8 Incredible Health Benefits Of Fennel Seeds in Hindi ( सौंफ खाने के फायदे )

0
913
fennel seeds in hindi

Fennel Seeds in Hindi:- आमतौर पर सौंफ खाने के फायदे माउथ फ्रेशनर के रूप में लिए जाते हैं। लेकिन सौंफ के फायदे माउथ फ्रेशनर के अलावा कई सारे हैं। सौंफ लीकोरिस स्वाद के लिए जानी जाती है जो खाने में खुशबू की तरह काम करती है। विज्ञानिक भाषा में सौंफ को ‘Funicular Vulgare’ कहा जाता है। सौंफ खाने के फायदे सेहत के लिए कई सारे हैं जैसे कि स्वस्थ पाचन शक्ति, सेहतमंद ( fennel seeds in hindi ) दिल, कब्ज की परेशानी से राहत आदि। सौंफ के साथ- साथ सौंफ के पानी के भी कई फायदे जैसे कि सौंफ का पानी पीने से वेट लॉस में मदद मिलती है।

Fennel Seeds in Hindi

Table of Contents

इसके साथ ही सौंफ के पौधे ( fennel seeds in hindi ) से कई सारी दवाईयां बनाई जाती हैं जिससे हम कह सकते हैं कि सौंफ के फायदे कितने लाभदायक हैं। सौंफ के इतने सारे फायदे होने के कारण सौंफ खाने के फायदे से जुड़ी जानकारी के बारे में जानना जरुरी हो जाता है। दिमाग को शांत करने का काम करती है सौंफ और टेस्ट बड्स को संतुष्ट करने का काम करती है सौंफ हमारे पाचन के लिए भी बेहतरीन ( fennel seeds in hindi ) होती है। इसलिए जब भोजन के बाद सौंफ खाई जाती है तो पाचन आसान हो जाता है। गैस की समस्या नहीं होती और पेट में भारीपन नहीं होता।

इन सब बातों का अर्थ ऐसा नहीं है कि सौंफ खाने से सिर्फ पेट ही ठीक रहता है। सौंफ संग मिश्री खाने से शरीर और मन दोनों को ही लाभ होता है। आइए, यहां जानते हैं कि आखिर इन दोनों का मेल ऐसा कौन-सा कमाल करता है कि रेस्त्रा से लेकर शादी-ब्याह में भी भोजन के बाद सौंफ-मिश्री खाने को मिल जाती है. आपने यह देखा होगा कि प्रायः रेस्टोरेंट में खाना खाने के बाद वेटर सौंफ खाने को देते हैं। सौंफ का ( fennel seeds in hindi) उपयोग घरों में भी अनेक तरह से किया जाता है इसलिए आप लोग बराबर सौंफ का सेवन करते होंगे।

वास्तव में छोटा सा दिखने वाला सौंफ बहुत ही गुणकारी होता है ( fennel seeds in hindi ) लेकिन अधिकाश लोग सौंफ के इस्तेमाल के बारे में बहुत अधिक नहीं जानते होंगे। आपको शायद यह पता नहीं होगा कि सौंफ एक औषधि है और इसके बारे में आयुर्वेद में बहुत सारी बातें बताई गई हैं। सौंफ वात तथा पित्त को शांत करता है, भूख बढ़ाता है, भोजन को पचाता है, वीर्य की वृद्धि करता है। हृदय, मस्तिष्क तथा शरीर के लिए लाभकारी होता है। ( fennel seeds in hindi )

यह बुखार, गठिया आदि वात रोग, घावों, दर्द, आँखों के रोग, योनि में दर्द, अपच, कब्ज की ( fennel seeds in hindi ) समस्या में फायदा पहुंचाता है। इसके साथ ही यह पेट में कीड़े, प्यास, उल्टी, पेचिश, बवासीर, टीबी आदि रोगों को ठीक करने में भी सहायता करता है। इसके अलावा सौंफ का प्रयोग कई अन्य रोगों में भी किया जाता है।

सौंफ क्या है

सौंफ का उपयोग प्राचीन काल से मुंह को शुद्ध (Mouth Freshner) करने और घरेलू औषधि के रूप में होता आ रहा है। इसका ( fennel seeds in hindi ) पौधा लगभग एक मीटर ऊंचा तथा सुगन्धित होता है। इसके पत्तों का प्रयोग सब्जी के रूप में भी किया जाता है। भूमध्यसागरीय इलाके में सौंफ जैसा ही एक पौधा पाया जाता है जिसे एनीसीड (aniseed) कहते हैं। इसका उपयोग इटालवी भोजन में किया जाता है। ( fennel seeds in hindi )

fennel seeds in hindi

अनेक भाषाओं में सौंफ के नाम ( Name of Saunf in Different Languages )

Saunf in –

1) English (sauf in english) – बिटर फेनेल (Bitter fennel), कॉमन फेनेल ( fennel seeds in hindi ) (Common fennel), इण्डियन स्वीट फेनेल (Indian sweet fennel), Fennel fruit (फेन्नेल फ्रूट)

2) Hindi (aniseed in hindi) – सौंफ, बड़ी सौंफ (badi saunf)

3) Marathi (fennel seeds in Marathi) – बड़ी सेपू (Badi sepu), सौंफ (Saunf)

4) Sanskrit – छत्रा, शालेय, शालीन, मिश्रेया, मधुरिका, मिसि

5) Urdu – पनमधुरी (Panamadhuri)

6) Kannada – बड़ी सोपु (Badisopu), सब्बसिगे (Sabbsige)

7) Gujarati – वरीयाली (Variyaali), वलीआरी (Valiaari)

8) Telugu – सोपु (Sopu), पेद्दजिलकुर्रा (Pedhyajilkurra)

9) Tamil – सोहिकिरे (Sohikire), सोम्बु (Shoumbu)

10) Bengali – मौरी (Mouri), पान मौरी (Pan mori)

11) Punjabi – सोम्पू (Sompu), सोंफ (Saunf)

12) Malayalam – पेरूमजीकम (Perumjikam), कट्टुसत्कुप्पा (Kattusatkuppa)

13) Nepali – मदेशी सौंफ (Madesi saunf)

14) Arabic – एजियानज (Ejiyanaj), असलुल एजियानज (Aslul ejiyanaj)

15) Persian – राजीयानज (Razianaj), राजयाना (Rajyana)

सौंफ के फायदे ( Benefits of Saunf )

1) इम्युनिटी बढ़ाने के लिए ( Benefits of Saunf for Immunity )

सौंफ हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक होती है। क्योंकि यह विटमिन-सी प्राप्त करने( fennel seeds in hindi ) का एक प्राकृतिक माध्यम है। सौंफ खाते हुए सिर्फ तन और मन को शांत नहीं किया जा सकता बल्कि रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक कोशिकाओं को बढ़ाने का काम विटमिन-सी ही करता है। विटमिन-सी शरीर में वाइट ब्लड सेल्स यानी WBC काउंट बढ़ाने में सहायता करता है।

Fennel Seeds in Hindi
 

2) सौंफ के साथ मिश्री खाने का लाभ ( Benefits of Saunf with Sugar candy )

सौंफ के साथ मिश्री खाने का सबसे पहला लाभ तो यह है कि सौंफ का जो हल्का कसैला-सा स्वाद होता है, मिश्री के साथ इसे खाने से उस स्वाद का अहसास नहीं हो पाता है। -सौंफ के साथ मिश्री खाने से दूसरा लाभ यह होता है कि भोजन करने की पूर्ण संतुष्टि हमारे शरीर और मन को प्राप्त होती है।

इससे मानसिक एकाग्रता बढ़ाने में मदद मिलती है। -सौंफ के साथ मिश्री खाने का ( Fennel Seeds In Hindi ) तीसरा लाभ यह होता है कि मिश्री यानी शुगर की बहुत सीमित मात्रा जब सौंफ के साथ शरीर में जाती है तो वह शारीरिक तौर पर शिथिलता का अहसास नहीं होने देती है। क्योंकि भोजन करने के बाद हम सभी को कुछ समय के लिए बहुत आलस आता है। सौंफ और मिश्री का सेवन हमें उस आलस से बचाता है।

3) लीवर के लिए ( Benefits of Saunf for Liver )

वैज्ञानिक शोध के अनुसार, सौंफ का उपयोग प्राचीन समय से चिकित्सा के रूप में किया जा रहा है। लिवर की समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए भी सौंफ का इस्तेमाल किया जाता है . सौंफ में एंटीऑक्सीडेंट और अन्य मिनरल्स पाए जाते हैं, जो लीवर को सेहतमंद बनाए रखने में मददगार साबित होते हैं। सौंफ में सेलेनियम की मात्रा भी पाई जाती है, जो लीवर (Fennel seeds in hindi) की क्षमता को बढ़ाता है और शरीर से हानिकारक तत्वों को निकालने में सहायक होता है ।

4) त्वचा को निखारने के लिए ( Benefits of Saunf for Skin )

सौंफ में पाए जाने वाले Antioxidant and Anti-Microbial जैसे गुण बालों की विभिन्न समस्याओं से छुटकारा दिला सकते है। बालों में डैंड्रफ, सिर में खुजली और बालों का गिरना ये कुछ ऐसी समस्याएं हैं, जिनसे निजात दिलाने में सौंफ कारगर साबित हो सकती है। इसके लिए सौंफ का मिश्रण तैयार करना होगा और उससे अपने बालों को धोना होगा। इससे बालों ( fennel seeds in hindi ) की उम्र लंबी होती है। नीचे बताई गई विधि के अनुसार इस मिश्रण को तैयार किया जा सकता है।

Fennel Seeds in Hindi
 

5) आँखों के रोग के लिए ( Benefits of Saunf for Eyes )

सौंफ के पत्ते के रस में रूई को भिगोकर आँखों पर रखें। इससे आँखों की जलन, दर्द तथा लालिमा की परेशानी ठीक होती है। 1-2 ग्राम सौंफ चूर्ण में 65 मि.ग्रा. खसखस यानी पोस्त के दानों का चूर्ण मिला लें। इसे नियमित सेवन करने से आँखों के रोग ठीक होते हैं तथा आँखों की रोशनी बढ़ती है। सौंफ खाने से आँख के रोग में फायदा मिलता है। 2-4 ग्राम सौंफ चूर्ण में बराबर ( fennel seeds in hindi ) भाग खाँड मिलाकर सेवन करें। इससे मानसिक रोग तथा गाय के दूध के साथ सेवन करने से आँख के रोग ठीक होते हैं।

6) पेचिश के लिए ( Benefits of Saunf for Dysentery )

बराबर-बराबर भाग में बेल, नागरमोथा, सौंफ तथा स्थलपद्म के काढ़ा (10-30 मिली) में मिश्री मिलाएं। इसे पीने से आँवयुक्त पेचिश और खूनी पेचिश में लाभ होता है। गेहूँ के आटे में सौंफ मिलाकर उसकी बाटियाँ बनाकर अंगारों पर सेंकें। पकने के बाद उसे कूटकर मिश्री तथा घी मिलाकर सेवन करने से आँवयुक्त पेचिश के दर्द में आराम मिलता है। चार भाग सौंफ (sof) चूर्ण में एक ( fennel seeds in hindi ) भाग इलायची चूर्ण तथा पाँच भाग मिश्री चूर्ण मिला लें।

इसे उपयुक्त मात्रा में सेवन करने से पेचिश में शीघ्र लाभ होता है। सौंफ बीज काढ़ा 25-50 मिली में मधु मिलाकर नियमित भोजनोपरांत सेवन करें। इससे अपच, एसिडिटी, गैस, कब्ज, प्यास, बुखार तथा पेशाब की कमी आदि रोग ठीक होते हैं। 3-6 ग्राम बीजों को चबाने से या बीज चूर्ण का सेवन करने से पेट में मरोड़, उल्टी, पेट के कीड़े की परेशानी आदि में लाभ होता है।

7) पेट की गैस के लिए ( Benefits of Saunf for acidity )

1-2 ग्राम सौंफ की जड़ के चूर्ण का सेवन करने से कब्ज में लाभ होता है। सौंफ के बीज का काढ़ा बना लें। इसे 5-10 मिली मात्रा ( fennel seeds in hindi ) में भोजन के प्रत्येक ग्रास के साथ छोटे बच्चों को पिलाने से बच्चों का कब्ज ठीक होता है। आयु के अनुसार मात्रा में सौंफ के बीजों की चटनी का सेवन करने से डकार और पेट की गैस की समस्या ठीक होती है।

8) बालों के लिए ( Benefits of Saunf for Hair )

बालों में डैंड्रफ, सिर में खुजली और बालों का गिरना ये कुछ ऐसी समस्याएं हैं, जिनसे निजात दिलाने में सौंफ कारगर साबित होती है। इसके ( fennel seeds in hindi ) लिए सौंफ का मिश्रण तैयार करना होगा और उससे अपने बालों को धोना होगा। इससे बालों की उम्र लंबी होती है। नीचे बताई गई विधि के अनुसार इस मिश्रण को तैयार किया जा सकता है।

सामग्री :

1) दो कप पानी

2) तीन चम्मच सौंफ का पाउडर

बनाने की विधि :

2) सौंफ के पाउडर को पानी में डालकर अच्छी तरह से मिला लें।

3) मिश्रण तैयार होने के बाद उसे 15 मिनट के लिए रख दें।

कैसे उपयोग करें ?

बालों को अच्छी तरह से शैंपू करने के बाद तैयार किए गए मिश्रण से बालों को धोएं। ऐसा करने से बालों के गिरने की समस्या से छुटकारा मिलता है।

सौंफ का उपयोग:- How to Use Saunf in Hindi

सौंफ के फायदे जानने के बाद सौंफ का उपयोग करना भी आना चाहिए। अगर आपको सौंफ कच्ची खानी पसंद नहीं है तो आप इसको दूसरे तरीके से खा सकते हैं। सौंफ को खाना इसलिए जरुरी होता है क्योंकि सौंफ खाने के फायदे बहुत सारे हैं। फायदो के बारे में जानने से पहले आप इसको खाने के तरीको के बारे में जान लें। नीचे से आप सौंफ का पानी बनाने की विधि की जानकारी भी ले सकते हैं।

1) सौंफ का पानी : एक कप सौंफ, 8 ग्लास पानी और थोड़ा सा शहद लें और सबको मिलाकर एक पेस्ट बना लें। इन सबको पूरी रात भीगने के लिए छोड़ दें ताकि पानी में सौंफ का फ्लेवर अच्छे से आ जाए। अगली सुबह पानी को छान लें और पूरा दिन सौंफ का पानी पीएं।

2) सौंफ की चाय : ग्रीन टी या ब्लैक टी बनाते समय उसमें थोड़े सौंफ के दाने भी डाल दें और सौंफ के फ्लेवर वाली चाय का स्वाद लें। सौंफ की चाय पीने से आप पेट की परेशीन से दूर रहेंगे।

3) ड़का लगाने के लिए : सब्जी या किसी और चीज़ में तड़का लगाते समय आप सौंफ का इस्तेमाल कर सकते हैं।

4) सलाद में डालें : सौंफ के दानों को पीसकर उसका पाउडर बना लें। पाउडर बनाने के बाद इसको सलाद के ऊपर छिड़कर सलाद का स्वाद लें। सौंफ के पाउडर को आप कई जगह इस्तेमाल कर सकते हैं।

Side Effects of Saunf in Hindi

  • स्तनपान करा रही महिलाओं को सौंफ का अधिक उपयोग करने से परहेज करना चाहिए, क्योंकि इससे शिशु की सेहत पर असर पड़ सकता है।
  • अधिक सौंफ खाने से स्किन की संवेदनशीलता बढ़ सकती है और धूप में निकलना काफी मुश्किल हो सकता है।
  • अगर आप किसी प्रकार की दवाइयों का सेवन करते हैं, तो आपको सौंंफ का अधिक सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
  • सौंफ का अधिक सेवन एलर्जी का कारण बन सकता है।

For more details regarding the Saunf in Hindi : Click Here

सौंफ क्या है?

सौंफ का उपयोग प्राचीन काल से मुंह को शुद्ध (Mouth Freshner) करने और घरेलू औषधि के रूप में होता आ रहा है। इसका ( fennel seeds in hindi ) पौधा लगभग एक मीटर ऊंचा तथा सुगन्धित होता है। इसके पत्तों का प्रयोग सब्जी के रूप में भी किया जाता है। भूमध्यसागरीय इलाके में सौंफ जैसा ही एक पौधा पाया जाता है जिसे एनीसीड (aniseed) कहते हैं। इसका उपयोग इटालवी भोजन में किया जाता है। ( fennel seeds in hindi )

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए सौंफ कैसे फायदेमंद है बताईये?

सौंफ हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक होती है। क्योंकि यह विटमिन-सी प्राप्त करने( fennel seeds in hindi ) का एक प्राकृतिक माध्यम है। सौंफ खाते हुए सिर्फ तन और मन को शांत नहीं किया जा सकता बल्कि रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक कोशिकाओं को बढ़ाने का काम विटमिन-सी ही करता है। विटमिन-सी शरीर में वाइट ब्लड सेल्स यानी WBC काउंट बढ़ाने में सहायता करता है।

पेचिश के लिए सौंफ कैसे उपयोगी है बताईये?

बराबर-बराबर भाग में बेल, नागरमोथा, सौंफ तथा स्थलपद्म के काढ़ा (10-30 मिली) में मिश्री मिलाएं। इसे पीने से आँवयुक्त पेचिश और खूनी पेचिश में लाभ होता है। गेहूँ के आटे में सौंफ मिलाकर उसकी बाटियाँ बनाकर अंगारों पर सेंकें। पकने के बाद उसे कूटकर मिश्री तथा घी मिलाकर सेवन करने से आँवयुक्त पेचिश के दर्द में आराम मिलता है। चार भाग सौंफ (sof) चूर्ण में एक ( fennel seeds in hindi ) भाग इलायची चूर्ण तथा पाँच भाग मिश्री चूर्ण मिला लें।

पेट की गैस के लिए क्या करें?

1-2 ग्राम सौंफ की जड़ के चूर्ण का सेवन करने से कब्ज में लाभ होता है। सौंफ के बीज का काढ़ा बना लें। इसे 5-10 मिली मात्रा ( fennel seeds in hindi ) में भोजन के प्रत्येक ग्रास के साथ छोटे बच्चों को पिलाने से बच्चों का कब्ज ठीक होता है। आयु के अनुसार मात्रा में सौंफ के बीजों की चटनी का सेवन करने से डकार और पेट की गैस की समस्या ठीक होती है।

सौंफ के Side Effects बताईये?

1-2 ग्राम सौंफ की जड़ के चूर्ण का सेवन करने से कब्ज में लाभ होता है। सौंफ के बीज का काढ़ा बना लें। इसे 5-10 मिली मात्रा ( fennel seeds in hindi ) में भोजन के प्रत्येक ग्रास के साथ छोटे बच्चों को पिलाने से बच्चों का कब्ज ठीक होता है। आयु के अनुसार मात्रा में सौंफ के बीजों की चटनी का सेवन करने से डकार और पेट की गैस की समस्या ठीक होती है।

बालों के लिए कैसे फायदेमंद है?

बालों में डैंड्रफ, सिर में खुजली और बालों का गिरना ये कुछ ऐसी समस्याएं हैं, जिनसे निजात दिलाने में सौंफ कारगर साबित होती है। इसके ( fennel seeds in hindi ) लिए सौंफ का मिश्रण तैयार करना होगा और उससे अपने बालों को धोना होगा। इससे बालों की उम्र लंबी होती है। नीचे बताई गई विधि के अनुसार इस मिश्रण को तैयार किया जा सकता है।

आँखों के रोग के लिए कैसे फायदा करती है सौंफ बताईये?

सौंफ के पत्ते के रस में रूई को भिगोकर आँखों पर रखें। इससे आँखों की जलन, दर्द तथा लालिमा की परेशानी ठीक होती है। 1-2 ग्राम सौंफ चूर्ण में 65 मि.ग्रा. खसखस यानी पोस्त के दानों का चूर्ण मिला लें। इसे नियमित सेवन करने से आँखों के रोग ठीक होते हैं तथा आँखों की रोशनी बढ़ती है। सौंफ खाने से आँख के रोग में फायदा मिलता है। 2-4 ग्राम सौंफ चूर्ण में बराबर ( fennel seeds in hindi ) भाग खाँड मिलाकर सेवन करें। इससे मानसिक रोग तथा गाय के दूध के साथ सेवन करने से आँख के रोग ठीक होते हैं।