Chawal Khane Ke Nuksan: Disadvantages Of Eating Rice

0
333
Chawal Khane Ke Nuksan

Chawal Khane Ke Nuksan:- आज हम फिर से आपके पास एक नई खबर के साथ आ गए है। जैसा की आप जानते ही की चावल खाना बहुत से लोगो को पसंद होता है। भारत में अधिकतर लोग रोटी सब्जी से अधिक चावल खाना पसंद करते है। परन्तु क्या आप जानते हैं कि चावल खाने से स्वास्थ्य पर कितना बुरा प्रभाव पड़ता है। चावल का सेवन करने से कई बड़े रोग हो सकते है। इसलिए चावल का सेवन सीमित मात्रा में करना चाहिए। आज हम आपको चावल से होनी वाले नुकसान के बारे में बताएंगे विस्तार से जानने के लिए दिए गए लेख को अंत तक पढ़े।

Chawal Khane Ke Nuksan

डायबिटीज की शिकायत हो सकती है

चावल का अधिक सेवन करने से डायिबटीज (Diabetes) होने का खतरा बढ़ जाता है। (Chawal Khane Ke Nuksan) क्योंकि चावल में Calories की ज्याद मात्रा पाई जाती है। इसलिए डॉक्टर मधुमेह के मरीजों को चावल न खाने की सलाह देते हैं। इसलिए मधुमेह रोगियों को चावल का सेवन काम मात्रा में करना चाहिए?

मोटापा की हो सकती है शिकायत

चावल का अधिक मात्रा में सेवन करने से मोटापा बढ़ता है। यदि आप चावल का अधिक मात्रा सेवन करते हैं तो आप जल्द ही मोटापे के शिकार हो जाएंगे। मोटापा कई रोगो की जड़ होता है। इसलिए चावल का कम सेवन करना चाहिए। (Chawal Khane Ke Nuksan) चवल खाने में भले ही अच्छे लगते हो परन्तु सेहत के लिए हानिकारक होते है।

पेट संबंधी बीमारी हो सकती है

चावल में Fiber की मात्रा न के बराबर पाई जाती है। इसलिए यदि आप दिन-रात चावल का सेवन करते हैं तो आपको पेट संबंधी कई बीमारियां हो सकती है। साथ ही पाचन शक्ति भी कमजोर हो जाती है। (Chawal Khane Ke Nuksan) और अधिक चावल खाने की वजह से पेट फूलने और Acidity की शिकायत भी हो सकती है। इसलिए आप जितना हो सके उतना चावल का सेवन कम करें।

Chawal Khane Ke Nuksan

पथरी की हो सकती है शिकायत

आप जानते होंगे की पथरी कितनी दर्दनाक बिमारी है पथरी से पेट में कितना दर्द होता है। यदि आप चावल अधिक मात्रा में खाते है तो पथरी की शिकायत हो सकती है। अधिकतर लोगो की आदत कच्चे चवल खाने की होती है। जो कि स्वास्थ्य को बहुत हानि पहुँचता है। (Chawal Khane Ke Nuksan) कच्चे चावल का सेवन करने से पथरी की शिकायत हो सकती है। (Chawal Khane Ke Nuksan) इसलिए आप यदि चावल खाये तो अच्छे से पका कर खाये और कम मात्रा में सेवन करें।

सर्दी-खांसी की हो सकती है शिकायत

चवल का सेवन कभी भी रात में न करें। चावल की तासीर ठंडी होती है। इसलिए चावल का रात में सेवन करने से Cold and Cough जैसी शिकायत हो सकती है। इसलिए चावल का सेवन रात में नहीं करना चाहिए। (Chawal Khane Ke Nuksan) दिन में कर सकते है ताकि अच्छे से और जल्दी से पच भी जाए।

सुस्ती महसूस होती है

चावल का ज्यादा सेवन करने से सुस्ती महसूस होती है। और आलस भी आता है आलस हम्ररी सेहत के लिए बहुत हानिकारक बोता है। अधिकतर लोग दोपहर के खाने में चावल का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं। इसलिए दोपहर के खाने के पश्चात् उनको नींद आने लगती है। (Chawal Khane Ke Nuksan) साथ ही सुस्ती महसूस होती है। इसलिए आप जब भी चावल का सेवन करे तो कम मात्रा में करे।

यह भी देखें:- Schizophrenia Ka Gharelu Upchar: Home Remedies For Schizophrenia

यह भी देखें:- Adrak Ka Pani Pine Ke Fayde: Know The Amazing Benefits Of…

यह भी देखें:- Maggi Khane Ke Nuksan: Disadvantages Of Eating Maggi, Know

डायबिटीज की शिकायत हो सकती है किस से?

चावल का अधिक सेवन करने से डायिबटीज (Diabetes) होने का खतरा बढ़ जाता है। क्योंकि चावल में Calories की ज्याद मात्रा पाई जाती है। इसलिए डॉक्टर मधुमेह के मरीजों को चावल न खाने की सलाह देते हैं। इसलिए मधुमेह रोगियों को चावल का सेवन काम मात्रा में करना चाहिए?

मोटापा किस से बढ़ता है?

चावल का अधिक मात्रा में सेवन करने से मोटापा बढ़ता है। यदि आप चावल का अधिक मात्रा सेवन करते हैं तो आप जल्द ही मोटापे के शिकार हो जाएंगे। मोटापा कई रोगो की जड़ होता है। इसलिए चावल का कम सेवन करना चाहिए। चवल खाने में भले ही अच्छे लगते हो परन्तु सेहत के लिए हानिकारक होते है।

पेट संबंधी बीमारी हो सकती है कैसे?

चावल में Fiber की मात्रा न के बराबर पाई जाती है। इसलिए यदि आप दिन-रात चावल का सेवन करते हैं तो आपको पेट संबंधी कई बीमारियां हो सकती है। साथ ही पाचन शक्ति भी कमजोर हो जाती है। और अधिक चावल खाने की वजह से पेट फूलने और Acidity की शिकायत भी हो सकती है। इसलिए आप जितना हो सके उतना चावल का सेवन कम करें।

सुस्ती महसूस कैसे होती है?

चावल का ज्यादा सेवन करने से सुस्ती महसूस होती है। और आलस भी आता है आलस हम्ररी सेहत के लिए बहुत हानिकारक बोता है। अधिकतर लोग दोपहर के खाने में चावल का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं। इसलिए दोपहर के खाने के पश्चात् उनको नींद आने लगती है। साथ ही सुस्ती महसूस होती है। इसलिए आप जब भी चावल का सेवन करे तो कम मात्रा में करे।