण, वीर्य शोषण तथा छेदन करने वाला होता है। शिलाजीत देखने में तारकोल के समान काला और गाढ़ा पदार्थ होता है जो सूखने पर चमकीला हो जाता है। यह जल में घुलनशील है, किन्तु एल्कोहोल, क्लोरोफॉर्म तथा ईथर में नहीं घुलता। शिलाजीत के फायदे शिलाजीत को इंडियन वायग्रा कहा जाता है।

पतंजलि शिलाजीत क्या है?

बता दें कि बाबा रामदेव की पतंजलिशिलाजीत के कैपसूल बेचती है जिसमें शिलाजीत के तत्व होते हैं जो बेहतरीन प्राकृतिक Anti-Aging Products
में से एक माना जाता है। साथ ही इसका इस्तेमाल शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए भी किया जाता है।

सेक्स करने से पहले कौन सी टेबलेट खाये?

Sildenafil की गोली और फिल्म का असर 4 से 6 घंटे तक रहता है। वहीं Tadalafil की टैबलेट और फिल्म का असर 18 घंटे तक रहता है। जहां तक Vardenafil की बात है तो इसे भी सहवास से 1 घंटे पहले लिया जाता है और इसका असर 12 घंटे तक रहता है। वैसे इसका असर Sildenafil और Tadalafil से बेहतर माना जाता है।

शिलाजीत कैप्सूल कौन सी कंपनी का अच्छा है?

Dabur शिलाजीत गोल्ड- 10 कैप्सूल

शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल की कीमत क्या है?

Dabur शिलाजीत गोल्ड20 कैप्सूल साथ में मुफ्त शिला X तेल – 20 ml जिसकी कीमत 150 रूपए है