Benefits of Khajur- Healthy Benefits Of Dates, खजूर के फायदे

0
703
Benefits of Khajur

Khajur:- खजूर की खेती सदियों से की जाती है । आप खजूर का सेवन फ्रेश भी कर सकते है और सुखाकर भी सेवन कर सकते हैं। खजूर कई प्रकार के होते है। खजूर हमारी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होते है। खजूर जब पक्का हुआ होता है तब उसका रंग गहरा पीला और लाल रंग होता है। और सूखा खजूर भूरे रंग का होता है। आज हम आपको हमारे इस लेख के माध्यम से खजूर से जुडी सभी आवश्यक जानकारी जैसे खजूर क्या होता है ? , खजूर के फायदे, खजूर के नुकसान, खजूर के पोषक तत्व आदि पर चर्चा परिचर्चा करेंगे।

Khajur (Dates in Hindi)

Table of Contents

खजूर का वैज्ञानिक नाम फीनिक्स डेक्टाइलीफेरा (Phoenix Dactylifera) है। इसे इंग्लिश में डेट्स और अरबी में तवारीख और फ्रेंच में पामियर कहा जाता है। खजूर पाल्म ट्री की प्रजाति का होता है। खजूर का पेड़ 21-23 मीटर ऊँचा, स्थूल, विशाल होता है।खजूर के पेड़ का तना शाखाविहीन कठोर, गोलाकार और खुरदरा होता है। खजूर की खेती रेगीस्तान में, कम पानी और शुष्क वातावरण में की जाती है। खजूर के पेड़ पर भी नारीयल के पेड की तरह ऊपरी भाग में पत्तों के नीचे, घोसलों में खजूर के फल लगते है। खजूर पकने पर भुरे तथा चिपचिपे हो जाते है। सूखे खजूर को खारक कहते है।

खजूर की खेती इराक, ईरान, अरब और उत्तरी अफ्रीका से लेकर मोरक्को तक पश्चिम में की जाती है। खजूर (विशेष रूप से मेडजूल और डीगलेट नूर) की खेती अमेरिका में दक्षिणी कैलिफोर्निया, एरिजोना, दक्षिणी टेक्सास और संयुक्त राज्य अमेरिका में दक्षिणी फ्लोरिडा में और सोनोरा में और बाजा कैलिफोर्निया में भी की जाती है।

खजूर कई प्रकार के होते है, जैसे अजवा (Ajwa) , डेगलेट नूर (Deglet noor), मेडजूल (Medjool), हल्लवी (Hallawi), बरही (Barhee) , हयानी (Hayany), खदरावई (Khadrawi), डेयरी (Dayri), इतिमा (Itima) आदि खजूर होते है। 

Nutrients of Khajur

पके खजूर में लगभग 80% शर्करा उपस्थित होती है। खजूर में प्रचुर मात्रा में प्रोटीन, फाइबर, पोटैशियम बोरॉन, कोबाल्ट, तांबा, फ्लोरीन, मैग्नीशियम, मैंगनीज, सेलेनियम और फास्फोरस विटामिन-बी6, ए और के उपस्थित होते हैं।

खजूर में कैफीक एसिड ग्लाइकोसाइड 3-O-caffeoylshikimic एसिड (जिसे डक्टाइलिफ्रिक एसिड के रूप में भी जाना जाता है) और इसके आइसोमर्स एंजाइम ब्रोइंग सब्सट्रेट के रूप में पाए जातेहैं।खजूर में कार्बोहाइड्रेट, आयरन, फैट्स, डायटरी फाइबर और फैटी एसिड्स भी मौजूद होती हैं। खजूर में पाए जाने वाले सभी पोषक तत्व हमारे शरीर को रोगों से बचाने में सहायक होते हैं।

यह भी देखे –>> Muskmelon In Hindi

Benefits of Khajur

ह्रदय के लिए (Khajur Benefits For Heart)

खजूर में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते है , जो आर्टरी सेल्स में कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक होते हैं । खजूर के नियमित सेवन से धमनियों (आर्टरी) के सख्त होने और धमनियों में प्लाक भरने की समस्या यानी एथेरोस्क्लेरोसिस रोग को भी रोका जा सकता है।मोटापा भी ह्रदय संबंधी रोग का कारन बन सकता हैं। खजूर का सेवन करने से भी वजन को नियंत्रित किया जा सकता है। क्योंकि खजूर में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाए जाते है।खजूर का सेवन करने से हृदय संबंधित जोखिमों को कम किया जा सकता है।

हड्डी के लिए (Khajur Benefits For bones)

खजूर में मैग्नीशियम, सेलेनियम, कॉपर और मैंगनीज प्रचुर मात्रा में पाए जाते है। खौर में पाए जाने वाले सभी पोषक तत्व हड्डियों को मजबूत बनाने और हड्डियों से संबंधित समस्याओ से छुटकारा दिलाने में सहायक होते हैं। खजूर में विटामिन-के भी मौजूद होता है, जो रक्त को गाढ़ाकरने में सहायक होता है। खजूर में बोरॉन भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो हड्डियों के लिए काफी गुणकारी होता है। नियमित रूप से खजूर का सेवन करने से आप हड्डियों संबंधित समस्याओ से छुटकारा पा सकते है।

रक्तचाप के लिए (khajur Benefits For blood pressure)

खजूर में पोटैशियम और मिनरल्स प्रचुर मात्रा में पाया जाते हैं, जो रक्तचाप को नियंत्रित करने में सहायक होता है। लगभग 167 मिलीग्राम पोटैशियम करीब 24 ग्राम मेडजूल खजूर में पाया जाता है, जो काफी अधिक होता है। हमारे शरीर में पोटैशियम की सही मात्रा मौजूद होने से गुर्दे की पथरी की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। खजूर में पाए जाने वाले पोटैशियम, मैग्नीशियम और फाइबर की वजह से इसका इस्तेमाल रोजाना किया जा सकता है। खजूर में उपपस्थित मैग्नीशियम ह्रदय और रक्त वाहिकाओं की मांसपेशियों को आराम देता है।

ऊर्जा बढ़ाने वाला (Khajur Benefits Energy boosters)

खजूर में फ्रूटोज और ग्लूकोज तथा कार्बोहायड्रेट आदि प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जिससे हमारे शरीर में ऊर्जा बनी रहती है। खजूर का सेवन करने से शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा किया जा सकता है। नियमित रूप से खजूर का सेवन करने से हमारे शरीर में ऊर्जा बनी रहती है।

सूजन कम करने के लिए (Khajur benefits To reduce inflammation)

खजूर में कई पोषक तत्व पाए जाते है जो दर्द और सूजन से लड़ने वाले में सहायक होते हैं ।खजूर में मैग्नीशियम पर्याप्त मात्रा में मौजूद होता है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायक होता है। खजूर का नियमित रूप से सेवन करने से आप सूजन की समस्या से छुटकारा पा सकते है।

यौन स्वास्थ्य के लिए (Khajur Benefits For sexual health)

खजूर में पाए जाने वाले प्रोटीन में 23 तरह के एमिनो एसिड उपस्थित होते हैं।यह यौन स्वास्थ्य के लिए काफी गुणकारी होते हैं। खजूर के पराग का सेवन करने से यौन स्वास्थ्य बनाए रखने में सहायक होता है। इसे प्रजनन क्षमता बढ़ती है। खजूर के पराग का इस्तेमाल यौन संबंधी समस्या दूर वाली दवाइयों में भी किया जाता है ।

गर्भावस्था के दौरान (Khajur Benefits during pregnancy)

खजूर में फ्रुक्टोज शर्करा पई जाती है, जो हमारे शरीर में ब्लड शुगर के स्तर में बदलाव किए बिना ऊर्जा प्रदान करता है। गर्भावस्था के दौरान महिला को अतिरिक्तरा की आवश्यकता होती है। इसमें 300 कैलोरी मौजूद होती है, अतिरिक्त ऊर्जा की जरूरत को पूरा करने का कार्य करता है ।खजूर में फाइबर पाए जाते है जो बवासीर को कम करनेमें सहयक होता है। गर्भावस्था के दौरान खजूर का सेवन ककरण से पहले चिकित्सक से परमर्श जरूर करे।

इम्युन सिस्टम के लिए (Khajur Benefits For immune system)

खजूर में प्रोटीन, आयरन और विटामिन प्रचुर मात्रा में पाया जाती है। खजूर में उपस्थित प्रोटीन मांसपेशियों को मजबूत बनाने में सहायक होती है। खजूर में एंटीबैक्टीरियल गुण भी मौजूद होते हैं। यह हमारे शरीर को कई संक्रमित रोगो से बचाने में सहायक होता है।खजूर में कैंसर जैसी गंभीर रोग से बचाने की क्षमता होती है।खजूर हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है।

कब्ज के लिए (Khajur Benefits For constipation)

खजूर का गूदा कब्ज के इलाज में काफी सहायक होता है। खजूर में कई पोषक तत्व पाए जाते है, जो गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल संक्रमण को भी नियंत्रित रखने के सहायक होते हैं।हमारे शरीर में फाइबर की कमी से कब्ज की समस्या उत्पन्न हो जाती है।खजूर में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाए जाते है, जो कब्ज की समस्या को दूर करने में सहायक होते है। खजूरका सेवन करनेसे पेट संबंधित कैंसर और पेट संबंधित को रोकने में सहायक होते है।

कोलेस्ट्रॉल के लिए (Khajur Benefits For cholesterol)

खजूर में पोटैशियम प्रचुर मात्रा पाए जाते है, जो हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक होते है ।खजूर का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित किया जा सकता है। खजूर का रोजाना सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल के स्तर और ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस क दूर किया जा सकता है। खजूर का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल संबंधित सभी समस्या को दूर किया जा सकता है।

डायरिया के लिए (Khaur Benefits For diarrhea)

खजूर में पोटैशियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो दस्त की समस्या से छुटकारा दिलाने में सहायक होता है।खजूर का सेवन करने से आप कब्ज की समस्या से छुटकरा पा सकते है।

मस्तिष्क के लिए (Khajur Benefits For brain)

दिमाग को स्ट्रेस और सूजन से बचाने में खजूर काफी कारगर है। खजूर का सेवन करने से न्यूरोडीजेनेरेटिव रोगो को ठीक किया जा सकता है। न्यूरोडीजेनेरेटिव रोग के कारन मस्तिष्क का नर्वस सिस्टम पर असर होता है। इसका सेवन करने से स्मरण शक्ति को बढ़ाया जा सकता है। इसके अतिरिक्त खजूर में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाया जाता है, जो दिमाग की सूजन को कम करने में सहायक होता है।

कोलन कैंसर के लिए (Khajur Benefits For colon cancer)

अजवा खजूर मेंपॉलीफेनॉल्स पाए जाते है, जो कैंसर से बचाव करने में सहायक हो सकते हैं। इसमें फाइबर भी मौजूद होते है, जो पेट के कैंसर से लड़ने और कब्ज समस्या को ठीक करने में सहायक होते हैं। खजूर का सेवन करने से इंटेस्टिन में अच्छे बैक्टीरिया पनपनते हैं, जो पेट को स्वस्थ रखने में सहायक होते हैं।

वजन बढ़ाने के लिए (Khajur Benefits to gain weight)

खजूर में कार्बोहायड्रेट और फैट प्रचुर मात्रा में उपस्थित होती है, जो हमारे शरीर में वजन बढ़ाने के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकती है। खजूर का सेवन करने से 30 % तक वजन बढ़ाया जा सकता है। वजन बढ़ाने के लिए खजूर काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

नाइट ब्लाइंडनेस के लिए (Khajur Benefits For night blindness)

खजूर में विटामिन -ए प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जिससे रात को अंधेपन (रतौंधी) की समस्या को ठीक किया जा सकता है। खजूर का सेवन करने से आप आँखों से संबंधित सभी समस्याओ से छुटकारा पा सकते है क्योकि खजूर में कई पोषक तत्व पाए जाते है। खजूर हमारे आंख के स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

बवासीर के लिए (Khajur Benefits For hemorrhoids)

खजूर में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाए जो बवासीर की समस्या को ठीक करने में सहायक हो सकते है। क्योकि खजूर का सेवन करने से कब्ज की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। और कब्ज की समस्या होने पर बवासीर होती है। खजूर का सेवन करने से आप बवासीर की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

मांसपेशियों के लिए (Khajur Benefits For muscle)

खजूर में कार्बोहाइड्रेट अधिक मात्रा में पाया जाता है, जो मांसपेशियों के विकास करने में सहायक होता है।खजूर का सेवन करने से आप कई समस्या से छुटकारा पा सकते है। नियमित रूप से खजूर का सेवन करने से आपकी मासपेशिया मजबूत होती है और इनका विकास होता है।

वजन कम करने के लिए (Khajur Benefits to lose weight)

खजूर फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। खजूर का सेवन करने से भूख कम लगती है और बार-बार कुछ खाने की आदत से भी आप छुटकारा पा सकते है। खजूर कासेवन करने से आप मोटापे की समस्या से छुटकारा पा सकते है।

एनीमिया के लिए (Khajur Benefits For Anemia)

खजूर में आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। हमारेशरीर में आयरन की कमी पर एनीमिया की समस्या होती है।नियमित रूप से खजूर का सेवन करने से आप एनीमिया की समस्या बढ़ने से रोक सकते हैं। एनिमिया की समस्या होने पर खजूर का सेवन आपके स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

आंतों के लिए (Khajur Benefits For Intestines)

खजूर में फाइबर और पॉलीफेनॉल्स पाए जाते है जो आंतों में फैलने वाले बैक्टीरिया को बनने से रोकते हैं । और खजूर का सेवन करने से आप कोलन कैंसर से बच सकते है और इससे आंतो का स्वास्थ्य भी ठीक रहता है। खजूर का नियमित रूप से सेवन करने से आंत संबंधित समस्याओ से छुटकारा पा सकते है।

त्वचा के लिए (Khajur Benfits For Skin)

खजूर में विटामिन-सी और डी प्रचुर मात्र में पाया जाता है, जो त्वचा को जवां और सुन्दर बनाने में सहायक होता है। खजूर एंटी-एजिंग तत्व भी मौजूद होते है। खजूर के बीज के अर्क में मौजूद फाइटोहार्मोन एंटी-एजिंग के अनुरूप कार्य करता है। इससे झुर्रियों को कम किया जा सकता है।

बालों के लिए (Khajur Benfits For hair)

खजूर में आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो स्कैल्प में रक्त संचालन को बढ़ावा देता है। खजूर का सेवन करने से बालों का विकास होता है। इसके अतिरिक्त खजूर में विटामिन-ई भी पाया जाता है, जो बालों की ग्रोथ के लिए काफी फायदेमंद होता है। खजूर का नियमित रूप से सेवन करने से आप बालो के सफ़ेद होने की समस्या से छुटकारा पा सकते है।

Side Effects of Khajur

  • अधिक मात्रा में खजूर का सेवन मोटापे की समस्या हो सकती है, क्योंकि 100 ग्राम खजूर में 227 कैलोरी मौजूद होती है।
  •  खजूर का सेवन अधिक मात्रा में करने से हाइपरकलेमिया की समस्या हो सकती है। यह समस्या रक्त में पोटैशियम की मात्रा अधिक होने की वजह से उत्पन्न होती है। क्योकि इसमें पोटैशियमअधिक मात्रा में पाया जाता है।
  •  हाइपरकलेमिया रोग होने पर मांसपेशिया कमजोर होने लगती है और कई बार लकवा (paralysis) की समस्या भी हो जाती है।
  •  खजूर काफी मोटा और सख्त होता है, इसीलिए छोटे बच्चो और शिशुओं को खजूर ना खिलाये । क्योकि छोटे बच्चो की आंतें पूरी तरह से विकसित नहीं होती हैं, इसलिए खजूर पाचन आसानी से नही हो पता हैं।खजूर उनके गले में भी अटक सकते है।

For more details regarding the Khajur: Click Here

खजूर क्या है?

खजूर का वैज्ञानिक नाम फीनिक्स डेक्टाइलीफेरा (Phoenix Dactylifera) है। इसे इंग्लिश में डेट्स और अरबी में तवारीख और फ्रेंच में पामियर कहा जाता है। खजूर पाल्म ट्री की प्रजाति का होता है। खजूर का पेड़ 21-23 मीटर ऊँचा, स्थूल, विशाल होता है।खजूर के पेड़ का तना शाखाविहीन कठोर, गोलाकार और खुरदरा होता है। खजूर की खेती रेगीस्तान में, कम पानी और शुष्क वातावरण में की जाती है। खजूर के पेड़ पर भी नारीयल के पेड की तरह ऊपरी भाग में पत्तों के नीचे, घोसलों में खजूर के फल लगते है। खजूर पकने पर भुरे तथा चिपचिपे हो जाते है। सूखे खजूर को खारक कहते है।

ह्रदय के लिए के लिए कैसे उपयोगी है खजूर बताईये?

खजूर में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते है , जो आर्टरी सेल्स में कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक होते हैं । खजूर के नियमित सेवन से धमनियों (आर्टरी) के सख्त होने और धमनियों में प्लाक भरने की समस्या यानी एथेरोस्क्लेरोसिस रोग को भी रोका जा सकता है।मोटापा भी ह्रदय संबंधी रोग का कारन बन सकता हैं। खजूर का सेवन करने से भी वजन को नियंत्रित किया जा सकता है। क्योंकि खजूर में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाए जाते है।खजूर का सेवन करने से हृदय संबंधित जोखिमों को कम किया जा सकता है।

मस्तिष्क के लिए कैसे फायदेमंद है खजूर बताईये?

दिमाग को स्ट्रेस और सूजन से बचाने में खजूर काफी कारगर है। खजूर का सेवन करने से न्यूरोडीजेनेरेटिव रोगो को ठीक किया जा सकता है। न्यूरोडीजेनेरेटिव रोग के कारन मस्तिष्क का नर्वस सिस्टम पर असर होता है। इसका सेवन करने से स्मरण शक्ति को बढ़ाया जा सकता है। इसके अतिरिक्त खजूर में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाया जाता है, जो दिमाग की सूजन को कम करने में सहायक होता है।

बवासीर की समस्या को कैसे दूर कर सकते है ?

खजूर में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाए जो बवासीर की समस्या को ठीक करने में सहायक हो सकते है। क्योकि खजूर का सेवन करने से कब्ज की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। और कब्ज की समस्या होने पर बवासीर होती है। खजूर का सेवन करने से आप बवासीर की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

आंतों के लिए के लिए क्या काम करता है खजूर बताईये?

खजूर में फाइबर और पॉलीफेनॉल्स पाए जाते है जो आंतों में फैलने वाले बैक्टीरिया को बनने से रोकते हैं । और खजूर का सेवन करने से आप कोलन कैंसर से बच सकते है और इससे आंतो का स्वास्थ्य भी ठीक रहता है। खजूर का नियमित रूप से सेवन करने से आंत संबंधित समस्याओ से छुटकारा पा सकते है।

गर्भावस्था के दौरान खजूर का सेवन क्यों करना चाहिए?

खजूर में फ्रुक्टोज शर्करा पई जाती है, जो हमारे शरीर में ब्लड शुगर के स्तर में बदलाव किए बिना ऊर्जा प्रदान करता है। गर्भावस्था के दौरान महिला को अतिरिक्तरा की आवश्यकता होती है। इसमें 300 कैलोरी मौजूद होती है, अतिरिक्त ऊर्जा की जरूरत को पूरा करने का कार्य करता है ।खजूर में फाइबर पाए जाते है जो बवासीर को कम करनेमें सहयक होता है। गर्भावस्था के दौरान खजूर का सेवन करने से पहले चिकित्सक से परमर्श जरूर करे।

खजूर के Side Effects बताईये?

अधिक मात्रा में खजूर का सेवन मोटापे की समस्या हो सकती है, क्योंकि 100 ग्राम खजूर में 227 कैलोरी मौजूद होती है।
 खजूर का सेवन अधिक मात्रा में करने से हाइपरकलेमिया की समस्या हो सकती है। यह समस्या रक्त में पोटैशियम की मात्रा अधिक होने की वजह से उत्पन्न होती है। क्योकि इसमें पोटैशियमअधिक मात्रा में पाया जाता है।
 हाइपरकलेमिया रोग होने पर मांसपेशिया कमजोर होने लगती है और कई बार लकवा (paralysis) की समस्या भी हो जाती है।
 खजूर काफी मोटा और सख्त होता है, इसीलिए छोटे बच्चो और शिशुओं को खजूर ना खिलाये । क्योकि छोटे बच्चो की आंतें पूरी तरह से विकसित नहीं होती हैं, इसलिए खजूर पाचन आसानी से नही हो पता हैं।खजूर उनके गले में भी अटक सकते है।