Top 5 Amazing Benefits Of Chyawanprash For Strong immunity ( च्यवनप्राश के फायदे )

0
230

chyawanprash ke fayde | benefits of chyawanprash | benefits of chyawanprash dabur | benefits of chyawanprash in hindi

Chyawanprash ke fayde

बचपन में च्यवनप्राश के फायदे बताकर आपको भी यह खूब खिलाया गया होगा। सुबह को दूध के साथ हो या रात को सोते समय, च्वयनप्राश कई लोगों की दिनचर्या का अहम हिस्सा होता है। दादी, नानी और मां यही कहती थीं कि इसे खाने से खांसी-जुकाम से बचे रहोगे। बदलती लाइफ स्टाइल और भागदौड़ भरी जिंदगी के बीच भी काफी लोग रोजाना च्वयनप्राश का सेवन करते हैं। कुछ लोग च्वयनप्राश को अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने का आसान और अच्छा तरीका मानते हैं। लेकिन इस बारे में यदि आप एक्सपर्ट से पूछें, तो उनकी राय अलग है। हर साल सर्दियों में च्वयनप्राश की खपत बढ़ जाती है।( chyawanprash ke fayde)

ठंड बढ़ने पर मैं भी च्वयनप्राश लेने मार्केट गया, लेकिन यहां ढेर सारे ब्रांड देखकर कन्फ्यूज हो गया कि कौन सा अच्छा रहेगा। कहा जाता है कि सर्दियों में च्यवनप्राश का सेवन आपको कई दिक्कतों से दूर रखता है। इसका सबसे अच्छा और अहम फायदा ये है कि यह शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाता है। च्यवनप्राश 20-40 आयुर्वेदिक सामग्री का एक मिक्सचर होता है। सामग्री की संख्या बढ़ भी सकती है।पहले के टाइम में कुछ चवनप्राश ऐसे होते थे जिनमें 20 हर्ब्स मिलाए जाते थे, वहीं कुछ ऐसे भी होते थे जिनमें 80 से अधिक हर्ब्स मिलाए जाते हैं। (chyawanprash ke fayde )

इनकी ज्यादातर सामग्री जिनमें आंवला, ब्राह्मी आदि शामिल होते हैं, ऐसी होती है जिनमें इम्यूनिटी बढ़ाने वाले तत्व होते हैं। आइये हम आपको बताते हैं कि किस तरह चवनप्राश खाने से इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत होता है। च्यवनप्राश तो शायद आपने बचपन में बहुत खाया होगा और अगर घर में कोई बुजुर्ग होगा तो शायद आपने उन्हें खाते हुए देखा होगा. लेकिन ऐसा नहीं है कि च्वयनप्राश केवल वही लोग खाते हैं बल्कि इसे उम्र के लोगों को खाना चाहिए ताकि उनका स्वास्थ अच्छा बना रहे. पिछले कई महीनों से कोरोना का ड़र लोगों के मन में है और लोग अपने शरीर को मजबूत बनाने के लिए कई तरह के उपाय कर रहे हैं. कड़ाके की ठंड जब पड़ रही हो तो खाने-पीने की सावधानी जरूरी होती है.

आप भी अपनी मां से सुन चुके होगें की सर्दियों में च्यवनप्राश खाना फायदेमंद होता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि ठंड के मौसम में च्यवनप्राश खाने के क्या-क्या फायदे होते हैं.? हेल्द एक्सपर्ट्स मानते हैं कि च्यवनप्राश खाने का तरीका सही हो तो च्यवनप्राश बहुत फायदेमंद होता है. संतुलित भोजन की तरह च्यवनप्राश हेल्थ को फायदा पहुंचाता है. च्यवनप्राश एक शक्तिवर्धक अवलेह (जड़ी-बूटियों से बनी चटनी) है जो रोगों से लड़ने की ताकत देता है। पाचनतंत्र के लिए लाभकारी होने के साथ-साथ यह पुरानी खांसी, दमा, टीबी व हृदय रोगों में काफी लाभदायक होता है। इससे बच्चों का दिमाग तेज व हड्डियां मजबूत होती हैं। इसे तीन वर्ष की उम्र से लेकर किसी भी आयु के व्यक्ति गर्मी और सर्दी दोनों मौसम में खा सकते हैं। बारिश के दिनों में अक्सर हमारी पाचनक्रिया गड़बड़ा जाती है। इसलिए इस दौरान च्यवनप्राश खाने से परहेज करें क्योंकि यह भारी होता है जिससे अपच, एसिडिटी और कब्ज आदि की समस्या हो सकती है। ( chyawanprash ke fayde )

chyawanprash ke fayde

च्यवनप्राश में मौजूद सामग्रियां – Ingredients Present in Chyawanprash in Hindi

1) वसाका

2) अश्वगंधा

3) तुलसी

4) नीम

5) केसर

6) पिप्पली

7) ब्राह्मी

8) घी

9) शहद

10) लौंग

11) इलायची

12) दालचीनी

13) बेल

14) अगुरु

15) तेजपत्ता

16) पुनर्नवा

17) हल्दी

18) नाग

19) केसर

20) शतावरी

21) तिल का तेल

च्यवनप्राश के फायदे – Benefits of Chyawanprash in Hindi

1) इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए (Increase immunity)

chyawanprash ke fayde

च्यवनप्राश में आयुर्वेदिक गुण पाए जाते हैं ये तो आप अच्छे से जानते हैं और इसमें कई सारे औषधियों का मिश्रण होता है जो आपके स्वास्थ के लिए अच्छा होता है. इसका सेवन करने से आपका इम्यून सिस्टम बहुत अच्छा होता है. ऐसे में कोरोना काल में आप इसका सेवन जरुर करें. ये आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए अच्छा होता है. इम्यूनिटी यानी प्रतिरक्षा का मजबूत होना शरीर के लिए आवश्यक होता है। यह प्रतिरक्षा ही है, जो शरीर को जल्दी बीमार होने से बचाती है और इंफेक्शन व बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करती है। माना जाता है कि प्राचीन काल से लोग च्यवनप्राश का इस्तेमाल रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपाय की तरह करते आ रहे हैं। इस बात का जिक्र वैज्ञानिक शोध में भी मिलता है। ( chyawanprash ke fayde

2) सर्दी जुकाम के लिए

chyawanprash ke fayde

कई बार मौसम में बदलाव के कारण सर्दी जुकाम होना आम हो जाता है, लेकिन फिलहाल कोरोना की वजह से ये एक बड़ी बीमारी हो गई है. वहीं कई लोगों को सर्दी जुकाम होता रहता है ऐसे में आपको दिन में या फिर रात में च्वनप्राश का सेवन जरुर करना चाहिए.च्यवनप्राश का सेवन करने से शरीर किसी भी तरह के संक्रमण का सामना बेहतर तरीके से कर सकता है. इसमें मौजूद पोषक तत्व शरीर को अंदर से मजबूत बनाते हैं. च्यवनप्राश श्वसन प्रणाली के संक्रमणों पर प्रतिबंध लगाता है। सर्दी जुकाम को होने से रोकता है। खांसी को ठीक करता है। फेफड़ों को बल देकर फेफड़ों के कार्य में सुधार लाता है। जो लोग साँस के रोगों या दमे से परेशान है, यह उन के लिए भी उत्तम है। ( chyawanprash ke fayde )

3) त्वचा को स्वास्थ्य बनाए रखने के लिए

chyawanprash ke fayde

च्यवनप्राश खाने के फायदे में त्वचा स्वास्थ्य भी शामिल हैं। बदलते मौसम, धूल-मिट्टी, प्रदूषण और कई अन्य कारणों से त्वचा रूखी और बेजान होने लगती है। ऐसे में त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने के लिए भी च्यवनप्राश का सेवन किया जा सकता है। रिसर्च में भी इस बात का विवरण दिया गया है। शोध के मुताबिक च्यवनप्राश का सेवन करने से चेहरे की रंगत में सुधार हो सकता और चेहरे को दमकता हुआ बनाए रखने में मदद मिल सकती है। साथ ही इस बात का भी जिक्र है कि च्यवनप्राश की मदद से चेहरे को फोटो एजिंग यानी सूर्य की वजह से चेहरे पर समय से पहले दिखने वाले एजिंग के प्रभाव को भी दूर किया जा सकता है। त्वचा को जवां रखने के साथ ही च्यवनप्राश इसे संक्रमण से भी बचाए रखने का काम कर सकता है। chyawanprash ke fayde

4) याददाश्त तेज करे के लिए

याददाश्त का तेज होना घरेलू और ऑफिस के कामकाज के लिए जरूरी है। उम्र की वजह से या समय पहले अगर याददाश्त कमजोर होने लगे तो च्यवनप्राश का सहारा लिया जा सकता है। माना जाता है कि च्यवनप्राश खाने के फायदे में मस्तिष्क को तेज करना और याददाश्त को बढ़ाना भी शामिल है। इसी संबंध में चूहों पर एक शोध किया गया, । रिसर्च के मुताबिक च्यवनप्रश में एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होते हैं, जो खोती याददाश्त को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। साथ ही कुछ नया सिखने की क्षमता में भी च्यवनप्राश लाभदायक हो सकता है। बताया जाता है कि च्यवनप्राश मस्तिष्क के सेल्स को भी पोषण देने का काम कर सकता है। chyawanprash ke fayde

5) खांसी और सर्दी के लिए

बदलते मौसम और अन्य कई कारणों से सर्दी-खांसी जैसी समस्या लोगों को हो जाती है। इस समस्या से बचने के लिए भी च्यवनप्राश का सेवन फायदेमंद माना जाता है। दरअसल, इसमें मौजूद शहद, सर्दी और खांसी को ठीक करने के लिए जाना जाता है। इसके अलावा, यह इम्यूनिटी को भी बढ़ाने में मदद कर सकता है, जिसकी वजह से शरीर खांसी और ठंड से लड़ने का काम कर सकता है। साथ ही च्यवनप्राश में मौजूद आंवला और अन्य जड़ी-बूटियां विटामिन-सी से समृद्ध होती हैं, जो शरीर को किसी भी तरह के संक्रमण और वायरस व बैक्टीरिया से बचाने में मदद कर सकता है। इसी वजह से माना जाता है कि सर्दी-खांसी से बचाव के लिए च्यवनप्राश का इस्तेमाल किया जाना चाहिए। chyawanprash ke fayde

घर में च्यवनप्राश बनाने की विधि :

सामग्री:

दो किलो आंवला

25-25 ग्राम शतावरी, गोखरू, बेल, नागरमोथा, लौंग, जीवन्ती, पुनर्नवा, अश्वगंधा, गिलोय, ब्राह्मी, तुलसी के पत्ते, मुलेठी, छोटी इलायची, वसाका, सफेद चंदन, शतावरी और हल्दी की जड़ (उबालने वाली सामग्री)

150-100 ग्राम घी और तिल का तेल

20 ग्राम पिप्पली

25 ग्राम दालचीनी

10 ग्राम तेज पत्ता

10 ग्राम नागकेसर

1 ग्राम केसर

10 ग्राम छोटी इलायची

250 ग्राम शहद

चीनी आवश्यक्तानुसार

बनाने का तरीका :

आंवले को सबसे पहले धो लें।

अब एक बडे़ बर्तन में करीब 5 लीटर पानी डालकर गर्म करें।

इसमें गोखरू के अलावा सभी उबालने वाली सामग्रियों को डाल दें।

अब एक कपड़े में गोखरू को लपेटकर अच्छे से बांधे और पानी में डाल दें।

मध्यम आंच में करीब दो घंटे तक पकने दें।

दो घंटे तक पकने के बाद करीब 12 घंटे तक ऐसे ही रहने दें।

अब एक बर्तन में सारे आंवले डाले और उनकी गुठली निकाल लें।

आंवले उबलने के बाद नर्म हो जाते हैं, इसलिए आसानी से गुठली निकल जाएगी।

अब आंवले को मसलकर पल्प जैसा बना लें।

इसके बाद तिल के तेल और घी को मिलाकर एक बर्तन में डालें और गर्म करें।

तेल और घी दोनों के एक साथ गर्म होने के बाद इसमें आंवले के गूदे को डालें।

ध्यान रखें कि लोहे की कड़ाही का ही इस्तेमाल करें।

करीब आधे घंटे तक इसे अच्छे से भूनें।

जब अच्छे से आंवला भून जाए तो उससे घी अलग होने लगेगा।

फिर उसमें गुड़ या चीनी डालें और फिर उसे पकाते रहें।

याद रहें कि इसे अच्छी तरह से करछी से मिलाते रहें वरना यह चिपकने लगेगा।

जब यह गाढ़ा हो जाए तो थोड़ी देर के लिए गैस बंद कर दें।

इस दौरान पिप्पली, दालचीनी, तेज पत्ता, नागकेसर, केसर और छोटी इलायची पीसकर बारिक पाउडर तैयार करें। अब आंवले के पेस्ट के ठंडा होने के बाद इसमें तैयार पाउडर को डाल लें।

साथ ही 250 ग्राम शहद भी डाल लें।

इतना करने के बाद पेस्ट को अच्छी तरह से मिक्स कर लें।

लीजिए बस तैयार है घर पर बना च्यवनप्राश।

च्यवनप्राश लेने से पहले सावधानियां

For more details regarding the Chyawanprash  in Hindi: click hear