Benefits of Lavender in Hindi: लैवेंडर ऑयल के फायदे

0
636
Lavender in Hindi

Lavender in Hindi:- लेवेंडर औषधीय गुणों से भरपूर एक जड़ी बूटी है। लैवेंडर के तेल का उपयोग सौंदर्य प्रसाधनों और चिकित्सा में किया जाता है। लैवेंडर के तेल में पुष्प और घास की सुगंध आती है जो हमारे मन और शरीर को आराम देने का कार्य करती है। लैवेंडर में लगभग 150 से अधिक सक्रिय औषधीय गुण पाए जाते हैं |

Lavender in Hindi

Table of Contents

लेवेंडर में सूजन विरोधी फंगस रोधी सूक्ष्मजीव रोधी विनाशक अवसाद रोधी आदि गुण उपलब्ध होते हैं आज हम आपको हमारे इस लेख के माध्यम से लैवंडर से जुड़ी सभी आवश्यक जानकारी जैसे लैवेंडर आयल के फायदे, लैवेंडर के नुकसान, लैवेंडर क्या है? लैवेंडर के पोषक तत्व आदि पर चर्चा परिचर्चा करेंगे।

Lavender in Hindi

Lavandula (सामान्य नाम लैवेंडर) टकसाल परिवार, लामियासी में फूलों के पौधों की 47 ज्ञात प्रजातियों में से एक जीनस है। लैवेंडर पुरे विश्व में पाया जाता है। यह केप वर्डे और कैनरी द्वीप समूह में पाया जाता है, और यूरोप से लेकर उत्तरी और पूर्वी अफ्रीका तक, भूमध्यसागरीय, दक्षिण-पश्चिम एशिया से लेकर दक्षिण-पूर्व भारत तक उगाया जाता है । Lavender एक एसेंशियल ऑयल में से एक है इसमें कई गुण मौजूद होते है।

Nutrients of Lavender in Hindi

लैवेंडर के तेल में 100 से अधिक फाइटोकेमिकल्स पाए जाते है। लैवेंडर आयल में लिनाइल एसीटेट (30-55%), लिनालूल (20-35%), टैनिन (5-10%), और कैरोफाइलीन (8%) प्रचुर ममत्र में पाए जाते है। Sesquiterpenoids, Perillyl एल्कोहल, एस्टर, ऑक्साइड, कीटोन्स, सिनेओल, कपूर, बीटा-ओसमीन, लिमोनेन, कैप्रोइक एसिड और कैरोफाइलीन ऑक्साइड भी लैवेंडर की अन्य प्रजातियों में पाए जाते है।

Benefits of Lavender in Hindi

नींद ना आना (Lavender In Hindi to Promote Sleep )

लैवंडर ऑयल का इस्तेमाल करने से आप अच्छी नींद प्राप्त कर सकते हैं। लैवंडर ऑयल में दिमाग को शांत कर मानसिक तथा शारीरिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने की क्षमता होती है ।यह हमारे शरीर में नींद को बढ़ावा देने में सहायक होता है। लैवंडर ऑयल का इस्तेमाल अरोमाथेरेपी में भी किया जाता है।

बालो के लिए (Lavender In Hindi For Hair Fall Problem)

एलोपेशीया एरेटा एक ऑटोइम्यून डिज़ीज होती है। इस बीमारी में इंसान का प्रतिरक्षा तंत्र खुद अपने शरीर पर हमला करता है।ऐसा होने पर बाल जड़ से उखड़ने लगते हैं। आप इस समस्या से निजात पाने के लिए लैवेंडर तेल का इस्तेमाल कर है।

एलोपेशीया एरेटा रोग का इलाज करने के लिए आप लैवेंडर ऑइल को अन्य आवश्यक तेलों जैसे थाइम, रोज़मेरी और देवदार की लकड़ी के तेल के साथ इस्तेमाल कर सकते है। इसके अतिरिक्त दो बड़े चम्मच जोजोबा के तेल में लैवेंडर आयल की कुछ बूंदों को डाल कर सिर की मालिश करने से बाल लम्बे होते हैं।

चिंता तथा अवसाद के लिए (Lavender In Hindi For Anxiety And Depression)

लेवेंडर के टेल मी एंटी एंजायटी और एंटीडिप्रेसेंट औषधीय गुण पाए जाते हैं। इसीलिए यह चिंता और अवसाद के को दूर करने में सहायक होते हैं। लैवंडर ऑयल चिंता की वजह से बेचैनी और व्याकुलता को दूर करने में सहायक होता है ।

लैवेंडर ऑयल में रोजमेरी टी ट्री एसेंशियल ऑयल को मिलाकर मूड स्विंग और मनोविज्ञान स्ट्रेस को कम करने का गुण मौजूद होता है ।आप डिफ्यूजर में लैवंडर ऑयल की कुछ बूंदें डालकर अपने कमरे में रख ले।

सिर दर्द के लिए( Lavender in Hindi to treat headache)

माइग्रेन के कारण होने वाले सिर दर्द को कम करने के लिए लैवेंडर ऑयल की अरोमाथेरेपी काफी फायदेमंद साबित होती है। माइग्रेन से पीड़ित लोग लैवंडर ऑयल को डिफ्यूजर में डालकर अपने कमरे में रखकर अरोमाथेरेपी प्राप्त कर सकते हैं।

घाव भरने के लिए (Lavender in Hindi to To heal Cracks)

लेवेंडर ऑयल में कॉलेजन को बढ़ाने का गुण पाया जाता है। इसीलिए लैवंडर ऑयल का घाव के ऊपर प्रयोग करने से घाव जल्दी भर जाती हैं ।और इससे त्वचा की सूजन लालपन और दर्द को भी कम किया जा सकता है। ताजे घाव पर लैवेंडर तेल की कुछ बूंदे लगाने से आपको दर्द से राहत मिलेगी और साथ ही में घाव भी जल्दी बढ़ जाएगा।

Lavender in Hindi

जी मिचलाना कम करने के लिए (Lavender in Hindi To reduce nausea)

गर्भावस्था के समय जी मिचलाना और उल्टी की समस्या आम बात होती है। लैवंडर ऑयल की अरोमा थेरेपी लेने से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। आप अपने कमरे में डिफ्यूजर के अंदर लैवंडर ऑयल की कुछ बूंदें डालकर रख दे।

अपच और पेट फूलने के लिए (Lavender in Hindi For indigestion and flatulence)

मानसिक तनाव के कारण आपको अपच की समस्या हो सकती है। लेवेंडर ऑयल की सहायता से आप पेट से जुड़ी सभी समस्याएं जैसे अपच कब्ज पेट फूलना आदि समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं क्योंकि लैवंडर ऑयल में एंटीडिप्रेसेंट गुण पाए जाते।

मांसपेशियों के लिए (Lavender in Hindi For muscles)

मांसपेशियों की सूजन तथा दर्द को कम करने के लिए लैवेंडर ऑयल में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं ।जो मांसपेशियों की सूजन को कम कर दर्द से राहत प्रदान करते हैं। मांसपेशियों में दर्द तथा सूजन से निजात पाने के लिए प्रभावित स्थान

मुहांसों के लिए (Lavender in Hindi For acne)

मुहांसों को दूर करने के लिए लैवंडर में एंटी ऐकेन गुण पाया जाता है। जो चेहरे पर से पिंपल्स और मुहांसों को दूर करने में सहायक होता है। आप लैवंडर ऑयल की 2-3 बूंदों को रुई में लेकर प्रभावित स्थान पर लगाने से मुहांसों की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

फंगस इंफेक्शन के लिए (Lavender in Hindi For fungal infection)

लेवेंडर तेल में एंटीफंगल औषधीय गुण पाया जाता है ।जो आमतौर पर त्वचा और नाखूनों में होने वाले संक्रमण को दूर करने में सहायक होता है । लैवंडर ऑयल खुजली वाली त्वचा मामूली गांव त्वचा का नीला पड़ जाना और जलने आदि समस्याओं में काफी फायदेमंद होता है ।आप ऑलिव ऑयल में 2-3 लैवंडर ऑयल की बूंदे मिलाकर प्रभावित स्थान पर रुई से लगा सकते हैं।

Lavender in Hindi

शारीरिक गंध को दूर करने के (Lavender in Hindi To remove body odor)

यदि आपकी शरीर में से पसीने की गंध आती है तो आप लैवंडर के इत्र का इस्तेमाल कर सकते हैं। लैवंडर के इत्र का उपयोग करने से आप गंध से छुटकारा पा सकते हैं। आप इस इत्र का उपयोग अपने कमरे में, बाथरूम में तथा शरीर पर कर सकते हैं।

Harmful effects of Lavender in Hindi

  • लैवेंडर ऑइल को त्वचा के लिए सुरक्षित माना जाता है लेकिन एलर्जी की आशंका होने पर आप पहले अपनी थोड़ी सी त्वचा पर तेल को लगा कर परीक्षण अवश्य करे।
  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को लैवेंडर तेल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  • लैवेन्डर तेल का अधिक मात्रा में इस्तेमाल करने से मतली, उल्टी और सिरदर्द जैसी समस्याओ का सामना करना पड़ सकता है।
  • इस तेल का इस्तेमाल केवल अरोमाथेरेपी के जरिये ही करना चाहिए। यद्दी आप लैवेंडर ऑइल क इस्तेमाल इंजेक्शन के रूप करते है तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक साबित हो सकता है । धुंधली दृष्टि, सांस लेने में कठिनाई, आँखों में जलन, उल्टी, और दस्त आदि समस्याए उत्पन्न हो सकती है।

For more details regarding the Lavender in Hindi: Click Here

लैवेंडर ऑयल क्या है?

लेवेंडर औषधीय गुणों से भरपूर एक जड़ी बूटी है। लैवेंडर के तेल का उपयोग सौंदर्य प्रसाधनों और चिकित्सा में किया जाता है। लैवेंडर के तेल में पुष्प और घास की सुगंध आती है जो हमारे मन और शरीर को आराम देने का कार्य करती है। लैवेंडर में लगभग 150 से अधिक सक्रिय औषधीय गुण पाए जाते हैं।
लेवेंडर में सूजन विरोधी फंगस रोधी सूक्ष्मजीव रोधी विनाशक अवसाद रोधी आदि गुण उपलब्ध होते हैं आज हम आपको हमारे इस लेख के माध्यम से लैवंडर से जुड़ी सभी आवश्यक जानकारी जैसे लैवेंडर आयल के फायदे, लैवेंडर के नुकसान, लैवेंडर क्या है? लैवेंडर के पोषक तत्व आदि पर चर्चा परिचर्चा करेंगे।

नींद के लिए लैवंडर ऑयल का उपयोग कर सकते है?

लैवंडर ऑयल का इस्तेमाल करने से आप अच्छी नींद प्राप्त कर सकते हैं। लैवंडर ऑयल में दिमाग को शांत कर मानसिक तथा शारीरिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने की क्षमता होती है ।यह हमारे शरीर में नींद को बढ़ावा देने में सहायक होता है। लैवंडर ऑयल का इस्तेमाल अरोमाथेरेपी में भी किया जाता है।

फंगस इंफेक्शन के लिए लैवंडर ऑयल का उपयोग कर सकते है?

लेवेंडर तेल में एंटीफंगल औषधीय गुण पाया जाता है ।जो आमतौर पर त्वचा और नाखूनों में होने वाले संक्रमण को दूर करने में सहायक होता है । लैवंडर ऑयल खुजली वाली त्वचा मामूली गांव त्वचा का नीला पड़ जाना और जलने आदि समस्याओं में काफी फायदेमंद होता है ।आप ऑलिव ऑयल में 2-3 लैवंडर ऑयल की बूंदे मिलाकर प्रभावित स्थान पर रुई से लगा सकते हैं।

लैवंडर ऑयल से होने वाले Harmful Effects बताईये?

लैवेंडर ऑइल को त्वचा के लिए सुरक्षित माना जाता है लेकिन एलर्जी की आशंका होने पर आप पहले अपनी थोड़ी सी त्वचा पर तेल को लगा कर परीक्षण अवश्य करे।
गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को लैवेंडर तेल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
लैवेन्डर तेल का अधिक मात्रा में इस्तेमाल करने से मतली, उल्टी और सिरदर्द जैसी समस्याओ का सामना करना पड़ सकता है।
इस तेल का इस्तेमाल केवल अरोमाथेरेपी के जरिये ही करना चाहिए। यद्दी आप लैवेंडर ऑइल क इस्तेमाल इंजेक्शन के रूप करते है तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक साबित हो सकता है । धुंधली दृष्टि, सांस लेने में कठिनाई, आँखों में जलन, उल्टी, और दस्त आदि समस्याए उत्पन्न हो सकती है।

जी मिचलाना कम करने के लिए लैवंडर ऑयल का फायदा कैसे उठाये बताइए?

गर्भावस्था के समय जी मिचलाना और उल्टी की समस्या आम बात होती है। लैवंडर ऑयल की अरोमा थेरेपी लेने से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। आप अपने कमरे में डिफ्यूजर के अंदर लैवंडर ऑयल की कुछ बूंदें डालकर रख दे।