Amazing 12 Real Benefits of Betel leaf in Hindi। पान के पत्ते के फायदे

0
542
Benefits of Betel leaf

Betel Leaf:- आप सभी ने पान का सेवन तो किया ही होगा भारत में पान खाने की परंपरा बहुत समय से है लोगों ने कई गाने भी बनाए हैं । पान में दो चीजें सबसे महत्वपूर्ण होती है एक पान का पत्ता और दूसरी होती है सुपारी।पान के पत्ते में कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होते हैं । Betel Leaf आज हम आपको पान के पत्ते से जुड़ी सभी आवश्यक जानकारी जैसे पान के पत्ते के फायदे, पान के पत्ते के नुकसान, पान के पत्ते के पोषक तत्व, पान के पत्ता होता क्या है? आदि पर चर्चा परिचर्चा करेंगे।

Betel leaf 

पान का पत्ता तांबूली या नागवल्ली नामक लता के पौधे से प्राप्त किया जाता है। पान के पत्ते छोटे बड़े आकार अनेक प्रकार के होते हैं उनके बीच में एक मोटी सी नस होती है। पान के पत्ते का वनस्पतिक नाम Piper Betel होता है यह पाइपरैशी कुल से संबंध रखता है।Betel Leaf पान की खेती भारत की दक्षिण तथा उत्तरी पूर्वी क्षेत्रों में खुले स्थानों पर की जाती है। पान की खेती करने के लिए अधिक नमी व कम धूप वाले स्थान उपयुक्त माने जाते हैं।

 वैज्ञानिक आधार पर पान की पांच प्रमुख प्रजातियां होती है जो बांग्ला, मगही, सांची, देशावरी, कपूरी, तथा मीठी पत्ता नाम से जानी जाती है। पान के पत्तों की इन पांच प्रमुख पर प्रजातियों का वर्गीकरण इन की संरचना और रासायनिक गुणों के आधार पर किया गया है।पान में कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर में डिटॉक्सिफायर के अनुरूप कार्य करते हैं। इसके अतिरिक्त इनमें कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, Betel Leaf जो डायबिटीज कैंसर कोलेस्ट्रोल आदि समस्याओं से निजात दिलाने में सहायक होते हैं।

Nutrients of Betel leaf in Hindi

पान के पत्तों में कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं; प्रोटीन, फाइबर, वसा, मिनरल्स, क्लोरोफिल, कार्बोहाइड्रेट, निकोटिन एसिड, टैनिन, विटामिन सी, विटामिन ए, थियामिन, राइबोफ्लेविन, नाइट्रोजन, फॉस्फोरस, पोटेशियम, कैल्शियम, आयरन, आयोडीन,Betel Leaf एसेंशियल ऑयल कैलोरीज आदि। इसके अतिरिक्त पान के पत्तों में एंटी इन्फ्लेमेटरी, एंटी बैक्टीरिया, एंटी हायपरग्लाइसेमिक, एंटी ऑक्सीडेंट तथा एंटी माइक्रोबियल औषधीय गुण पाए जाते है।

Benefits of Betel leaf in Hindi

Benefits of Betel leaf

मधुमेह के लिए (Betel leaf in Hindi for diabetes)

पान के पत्तों में एंटी हाइपोग्लाइसेमिक औषधीय गुण पाया जाता है, जो हमारे शरीर में रक्त में मौजूद ग्लूकोस के स्तर को नियंत्रित करने में सहायक होता है। यह हमारे शरीर में डायबिटीज टाइप 2 की समस्या से निजात दिलवाने में सहायक होता है।Betel Leaf यह एक गंभीर बीमारी है इसीलिए आप डॉक्टर से दवाई जरुर ले।

मौखिक स्वास्थ्य के लिए (Betel leaf in Hindi for oral health)

पान की पत्तों में कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो बैक्टीरिया के कारण दातों में होने वाली समस्याओं से निजात दिलवाने में सहायक होते हैं ।तथा यह हमारे मुंह में बैक्टीरिया के संक्रमण से राहत दिलाने में भी सहायक होते हैं ।पान के पत्तों का सेवन करने से दांत मजबूत होते हैं और मौखिक स्वास्थ्य में सुधार आता है।

भूख बढ़ाने के लिए (Betel leaf in Hindi for appetite)

पान के पत्तों में पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर में पीएच स्तर को सामान्य रखते हैं। जिससे भूख बढ़ती है। पान के पत्ते हमारे शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालकर पेट के पीएच स्तर को सामान्य करते हैं। तथा इससे हमारी पाचन प्रक्रिया भी दुरुस्त रहती है । यह भूख बढ़ाने और स्वास्थ्यवर्धक होता है।

मुंह के छालों के लिए (Betel leaf in Hindi for mouth ulcers)

पान के पत्तों में स्ट्रैप्टॉकोक्कस न्यूटन नामक बैक्टीरिया के कारण मुंह में होने वाले संक्रमण से बचाने के लिए कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। यह मुंह के छालों से निजात दिलवाने में सहायक होता है। तथा बैक्टीरिया के संक्रमण की को कम करने में भी सहायक होता है । Betel Leafमुंह के छालों की समस्या से ग्रसित लोग पान के पत्तों का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह आपके स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होते हैं।

कैंसर के लिए (Betel leaf in Hindi for cancer)

पान के पत्तों में एंटी कैंसर औषधीय गुण पाया जाता है, जो कैंसर की समस्या से निजात दिलाने में सहायक होता है। यह ट्यूमर कैंसर को बढ़ने से रोकता है ।तथा कैंसर की कोशिकाओं के विकास में बाधा उत्पन्न करता है। Betel Leaf हालांकि पान के पत्तों का सेवन करने से कैंसर को पूरी तरह खत्म नहीं किया जा सकता है। इसीलिए आप डॉक्टर से अपना इलाज जरूर करवाएं। पान के पत्तों की सेवन करने से केवल कैंसर के विकास को रोका जा सकता है।

वजन कम करने के लिए (Betel leaf in Hindi to reduce weight)

पान के पत्तों का सेवन करने से हमारे शरीर में ऑक्सीडेशन प्रक्रिया प्रोत्साहित होती है। जिससे हमारे शरीर के वजन को नियंत्रित रखा जा सकता है। यह भूख को प्रभावित किए बिना ही हमारे शरीर के वजन को नियंत्रित रखता है। पान के पत्तों का सेवन करने से आप मोटापे की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

गैस्ट्रिक समस्याओं के लिए (Betel leaf in Hindi for gastric problems)

पान के पत्तों में गैस्ट्रो पटक के औषधीय गुण पाया जाता है, जो गैस की समस्या से निजात दिलाने में सहायक होता है। पान के पत्ते में इसके अलावा कई औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो पेट के अल्सर की समस्या को ठीक करने में भी सहायक होते हैं। इसके अतिरिक्त पान के पत्तों में प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं, जो पाचन प्रणाली को दुरुस्त रखने में सहायक होते हैं ।Betel Leaf पाचन समस्याओं से निजात पाने के लिए पान के पत्तों का सेवन कर सकते हैं।

घाव को ठीक करने के लिए (Betel leaf in Hindi for healing wounds)

पान के पत्तों में मौजूद औषधीय गुणों को जल्दी भरने का कार्य करते हैं। पान के पत्तों में हाइड्रॉक्सीप्रोलाइन (कॉलेजन में पाए जाने वाला हेटेरोसाइक्लिक प्रोटीन अमीनो एसिड) और सुपर ऑक्साइड डिस्मुटेज (शरीर में ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करने वाला एंटी ऑक्सीडेंट) को बढ़ाने में सहायक होते हैं, जो जल्दी घाव भरने का कार्य करते हैं । इसके अतिरिक्त पान के पत्तों के अर्क से मधुमेह के कारण होने वाले घाव जल्दी भर जाते हैं। यह आपके स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है।

सूजन के लिए (Betel leaf in Hindi for inflammation)

पान के पत्तों में एंटी इन्फ्लेमेटरी औषधीय गुण पाया जाता है, जो सूजन की समस्या से निजात दिलाने में सहायक होता है ।सूजन से जुड़ी सभी समस्याओं से निजात पाने के लिए पान के पत्तों का इस्तेमाल कर सकते हैं।Betel Leaf यह आपके स्वास्थ्य के लिए काफी गुणकारी और लाभदाई साबित होते हैं।

कब्ज के लिए (Betel leaf in Hindi for constipation)

पान के पत्तों में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं, जो कब्ज की समस्या से निजात दिलवाने में सहायक होते हैं। इसके अतिरिक्त इसमें कई औषधीय गुण होते हैं, जो पेट की समस्याओं से निजात दिलाने में सहायक होते हैं। पेट से जुड़ी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए आप पान के पत्तों का सेवन कर सकते हैं।

सिर दर्द के लिए (Betel leaf in Hindi for headache)

पान के पत्तों में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो सिर दर्द की समस्या से छुटकारा दिलाने में सहायक होता है। इसके अतिरिक्त माइग्रेन के कारण होने वाले सिर दर्द की समस्या से छुटकारा पाने के लिए भी पान के पत्तों का इस्तेमाल किया जाता है। आपके स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है। सिर दर्द की समस्या से छुटकारा पाने के लिए पान के पत्तों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

मुहांसों के लिए (Betel leaf in Hindi for acane)

पान के पत्तों में एंटीऑक्सीडेंट्स प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं, जो ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को दूर करने में सहायक होते हैं। जिससे मुहांसों को रोका जा सकता है। ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के कारण हमारे चेहरे पर मुंहासों की समस्या होती है। Betel Leaf इस समस्या से निजात पाने के लिए आप पान के पत्तों का इस्तेमाल कर सकते हैं ।यह आपके स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। Betel Leaf इसके अतिरिक्त पान के पत्तों में एंटीबैक्टीरियल एंटीमाइक्रोबियल्स औषधीय गुण पाए जाते हैं जो खुजली, दाद तथा मुहांसों की समस्या से छुटकारा दिलाने में सहायक होते हैं।

यह भी  देखे  >>>>>> तुलसी के फायदे

Side Effects of Betel leaf in Hindi

  • पान के पत्तों का अधिक मात्रा में सेवन करने से ह्रदय गति, रक्तचाप, पसीना निकलना तथा शरीर के तापमान में वृद्धि जैसी कई गंभीर समस्याएं सामने आ सकती है।
  •  पान के पत्तों को चबाने से ऐसोफागस कैंसर और मुंह के कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।
  • गर्भावस्था के दौरान पान का सेवन करना आपके स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक हो सकता है। इस अवस्था में आप डॉक्टर से सलाह लेकर ही किसी भी चीज का सेवन करें।
  • पान के पत्तों का अधिक मात्रा में सेवन करने से थायराइड हार्मोन का स्तर बढ़ सकता है या अधिक ही मात्रा में कम हो सकता है।Betel Leaf

For more details regarding the Betel leaf Benefits in Hindi: click here

पान पत्ता क्या होता है?

आप सभी ने पान का सेवन तो किया ही होगा भारत में पान खाने की परंपरा बहुत समय से है लोगों ने कई गाने भी बनाए हैं । पान में दो चीजें सबसे महत्वपूर्ण होती है एक पान का पत्ता और दूसरी होती है सुपारी।पान के पत्ते में कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होते हैं । Betel Leaf आज हम आपको पान के पत्ते से जुड़ी सभी आवश्यक जानकारी जैसे पान के पत्ते के फायदे, पान के पत्ते के नुकसान, पान के पत्ते के पोषक तत्व, पान के पत्ता होता क्या है? आदि पर चर्चा परिचर्चा करेंगे।

मधुमेह के लिए कैसे उपयोगी है?

पान के पत्तों में एंटी हाइपोग्लाइसेमिक औषधीय गुण पाया जाता है, जो हमारे शरीर में रक्त में मौजूद ग्लूकोस के स्तर को नियंत्रित करने में सहायक होता है। यह हमारे शरीर में डायबिटीज टाइप 2 की समस्या से निजात दिलवाने में सहायक होता है।Betel Leaf यह एक गंभीर बीमारी है इसीलिए आप डॉक्टर से दवाई जरुर ले।

मौखिक स्वास्थ्य के लिए उपयोग बताईये?

पान की पत्तों में कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो बैक्टीरिया के कारण दातों में होने वाली समस्याओं से निजात दिलवाने में सहायक होते हैं ।तथा यह हमारे मुंह में बैक्टीरिया के संक्रमण से राहत दिलाने में भी सहायक होते हैं ।पान के पत्तों का सेवन करने से दांत मजबूत होते हैं और मौखिक स्वास्थ्य में सुधार आता है।

पान के पत्तो से होने वाले Side Effects बताईये?

पान के पत्तों का अधिक मात्रा में सेवन करने से ह्रदय गति, रक्तचाप, पसीना निकलना तथा शरीर के तापमान में वृद्धि जैसी कई गंभीर समस्याएं सामने आ सकती है।
 पान के पत्तों को चबाने से ऐसोफागस कैंसर और मुंह के कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।
गर्भावस्था के दौरान पान का सेवन करना आपके स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक हो सकता है। इस अवस्था में आप डॉक्टर से सलाह लेकर ही किसी भी चीज का सेवन करें।
पान के पत्तों का अधिक मात्रा में सेवन करने से थायराइड हार्मोन का स्तर बढ़ सकता है या अधिक ही मात्रा में कम हो सकता है।Betel Leaf