Indulekha Hair oil Benefits in Hindi ( इंदुलेखा हेयर ऑयल के फायदे )

0
1291

Indulekha Hair oil Benefits:- इंदुलेखा हेयर ऑयल प्राकृतिक रूप से बालों को प्रोटीन प्रदान करता हैं और माना जाता हैं कि यह सभी वनस्पति तेल के अपेक्षा वर्जिन नारियल तेल के रूप में सबसे बेस्ट व अच्छा हैं। इस कारण से Indulekha Hair oil के फायदे बालों को मिलने लगता हैं। Indulekha Hair oil को इस धरती के स्वस्थ व नीरोग तेल के रूप में भी जाना जाता हैं और बालों के समूचे पोषण आहार के लिए Indulekha Hair oil काम करता हैं बालों के झड़ना व रूखापन को ठीक करता हैं। बालों को सिल्क करने के साथ-साथ नया बाल उगाने में सहयोग करता हैं।

Indulekha Hair oil Benefits

Table of Contents

यह 100% आयुर्वेदिक तेल हैं इस वज़ह से Indulekha Hair oil के फायदे मिलना स्वाभाविक हैं। तो आज हम बात करेंगे इंदुलेखा ब्रिंघा ऑयल Indulekha Bringha Oil की | इसके फायदे क्या है, कैसे इस्तेमाल करें और प्राइस की? आपने इंदुलेखा ब्रिंघा तेल के विज्ञापन तो देखे होंगे। सबसे ज्यादा विज्ञापन टीवी पर इसी तेल के विज्ञापन आ रहे हैं और जो लोग इस्तेमाल कर रहे हैं, उनका भी कहना है कि यह तेल काफी हद तक कारगर भी है . आजकल लंबे घने खूबसूरत बाल तो मानो एक सपना हो गया हो। आजकल बहुत से लोग बालों के झड़ने की समस्या से परेशान हैं।

अगर किसी के बाल नहीं झड़ने तो वह डैंड्रफ या फिर सफेद बालों की समस्या से परेशान है। पहले एक समय था कि 40 साल की उम्र के बाद बाल झड़ना शुरू होते थे या फिर बालों में कोई तकलीफ होती थी लेकिन आजकल हर उम्र और चाहे मर्द हो चाहे महिला हर किसी के बालों में कोई ना कोई तकलीफ हो रही है। आजकल के 19-20 साल के युवा वर्ग में बहुत ज्यादा बालों की तकलीफ हो रही है। सबसे ज्यादा बाल लड़कों के झड़ रहे हैं। इसके पीछे बहुत से कारण हो सकते हैं। जैसे कि मानसिक चिंता या फिर बाहर का घटिया, खान पान इत्यादि।

Indulekha Tel Kya Hai

जैसा कि इंडिया में आयुर्वेद का काफी शतकों से इस्तेमाल होता आया है. और आयुर्वेदिक दवा साइड इफेक्ट्स फ्री भी होती है इसलिए ये इंडिया में काफी प्रचलित है. Indulekha Hair oil की बात करे तो ये आयुर्वेदिक औषधि है. और ये एक आयुर्वेदिक हेयर ऑयल है. इसमें आपके भृंगराज, स्वेतकुंताजा, वर्जिन कोकोनट ऑयल जैसे काफी बालों की समस्या को दूर करने वाले घटक है और इन्ही सभी प्रारूपों का इंदुलेखा तेल एक शक्तिशाली मिश्रण है.

झड़ते बालों की समस्या एक आम समस्या है और आजकल हर उम्र के लोगों का बाल झड़ने लगा है। 20 से 30 सालों के युवाओं के बाल भी खूब झड़ने लगे हैं और इस आयु में युवा जब अपने करियर पर पूरा ध्यान केंद्रित करने की सोचते हैं तब उनका बाल झड़ना स्वाभाविक बन गया है। केवल लड़कियां ही नहीं झड़ते बालों से लड़के भी परेशान हैं। नये बाल उगने में बहुत समस्या आती है और ऐसे लोग 50,000 रुपये से 1 लाख रुपये देकर हेयर ट्रांसप्लांट कराने में खर्च कर देते हैं लेकिन बहुत से लोगों के पास पैसा नहीं होता था |

वो हेयर ट्रांसप्लांट करवा सकें। उनके लिए ये तेल बहुत फायदेमंद होगा।जो लोग हेयर ट्रांसप्लांट भी करवाने में कई बार सोचते हैं और उन्हें भी इस लेख को जरूरी पढ़ लेना चाहिए। आयुर्वेदिक औषधियों से बना ये हेयर ऑयल आपके बालों का झड़ना कम कर सकता है और नये बाल उगाने में सहायक होता है।

Indulekha Hair oil Benefits

क्यों काम में लेना चाहिए इन्दुलेखा ब्रिंगहा हेयर आयल- Indulekha

इन्दुलेखा ब्रिंगहा हेयर आयल बहुत सारे उपयोग है। सिर्फ एक नहीं लेकिन बहुत सरे उदेशियों के लिए आप यह हेयर आयल इस्तेमाल कर सकते है। यह तेल आपकी बहुत सारी समस्याओं का हल है। बालों का सही से ध्यान रखने में यह तेल बहुत सहायता करता है। इसके कारण बालों का झड़ना, डैंड्रफ की समस्या , बालों का पतलापन आदि मुश्किलें दूर हो जाती है। इन्दुलेखा ब्रिंगहा आयल की वजह से आपके बाल घने होने शुरू हो जाते है। यह आपके बालों को अच्छे से पोषण प्रदान करता है, जिसकी वजह से बाल सफ़ेद नहीं होते और लम्बे होने लगते है। इन सब फायदों को पाने के लिए जरूरी है की आप इन्दुलेखा ब्रिंगहा हेयर आयल से अपने सिर में अच्छे से मालिश करें।

इन्दुलेखा हेयर आयल कैसे यूज़ करें?(How to use Indulekha Hair Oil)

सबसे पहले बोतल के भीतर की टोपी खोले और तेल टपकने के लिए एक छेंद बनाएं। एप्लीकेटर लगातार कैप को सील होने तक घुमाएं। एप्लीकेटर जो कि चौड़े दांतों का होता है उसकी सहायता से बालों को अलग अलग कर लें। एप्लीकेटर के नीडल को अपने सिर के संपर्क में रखते हुए इस तरह से बोतल को दबाएं जैसे पर कंघी कर रहे हो। जैसे ही आप बोतल दबाएंगे एप्लीकेटर के नीडल से तेल बाहर आएगा और सिर में फैलने लगेगा। ऐसा तबतक करें जब तक कि तेल पूरे सिर में न लग जाए। फिर जब तेल लग जाए तो धीरे धीरे मालिश करें।

  • सबसे पहले कंघी खोल ले ।
  • अब जहां पर कंघी लगी है उसके दातो में छेद कर ले ।
  • उसके बाद कंघी को वापिस लगा दे ।
  • फिर अपने पूरे सिर में कंघी करे और बॉटल को हल्के हाथ से दबाए ताकि तेल बाहर आ सके ।
  • उसके बाद अपने हाथों की उंगलियों से पूरे सिर की मालिश करे ।
  • इंदुलेखा तेल को 3–4 घंटो के लिए लगा रहने दें ।
  • उसके बाद अपने सिर को किसी Shampo से धो ले हो सके तो इन्दुलेखा के Shampoo का इस्तेमाल करें ।

Ingredients in Indulekha Bringha Hair oil

इंदुलेखा तेल या इन्दुलेखा हेयर ऑयल में भृंगराज, श्वेत कुटज, आमला, एलो वेरा, नीम, कपूर और नारियल तेल जैसे बहुत से गुणकारी पदार्थों से मिलाकर बनाया जाता है लेकिन जो पदार्थ इंदुलेखा भृंगा को खास बनाते हैं और आपके बालों को पोषण देते हैं । उनके बारे में विस्तार से जानते हैं

1) भृंगराज

आयुर्वेद में भृंगराज को केशराज यानि केशों का राजा भी कहा जाता है | ये बालों के लिए अति गुणकारी ओषधि है जिसे बहुत सारे तेलों Oil और दूसरे बालों से जुड़े उत्पादों में प्रयोग किया जाता है |

ये बालों का झड़ना बंद करता है और साथ ही नए बालों को उगाने और बालों की ग्रोथ में भी बहुत फायदेमंद है | भृंगराज तेल आपके स्कैल्प में अच्छी तरह से अब्सॉर्ब हो जाता है जिससे ये स्कैल्प में गहराई तक चला जाता है |

इसे लगातार इस्तेमाल करने से ये आपके बालों तक खून के दौरे को बढ़ा देता है | जिससे ज्यादा पोषक तत्व आपके बालों तक पहुँच पाते हैं | ये पोषक तत्व ही आपके कमजोर और छोटे बालों को बढ़ने में सहायता करते हैं |

साथ ही कमजोर बालों को टूटने से भी बचाते हैं | इस तेल के इस्तेमाल से तनाव से भी मुक्ति मिलती है | इसमें बालों की ग्रोथ के लिए जरूरी मिनरल्स होते हैं जिससे बालों का झड़ना बंद हो जाता है | इंदुलेखा तेल

2) श्वेत कुटज

ये भी Indulekha Hair oil के मुख्य घटकों में से एक है | इसमें एंटी बैक्टीरियल और Anti Inflammatory गुण पाए जाते हैं इसे त्वचा सम्बन्धी रोगों में भी प्रयोग किया जाता है | यह सफ़ेद दाग, कुष्ठ रोग और त्वचा के दूसरे रोगों में बहुत लाभकारी है | इससे स्कैल्प में किसी भी प्रकार के चमड़ी रोग में लाभ पहुँचता है और Dandruff भी ख़तम होता है |

3) आंवला

आयुर्वेद में आंवले को हज़ारों सालों से प्रयोग किया जा रहा है | अपने अद्भुत गुणों के कारण इसे बहुत सी आयुर्वेदिक दवाओं में प्रयोग किया जाता है | बालों से जुड़ी बहुत सी समस्याओं जैसे बालों का गिरना, सफ़ेद होना और रुसी का कारण विटामिन सी की कमी भी होता है |

आंवले में विटामिन सी की बहुत अच्छी मात्रा पाई जाती है | आंवले में मौजूद विटामिन सी कॉलेजन प्रोटीन का निर्माण करता है जो कि बालों की मृत कोशिकाओं को हटाकर नए बालों का निर्माण करता है | आंवला में मौजूद फैटी एसिड बालों की जड़ों को ताक़त देते हैं और उन्हें टूटने से बचाते हैं |

4) Virgin Coconut Oil

नारियल के तेल में Lauric Acid नाम का एसिड पाया जाता है जो कि बालों में प्रोटीन को खत्म होने से रोकता है | नारियल का तेल अपनी सघनता की वजह से बालों की जड़ों में स्कैल्प के अंदर तक असर करता है |

पसीने की वजह से बालों की बहुत सी परेशानियां पैदा हो जाती है क्यूंकि पसीने की वजह से Bacteria पनपने लगता है | नारियल तेल में Cooling Properties होने की वजह से ये बालों में पसीने को कम कर बालों की समस्याओं को कम करता है |

इन्दुलेखा ब्रिंगहा हेयर आयल इस्तेमाल करते वक़्त इन बातों का जरूर ध्यान रखें

यह तेल सिर्फ बाहरी प्रयोग के लिए ही है। इस हेयर आयल को प्रयोग में लेने से पहले यह जरूर जांच ले की इसके किसी भी इंग्रीडिएंट से आपको एलर्जी तो नहीं है। अगर ऐसा है तो इसको इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर से कंसल्ट कीजिये। प्रेग्नेंट महिलाओं को यह तेल इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी। बिना सलाह के इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। ऐसा करना हानिकारक हो सकता है। अगर आपकी कोई भी विटामिन की दवाई या कोई विटामिन का कोर्स चल रहा है तो इस हेयर आयल को इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह ले लेनी चाहिए। स्तनपान के दौरान भी इस हेयर आयल को प्रयोग में लेने से पहले डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए।

इंदुलेखा हेयर ऑयल के फायदे (Benefits of Indulekha Hair oil)

1) इसमें आंवला भी मिला है।आंवला में विटामिन सी होता है, जो बालों को सफ़ेद होने से रोकता है और बालों को मज़बूत बनाता है। यह स्कैल्प से डेड सेल्स को हटाता है और नए बाल उगने में मदद करता है।

2) ब्राह्मी बालों की समस्या के लिए रामबाण है। यह बालों में चमक लाता है और उन्हें बेजान होने से बचाता है, साथ ही रूसी व दोमुंहे बालों से छुटकारा दिलाता है।

3) इंदुलेखा तेल में है भृंगराज। भृंगराज के बारे में हम सभी जानते हैं कि यह बालों के लिए बहुत अच्छा होता है और आयुर्वेद में इसका उपयोग प्राचीन समय से चलता आ रहा है।

4) इस तेल में नीम भी होता है, जिसकी वजह से बैक्टीरिया मर जाते हैं और स्कैल्प में इंफेक्शन नहीं होता है। यह बालों को बढ़ने में भी मदद करता है।

5) इंद्रायव के Antibacterial And Antiinflammatory Properties Allergic Reaction को कम करता है और स्कैल्प संबंधी समस्याओं को खत्म करता है।

इन्दुलेखा तेल 

इंदुलेखा तेल के नुकसान (Indulekha oil Side Effects in Hindi )

इंदुलेखा तेल के नुकसान के बारेमें बात करें तो ये तेल आयुर्वेदिक होने की वजह से इसके कोई नुक्सान नहीं है लेकिन जिन लोगों को कुछ खुशबूओं से Allergy है तो उनको ये तेल लगाने से बचना चाहिये। यदि फिर भी कोई दिक्कत हो रही है तो अपने स्किन डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

इंदुलेखा तेल की कीमत (Indulekha oil price in Market in Hindi )

यदि इंदुलेखा तेल की कीमत की बात करें तो तो इसके 100 ml बॉटल की कीमतकी MRP 450 रूपए है लेकिन ये कुछ छूट के साथ अमेज़न पे 357 रूपए मैं उपलब्ध है। इसकी बॉटल 50 ml मैं भी आती है जिसका प्राइस 234 रूपए है। लेकिन 100 mil की बॉटल पर्याप्त है। ये जो प्राइस हम आपको बता रहे हैं इसमें परिवर्तन हो सकता है अतः वर्तमान प्राइस जाने के लिए ऐमज़ॉन लिंक पे क्लिक करें।

TOP 10 BEST HAIR OILS FOR ALL HAIR TYPES IN HINDI ( 2022 ) ( बालों के लिए 10 सबसे अच्छे तेल )

इन्दुलेखा आयल कैसे यूज़ करे?

सबसे पहले कंघी खोल ले ।
अब जहां पर कंघी लगी है उसके दातो में छेद कर ले ।
उसके बाद कंघी को वापिस लगा दे ।
फिर अपने पूरे सिर में कंघी करे और बॉटल को हल्के हाथ से दबाए ताकि तेल बाहर आ सके ।
उसके बाद अपने हाथों की उंगलियों से पूरे सिर की मालिश करे ।

इंदुलेखा ऑयल कितने का आता है?

Indulekha भृंगा बालों का तेल : Amazon.in: ब्यूटी चेकआउट पर दिखाई गई शिपिंग लागत, डिलीवरी की तारीख और ऑर्डर की कुल राशि (टैक्स सहित). ₹190.00 फ़्री डिलीवरी।

इंदुलेखा शैंपू का इस्तेमाल कैसे करें?

सबसे पहले बालों में कंघी कर लें |
इसके बाद बालों में कोई अच्छा तेल लगा लें | आप इन्दुलेखा हेयर आयल का प्रयोग भी कर सकते हैं |
बालों में तेल लगाने के बाद उसे लगभग 15 से 20 मिनट तक बालों में लगा रहने दें |

इंदुलेखा ऑयल हफ्ते में कितनी बार लगाना चाहिए?

मध्यम स्तर के बाल

ऐसे बालों की वृद्धि और पौष्टिकता के लिए आप सप्ताह में 3 से 4 बार इनमें तेल की मालिश करें। ऐसा करने से इनका रूखापन भी समाप्त हो जाएगा और आपके बालों में अधिक तेल भी नहीं दिखाई देगा।

बालों के लिए सबसे अच्छा तेल कौन सा है?

5 हेयर ऑयल बालों के लिए सबसे अच्…
नारियल तेल (Coconut Oil): बालों को तेज़ी से बढ़ाता है …
ऑलिव ऑयल (Olive Oil): बालों को नर्म-मुलायम बनाता है …
बादाम तेल (Almond Oil): बालों को मज़बूत बनाता है …
एवोकेडो ऑयल (Avocado Oil): बालों की चमक बढ़ाता है …
कैस्टर ऑयल (Caster Oil): बालों को घना बनाता है

इंदुलेखा तेल लगाने से बाल बढ़ते हैं क्या?

यह तेल आपके बालों में जरूरी पोषक तत्व पहुंचाता है, जिससे छोटे बालों को तेजी से बढ़ने में मदद मिलती है। यह तेल जड़ों में अंदर गहराई तक जाकर पोषण देता है, जिससे बालों के टूटने और झड़ने की परेशानी खत्म होने लगती है।

केश किंग ऑयल से क्या होता है?

जब मैंने Kesh King Oil का इस्तेमाल किया तो मैंने देखा कि मेरे बाल जो झड़ रहे थे वह बिल्कुल झड़ना बंद हो गए और अब मेरे बाल बहुत ही अच्छे है एवं ना के बराबर झड़ते हैं। तो मैं आपको बता दूं कि केश किंग बालों के झड़ने की समस्या के लिए बहुत ही फायदेमंद है।

बालों में तेल कब लगाना चाहिए?

जब बाल लंबे, घने और स्वस्थ होने के साथ समय से पहले नहीं टूटते हैं, तो इससे बालों की क्वालिटी बढ़ती है। इसलिए रात में सोने से पहले अपने बालों और स्कैल्प में अच्छी तरह तेल लगाना चाहिए। अगली सुबह गुनगुने पानी से बालों को धो लेना चाहिए

इंदुलेखा तेल और शैंपू कैसे यूज़ करते हैं?

इंदुलेखा भृंगा ऑयल का इस्तेमाल करें, इसमें है भृंगराज, श्वेतकुत्ज, आंवला और नीम के सत्व तथा और दूसरी औषधियां भी. उंगलियों के बजाय बॉटल के साथ मिलनेवाली सेल्फ़ी कोम का इस्तेमाल करके तेल को सीधे स्कैल्प पर लगाएं. इससे तेल सीधे स्कैल्प तक पहुंचेगा और आपको इसका फ़ायदा भी अधिक होगा.

हफ्ते में कितनी बार लगाना है?

नॉर्मल स्कैल्प वाले लोग 3-4 दिनों के अंतर पर धोएं बाल

अगर आपकी स्कैल्प ना तो ड्राय है, ना ही ऑयली और बिल्कुल फ्लेक-फ्री और शैंपू करने के बाद तीन दिनों तक आपके बाल फ्रेश और साफ महसूस होते हैं तो आप हर चौथे दिन बाल धो सकती हैं।

कंडीशनर हफ्ते में कितनी बार लगाना चाहिए?

तो ये आपके बालों पर डिपेंड करता है कि आप बालों को कब और कैसे धोएं. अगर आपके बाल घुंघराले हैं तो आपको उसे रोज धोने की जरूरत नहीं. वहीं अगर आपके बाल ऑयली हैं तो आप हफ्ते में दो बार अपने बालों को धो सकती हैं.

प्याज का रस हफ्ते में कितनी बार लगाना चाहिए?

अब मिश्रण को अपने स्कैल्प पर लगाकर सर्कुलर मोशन में मालिश करें. फिर इसे आधे घंटे तक बालों में लगा रहने दें. उसके बाद शैम्पू से धो लें. इसे हफ्ते में दो से तीन बार लगाएं.

बाल झड़ने से रोकने के लिए कौन सा तेल लगाएं?

बाल झड़ने की समस्या के लिए आप एलोवेरा का तेल भी बना सकते हैं. इसके लिए आधा कप एलोवेरा जेल और आधा कप ही कोकोनट ऑयल लेकर एक पैन में अच्छी तरह गर्म कर लें. इसके बाद इसे ठंडा करके हफ्ते में 2 बार लगाएं.

बाल झड़ने पर कौन सा तेल लगाया जाता है?

बालों के लिए भृंगराज तेल: भृंगराज एक औषधीय आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है। इसका इस्तेमाल प्राचीन काल से ही बालों को स्वस्थ रखने के लिए किया जाता रहा है। भृंगराज को बालों के लिए वरदान माना जाता है। दरअसल, भृंगराज तेल स्कैल्प में रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है जिससे बालों का तेजी से विकास होता है।

क्या झड़े बाल वापस आते है?

इसलिए जैसे बाल अधिक झड़ने लगे तुरन्त उसका कारण जानने के लिए डॉक्टर की सलाह और संतुलित और पौष्टिक आहार लेना चाहिए। इससे कुछ हद तक बालों का गिरना रोका जा सकता है, लेकिन नए बालों का आना संभव नहीं होता है।

गीले बालों में तेल लगाने से क्या होता है?

ऐसा नहीं करना चाहिए, क्योंकि अगर आप गीले बालों में तेल लगाते हैं, तो इनमें धूल और मिट्टी चिपक जाती है. ऐसे में यह गंदे होकर टूटने लगते हैं. अगर आपके बाल टूट रहे हैं और रूखे, बेजान हैं, तो आपको इनकी कंडीशनिंग के लिए ज्‍यादा देर तक के लिए तेल लगाना चाहिए.

भृंगराज बालों में कैसे लगाएं?

हेयरमास्क बनाने के लिए सबसे पहले भृंगराज को लेकर पानी में भिगो दें। इसके बाद इसे पीकर गाढ़ा पेस्ट बना लें। इतना गाढ़ा पेस्ट बनाए कि यह आपके बालों में ठीक ढंग से लग जाए। अब इस पेस्ट में नारियल तेल डालकर अच्छी तरह से मिक्स कर लें।