5 Amazing Benefits of Lemongrass and Uses in Hindi ( लेमन ग्रास के फायदे )

0
78

Lemon grass in Hindi | lemon grass plant | lemon grass benefits | emongrass essential oil | how to grow lemongrass | how to use lemon grass | how to make lemon grass tea | Lemongrass kya hota hai

Lemon grass in Hindi

आज एक ऐसे पौधे के बारे में जानेगे, जो की अपने अंदर कई रहस्य समाये हुए है। जिसका नाम लेमन ग्रास है, इसे नींबू घास के नाम से भी जाना जाता है। दरअसल नींबू के नाम से इस पौधे को इसलिए जाना जाता है, क्योकिं इसके अंदर से नींबू की तरह सुगंध आती है। लेमन ग्रास के कई औषधीय गुण भी होते है। लेमन ग्रास एक ऐसी जड़ी-बूटी है जिसमें नींबू की सुगंध के साथ-साथ कई औषधीय गुण पाए जाते हैं। यह एक बारहमासी घास है जो उत्तर भारत एवं एशिया के उष्णकटिबंधीय इलाकों (Tropical areas) में मुख्य रूप से उगाया जाता है।

Lemon grass in Hindi

कई प्रकार के व्यंजनों में इसका उपयोग किया जाता है। यह मुख्य तौर पर एशिया, अफ्रीका तथा ऑस्ट्रेलिया के उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों मे काफी मात्रा मे पाए जाते है | इस लेमन ग्रास का वैज्ञानिक नाम सिम्बेपोगोन फ्लक्सुओसस है, जो मुख्य तौर से भारत तथा अन्य दूसरे देशों मे पाया जाता है | इसमे कई औषधीय गुण भी पाए जाते हैं, जो हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है . यह लेमन ग्रास एक सदाबहार घास है, जो सदैव हरा भरा रहता है | ये झुंड मे उगने वाले घास होते हैं, जो एक साथ बहुत सारे निकलते हैं | इसकी न्यूनतम लंबाई लगभग 5 से 6 फीट होती है |

इसकी खेती भारत मे मुख्य रूप से केरल, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश एवं राजस्थान आदि जैसे राज्यों मे उगाया जाता है | इस लेमन ग्रास से एक प्रकार का तेल भी प्राप्त की जाती है | मनग्रास एंटीऑक्सीडेंट, एंटीइंफ्लामेंटरी और एंटीसेप्ट‍िक गुणों से भरपूर होती है, जो कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं से आपको बचाए रखने में मददगार होती है। वहीं दिमाग तेज करने के लिए भी यह बेहतरीन है। शरीर के विभिन्न हिस्सों में होने वाले दर्द को समाप्त करने के लिए लेमनग्रास की चाय पीना काफी लाभकारी होता है। खास तौर से सिरदर्द और जोड़ों के दर्द में यह बेहद फायदेमंद है। आजकल लेमनग्रास का सेवन काफी चलन में है।

इसके अनेक फायदे के चलते लोगों ने अपने घरों में इसका पौधा भी लगाना शुरू कर दिया है। यह एक ऐसा पौधा है जिसका इस्तेमाल कई सालों से औषधि के रूप में होता आ रहा है। ज़्यादातर घरों में इसका इस्तेमाल चाय, सूप, आदि में किया जाता है, क्योंकि इसमें नींबू जैसी खुशबू होती है। साथ ही इसमें एंटी-इन्फ्लेमेटरी, एंटी-फंगल व एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए बेहद लाभदायक होते हैं। खासकर कैंसर जैसी घातक बीमारी में लेमनग्रास असरदायक माना गया है। इसके अलावा यह शरीर की इम्यूनिटी को भी बढ़ाता है। लेमन ग्रास एक गुणकारी पौधा है जो स्वास्थ्य की कई तरह की समस्या को ठीक करने में मदद करता है। लेमन ग्रास अधिकतर पूर्व व दक्षिण एशिया में पाया जाता है। लेमन ग्रास का स्वाद नींबू की तरह होता है इसलिए बहुत से लोग भोजन में नींबू की जगह लेमन ग्रास का उपयोग करना पसंद करते है। इसके अलावा चाय में अदरक की जगह लेमन ग्रास का उपयोग करते है। लेमन ग्रास में बहुत से औषधीय होते है जैसे एंटीबैक्टीरियल व एंटी फंगल, एंटी इंफ्लेमेंटरी गुण आदि।

क्या है लैमनग्रास ?

एक साधारण सी दिखने वाली घास, जो कि घास से लंबी होती है, वह लैमनग्रास है। इसके अनेक स्वास्थ लाभ है। यह आम घास सी दिखने वाली, शरीर के लिए बड़े काम की होती है। लेमनग्रास आयरन, विटामिन ए, विटामिन सी, फोलेट एसिड, फास्फोरस, आदि महत्वपूर्ण तत्वों से भरपूर एक औषधि है। साथ ही, लोग अपने घरों से मच्छरों को भगाने के लिए भी लेमनग्रास का पौधा लगाते हैं।

लेमन ग्रास एक औषधीय पौधा है, जो खासकर दक्षिण-पूर्वी एशिया में पाया जाता है। यह घास जैसा ही दिखता है, बस इसकी लंबाई आम घास से ज्यादा होती है। वहीं, इसकी महक नींबू जैसी होती है और इसका ज्यादातर उपयोग चाय में अदरक की तरह किया जाता है। लेमन ग्रास के औषधीय गुण जैसे एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-इन्फ्लेमेटरी व एंटी-फंगल आदि आपको कई तरह की बीमारियों और संक्रमण से बचाते हैं ।

Lemon grass in Hindi

Types of Lemon Grass : की प्रजातियां

लेमन ग्रास भारतीय मूल की घास है, जिसके अंदर लगभग 50 से ज्यादा प्रजातियां पायी जाती है। इन प्रजातियों में कुछ घासो का उपयोग खाने तथा पेय पदार्थो के रूप में किया जाता है।

  •  Citronella
  •  Ornamental Lemongrass
  •  Java Citronella
  •  East Indian Lemongrass

लेमन ग्रास के फायदे – Benefits of Lemon Grass in Hindi

1) वजन कम करने के लिए ( Benefits of Lemon Grass for lose weight )

Lemon grass in Hindi

लेमान ग्रास की चाय का उपयोग कुछ लोग वजन कम करने के लिए भी सेवन करते है। लेकिन यह पूरी तरह से कोई नहीं जानता की क्या यह वजन कम करने में फायदेमंद होती है या नहीं। हालाकिं कुछ शोध से पता चला है, की लेमन ग्रास में यूरिन को डिटॉक्सिफिकेशन करने की क्षमता होती है, जिसकी वजह से शरीर के कुछ हानिकारक पदार्थ यूरिन के जरिये बहार आ जाते है। जो की वजन कम करने में लाभदायक होते है। लेमन ग्रास के मूत्रवर्धक गुण (Diuretic Properties) की वजह से यह शरीर को डिटॉक्सिफाई करता है और माना जाता है कि डिटॉक्सिफिकेशन से आपको वजन कम करने में मदद मिल सकती है।

2) कब्ज के लिए ( Benefits of Lemon Grass for Constipation )

Lemon grass in Hindi

लेमन ग्रास की चाय को पेट से जुड़ी समस्याओं के लिए फायदेमंद माना जाता है. इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट के गुण मौजूद होने से ये पेट संबंधी बीमारियों जैस- पेट दर्द, कब्ज, ऐंठन, और दस्त से बचाने का काम कर सकता है. लेमन ग्रास के गुण आपकी पाचन शक्ति बढ़ाने में भी मदद करते हैं। इसके अलावा, इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट गुण ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस से बचाते हैं और पेट के अल्सर व पेट से जुड़ी अन्य समस्याओं को रोकने का काम करते हैं। यदि किसी को पाचन संबंधी परेशानी है तो वो लेमन ग्रास टी को डाइट में शामिल कर सकते हैं।

3) कैंसर के लिए ( Benefits of Lemon Grass for cancer )

Lemon grass in Hindi

लेमनग्रास में कैंसररोधी गुण होते हैं, जो कैंसर सेल्स को खत्म करने की अहम भूमिका निभाते हैं। इस घास में एक खास तत्व होता है जिसे सिट्राल कहते हैं। यह तत्व कैंसर सेल्स को शुरुआती अवस्था में रोकने में मदद करता है। यदि रोज़ाना चाय में लेमन ग्रास डालकर लिया जाए तो इससे कैंसर का खतरा बेहद कम हो सकता है। लेमन ग्रास और लेमन ग्रास तेल में एंटी-कैंसर गुण पाए जाते हैं, जो कैंसर सेल्स को खत्म कर कैंसर के खतरे को कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा, कैंसर सेल्स को खत्म करने के लिए आप लेमन ग्रास की चाय भी पी सकते हैं।

4) गठिया के लिए ( Benefits of Lemon Grass for gout )

Lemon grass in Hindi

लेमन ग्रास के तेल का इस्तेमाल करने से गठिया जैसी बीमारी के लक्षणों को घटाया जा सकता है। गठिया की समस्या में हमारे हड्डियों के जोड़ों में दर्द एवं सूजन की समस्या उत्पन्न हो जाती है जिससे हमारी आम दिनचर्या बुरी तरह प्रभावित हो जाती है। इस तेल में एंटी-इंफ्लेमेटरी) गुण पाए जाते हैं जिससे गठिया के कारण हुए शरीर की सूजन को आसानी से घटाया जा सकता है। लेमन ग्रास के तेल से दर्द वाले स्थान पर मालिश करने से जोड़ों के दर्द एवं सूजन की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। रूमेटाइड अर्थराइटिस ऐसी समस्या है, जिसमें जोड़ों में दर्द, सूजन और अकड़न आने लगती है। 30-60 साल की उम्र में ये समस्या होना आम है। अगर आप भी गठिया की समस्या से परेशान हैं, तो लेमन ग्रास तेल आपके लिए फायदेमंद होता है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो आपको गठिया के लक्षणों से आराम दिलवा सकते हैं।

5) मधुमेह के लिए ( Benefits of Lemon Grass Diabetes )

Lemon grass in Hindi

लेमन ग्रास एवं इसके फूलों के उपयोग से मधुमेह जैसी समस्या में राहत मिलती है। इनमें एंटी-डायबिटिक (Antidiabetic) गुण पाए जाते हैं जिससे मधुमेह का घरेलु इलाज किया जा सकता है। इसके इस्तेमाल से हमारे रक्त में शुगर की मात्रा का स्तर नियंत्रित रहता है जिससे हमें बहुत फायदा मिलता है। लेमन ग्रास के नियमित इस्तेमाल से मधुमेह के रोगियों को बहुत फायदा मिलता है। गर आप मधुमेह से परेशान हैं, तो लेमन ग्रास के गुण आपकी मदद कर सकते हैं। लेमन ग्रास और उसके फूलों को पारंपरिक रूप से मधुमेह के इलाज के लिए उपयोग किया जा रहा है। इसमें एंटी-डायबिटिक गुण होते हैं, जो खाली पेट और खाने के बाद के ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में आपकी मदद करते हैं।

लेमन ग्रास का उपयोग – How to Use Lemon Grass in Hindi

  • सर्दी, खांसी, या बुखार से छुटकारा पाने के लिए ईस लेमन ग्रास के तेल का उपयोग किया जाता है |
  • इसका उपयोग कई सारे रोगों को ठीक करने के लिए किया जा सकता है |
  • इसमे एक प्रकार का एंटी ऑक्साइड पाया जाता है, जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमन्द है |
  • पथरी रोग के इलाज मे इस लेमन के घास का उपयोग किया जा सकता है |
  • जोड़ो के दर्द तथा शरीर मे होने वाले अन्य दर्द से राहत पाने के लिए इस लेमन के घास से निकले तेल का उपयोग किया जा सकता है |
कब ना करें लैमनग्रास का सेवन ?

लैमनग्रास के वैसे तो अनेक व अचूक फायदे हैं। लेकिन इसके इस्तेमाल पर कुछ पाबंधियां ज़रूर है, जिन्हें आपको अवश्य जानना चाहिए। – गर्भवती महिलाएं और स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को इसका उपयोग नहीं करना चाहिए। हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि इसके सेवन से माहवारी शुरू हो जाती है और गर्भपात का खतरा रहता है।