Benefits of Kadi Patta in Hindi- Health Benefits of Kadi Patta or Curry Leaves

0
51
Benefits of Kadi Patta

Benefits of Kadi Patta(curry leaves in Hindi)। Benefits of Kadi Patta। curry leaves in Hindi।

Benefits of Kadi Patta(curry leaves in Hindi)

मीठी नीम के पतों में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो हमरी सेहत के लिए काफी गुणकारी होते हैं। इसे मीठी नीम को करी पत्ता, कड़ी पत्ता भी कहा जाता है। पहले मीठी नीम का इस्तेमाल सिर्फ दक्षिणी भारत में अधिक किया जाता था, लेकिन आजकल हर रसोई घर में मसाले के रूप में करी पत्ता का इस्तेमाल किया जाता है। करी पत्ता का इस्तेमाल खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है।आज हम आपके साथ हमारे इस लेख के माध्यम से करी पत्ता से जुडी सभी आवश्यक जानकारी जैसे करी पत्ता के फायदे, करी पत्ता के नुकसान, करी पत्ता क्या होता है?, करी पत्ता के पोषक तत्व आदि पर चर्चा परिचर्चा करेंगे।

Kadi Patta(curry leaves in Hindi)

करी पत्ता का वैज्ञानिक नाम मुराया कोएनिजी है।करी पत्ता रटैसी परिवार की सदस्य है। करी पत्ता का उत्पादन सबसे पहले भारत में किया गया था और अब ऑस्ट्रेलिया में भी करी पत्ता की खेती की जाती है। करी पत्ता में कई पोषक तत्व पाए जाते है। करी पत्ता का सेवन करने से काई गंभीर रोगो का इलाज किया जा सकता है।

Nutrients of Curry Leaves in Hindi

करी पत्ता में लोहा, कैल्शियम, फास्फोरस और कई प्रकार के विटामिन्स पाए जाते हैं। यह हमारे शरीर को एनीमिया, हाई बीपी, मधुमेह आदि रोगों से बचाने में सहायक होते हैं। मीठी नीम में विटामिन B2, B6 और B9 प्रचुर मात्रा में पाए जाते है, जो बालो के स्वास्थ्य के लिए काफी गुणकारी होते है। करी पत्ता में कैरोटीन (विटामिन ए के रूप में), निकोटिनिक एसिड, विटामिन सी भी प्रचुर मात्रा में पायी जाती है। 

Benefits of Kadi Patta in Hindi

वजन कम करने के लिए (Kadi Patta to lose weight)

मीठी नीम के पत्तो में उपस्थित डाइक्लोरोमेथेन, एथिल एसीटेट और महानिम्बाइन पाए जाते हैं, जो वजन घटाने, कोलेस्ट्रॉल को कम करने और ट्राइग्लिसराइड (फैट का एक प्रकार) के स्तर को नियंत्रित करने में सहायक होते है। मोटापे की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप करी पता का सेवन कर सकते है।

एनीमिया के लिए (Kadi Patta For anemia)

मीठी नीम के पत्तो में एंटी एनीमिया औषधीय गुण मौजूद होता हैं । यह एनीमिया की समस्या से निजात दिलाने में सहायक होता है। मीठी नीम के पत्तो में कैल्सियम आयरन, जिंक और वैनेडियम जैसे खनिज प्रदार्थ भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते है। जो एनीमिया की समस्या को दूर करने में सहायक होते है। करी पत्ते का सेवन करने से आप एनीमिया की समस्या से छुटकारा पा सकते है।

डायबिटीज के लिए (Kadi Patta For diabetes)

मीठी नीम के पत्तो में हाइपोग्लाइसेमिक (शुगर लेवल को कम करना) औषधीय गुण मौजूद होते है, जो हमारे शरीर में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने में सहायक होते है। नियमित रूप से मीठी नीम के पत्तो का सेवन करने से आप डायबिटीज जैसे रोग को नियंत्रित कर सकते है।

लिवर के लिए (Kadi Patta For liver)

मीठी नीम के पत्तो में टैनिन और कारबाजोले एल्कलॉइड पाए जाते हैं। इन तत्वों में हेप्टोप्रोटेक्टिव गुण मौजूद होते हैं। यह गुण लिवर की काम करने की क्षमता को बढाने में सहायक होते हैं। इसके अतिरिक्त यह हेपेटाइटिस और सिरोसिस जैसी गंभीर बीमारियों का इलाज करने में सहायक होते है।

डायरिया के लिए (Kadi Patta For diarrhea)

मीठी नीम के पत्तो में कार्बाजोले एल्कलॉइड्स पाया जाता है, जो डायरिया की समस्या को ठीक करने में सहायक होते है।करी पत्ता का सेवन करने से आप डायरिया की समस्या से छुटकारा पा सकते है।

ह्रदय के लिए (Kadi Patta For Heart)

कढ़ी पत्ता में विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण प्रचुर मात्रा में पाए जाते है। यह ह्रदय संबंधित समस्याओ का निवारण करने में सहायक होते हैं। इसके अतिरिक्त यह कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में भी सहायक होता है। ह्रदय संबंधित समस्याओ से छुटकारा पाने के लिए आ करी पत्ता का सेवन कर सकते है।

कोलेस्ट्रोल के लिए (Kadi Patta For cholesterol)

कढ़ी पत्ते में विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइन्फ्लामेट्री गुण मौजूद होते हैं।जो कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में सहायक होते है। कढ़ी पत्ते का सेवन करने से हमारे शरीर में बैड केलेस्ट्रोल को नियंत्रित किया जा सकता है।

संक्रमण से बचाव के लिए (Kadi Patta To Prevent Infections)

मीठी नीम के तेल में एंटीबायोटिक और एंटीफंगल औषधीय गुण पाए जाते हैं। यह गुण बैक्टीरिया और फंगल संक्रमण होने पर काफी असरकारी होते है और साथ में यह उनके प्रभाव को कम करने में सहायक होते है।करी पत्ता का सेवन करने से आप संक्रमित रोगो से बचा सकते है।

त्वचा के लिए (Kadi Patta For Skin)

कढ़ी पत्ते में एंटी एजिंग, एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटीबायोटिक और एंटीफंगल औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो त्वचा पर पिम्पल, मुहसो, जले-कटे और बैक्टीरियल इन्फेक्शन को ठीक करने में सहायक होते है। करी पते का तेल त्वचा को जवां रखने में सहायक होता है।आप चेहरे पर मीठी नीम की पत्तियों जा पेस्ट बना कर भी इस्तेमाल कर सकती है। और इसके तेल का भी इस्तेमाल कर सकती है।

बालों के लिए (Kadi Patta For hair)

करी पत्तो में विटामिन B2, B6 और B9 प्रचुर मात्रा में पाए जाते है, जो बालो के स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होते है। इसके अतिरिक्त करी पत्ता में कैरोटीन (विटामिन ए के रूप में) भी पाया जाता है। करी पत्ते का तेल बालों में लगाने से बालों की जड़ें मजबूत होती हैं और बालो का झड़ना कम हो जाता है। करी पत्त्ते के तेल का नियमनित रूप से इस्तेमाल करने से बालो के भूरे होने की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

यह भी देखे –>> Fenugreek Benefits in Hindi

Side Effects of Kadi Patta in Hindi

करी पत्ते का के कुछ लोगो में एलर्जिक इफेक्ट भी देखे जा सकता हैं।ऐसा हने पर आप करी पत्ता के सेवन ना करे।

गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को करी पत्ता का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर ले।

कभी कभी कुछ लोगो में करी पत्ता के तेलका इस्तेमाल करने से बालों की जड़े कमजोर होने और झड़ना शुरू हो सकते है।

For more Details Regarding Curry Leaves in Hindi: Click Here