Shankhpushpi Ke Fayde: दिमाग ही नहीं शुगर और बालों के लिए भी वरदान है शंखपुष्पी

0
590

Shankhpushpi in Hindi:- आयुर्वेद में फलों पौधों और जंतुओं को गंभीर बीमारी से निजात दिलाने में इस्तेमाल किया जाता है । उन्हीं में से एक है शंखपुष्पी।  शंखपुष्पी का इस्तेमाल दिमागी शक्ति एकाग्रता स्मृति सुधार के लिए किया जाता है। इसके अतिरिक्त शंखपुष्पी का इस्तेमाल करने से अन्य कई गंभीर बीमारियों का इलाज भी किया जा सकता है। आज हम आपके साथ हमारे इस लेख के माध्यम से शंखपुष्पी से जुड़ी सभी आवश्यक जानकारी जैसे शंखपुष्पी के फायदे, शंखपुष्पी के नुकसान, शंखपुष्पी में मौजूद पोषक तत्व और शंखपुष्पी होती क्या है? आदि पर चर्चा परिचर्चा करेंगे।

Shankhpushpi in Hindi

शंखपुष्पी का वैज्ञानिक नाम कन्वोलवुलस प्लुरिकॉलिस है। शंखपुष्पी का पौधा मुख्य रूप से तीन रंगों का होता है- सफेद लाल और नीला। लेकिन औषधीय रूप से सफेद रंग के पौधों का इस्तेमाल किया जाता है। शंखपुष्पी का पौधा पथरीली भूमि वाले जंगलों में पाया जाता है।

शंखपुष्पी का पौधा करीब एक से डेढ़ फीट तक लंबा होता है ।और शंखपुष्पी के पौधे की जड़ 1 से 2 इंच तक लंबी और उंगली जितनी मोटी होती ।है शंखपुष्पी के पौधे की पत्तियों को मसलने पर मोदी जैसी गंध आती है। शंखपुष्पी के पौधे की पति पत्नी और फूल को कई जटिल बीमारियों के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जाता है।शंखपुष्पी में ट्राइपटेनॉयड, फ्लेवोनॉयड, ग्लाइकोसाइड, एंथोसाइनिन और स्टेरॉइड जैसे तत्व पाए जाते हैं।

Benefits of Shankhpushpi in Hindi

Benefits of Shankhpushpi

याददाश्त में सुधार के लिए ( Shankhpushpi in Hindi  To improve memory)

शंखपुष्पी में ट्राइपटेनॉयड, फ्लेवोनॉयड, ग्लाइकोसाइड, एंथोसाइनिन और स्टेरॉइड जैसे तत्व पाए जाते हैं, जो मस्तिष्क के विकास और स्मृति सुधार में सहायक होते हैं। शंखपुष्पी का इस्तेमाल करने से कमजोर याददाश्त की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

कमजोरी के लिए ( Shankhpushpi in Hindi For weakness)

शंखपुष्पी में कोई औषधीय गुण पाए जाते हैं जो मानसिक दुर्लभता के साथ-साथ शारीरिक कमजोरी को भी दूर करने में सहायक होते हैं। शंखपुष्पी का सेवन करने से कमजोरी को कम किया जा सकता है।

मेंटल हाइपर्सेंसिटिविटी के लिए ( Shankhpushpi in Hindi For mental hypersensitivity)

इस अवस्था में मनुष्य अपनी भावनाओं पर संतुलित नहीं रह पाता है। यह समस्या होने पर मनुष्य छोटी-छोटी बातों पर भावुक हो जाता है। वर्तमान और भविष्य को लेकर दिमाग से पीड़ित लोगों में अच्छे और बुरे विचार आने लगते हैं जो क्रोध, अवसाद और चिंता के रूप में छलकते हैं। शंखपुष्पी का सेवन करने से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

अवसाद के लिए ( Shankhpushpi in Hindi For depression)

शंखपुष्पी का इस्तेमाल करने से आप अवसाद संबंधित समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं। शंखपुष्पी का इस्तेमाल करने से चिंता, दुख और भय, अवसाद जैसे विकारों को ठीक किया जा सकता है। शंखपुष्पी अवसाद के उपचार के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

एकाग्रता बढ़ाने के लिए ( Shankhpushpi in Hindi To increase concentration)

शंखपुष्पी को नोट्रोपिक औषधि कहा जाता है, जो मानसिक और बौद्धिक विकास के लिए इस्तेमाल की जाती है शंखपुष्पी का सेवन करने से तनाव, अवसाद  दूर करके दिमागी क्षमता को बढ़ाने बुद्धि ध्यान एकाग्रता स्मृति और तंत्रिका से संबंधित समस्याओं को ठीक किया जा सकता है।

सिर दर्द के लिए ( Shankhpushpi in Hindi  For headache)

शंखपुष्पी का सेवन करने से अवसाद तनाव और अन्य मानसिक समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है। जो सर दर्द के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। शंखपुष्पी बुद्धि ध्यान एकाग्रता स्मृति और तंत्रिका से संबंधित सभी समस्याओं को दूर करने में सहायक होती है। तंत्रिका विकार में तनाव चिंता मानसिक थकान अनिद्रा जैसी समस्याएं आती है जो सिर दर्द का कारण होती है। इसीलिए शंखपुष्पी का सेवन करना सिर दर्द की समस्या से छुटकारा पाने के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

ए डी एच डी के लिए ( Shankhpushpi in Hindi For ADHD)

ए डी एच डी एक ऐसी समस्या होती है जिसमें व्यक्ति की एकाग्रता में कमी आती है और अतिसंवेदनशील व्यवहार देखा जाता है यह समस्या आमतौर पर बच्चों में देखी जाती है लेकिन कुछ स्थितियों में यह समस्या बड़े होने के बाद भी लोगों में देखी जा सकती है ए डी एच डी समस्या होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे अनुवांशिकी कमी नशे की आदत वजन कम के साथ जन्म या फिर दिमागी क्षति। यह समस्या होने पर हमारे शरीर में मानसिक कमजोरी दर्शाती है। शंखपुष्पी का इस्तेमाल करने से दिमागी संबंधित समस्याओं से छुटकारा दिलाने में सहायक होता है ।शंखपुष्पी को ब्रेन टॉनिक भी कहा जाता है जो मानसिक समस्याओं को दूर करने में सहायक होता है।

खांसी के लिए ( Shankhpushpi in Hindi For cough)

शंखपुष्पी का सेवन करने से पुरानी खांसी की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है ।इसके अतिरिक्त शंखपुष्पी में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं जो खासी इंद्राणा मिल गई मतिभ्रम और चिंता जैसी समस्याओं का निवारण करने में सहायक होते हैं ।शंखपुष्पी का सेवन करना आपके स्वास्थ्य के लिए और मानसिक शक्ति के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

उच्च रक्तचाप के लिए ( Shankhpushpi in Hindi For High Blood Pressure)

शंखपुष्पी में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं जो रक्तचाप को नियंत्रित करने में सहायक होते हैं। इसके अतिरिक्त शंखपुष्पी में मानसिक रोगों के साथ-साथ अल्सर उच्च रक्तचाप मिर्गी उल्टी डायबिटीज साइंस स्ट्रोक और रक्त स्राव जैसी समस्याओं को दूर करने में भी सहायक होते हैं।

Side Effects of Shankhpushpi in Hindi

  • निम्न रक्तचाप की समस्या से ग्रसित लोगों को शंखपुष्पी का सेवन नहीं करना चाहिए ।क्योंकि यह रक्तचाप को कम करने में सहायक होती है।
  • गर्भावस्था के दौरान शंखपुष्पी का सेवन नहीं करना चाहिए ।यह आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

For more details regarding the Shankhpushpi in Hindi: Click Here

शंखपुष्पी क्या है ?

शंखपुष्पी का वैज्ञानिक नाम कन्वोलवुलस प्लुरिकॉलिस है। शंखपुष्पी का पौधा मुख्य रूप से तीन रंगों का होता है- सफेद लाल और नीला। लेकिन औषधीय रूप से सफेद रंग के पौधों का इस्तेमाल किया जाता है। शंखपुष्पी का पौधा पथरीली भूमि वाले जंगलों में पाया जाता है। शंखपुष्पी का पौधा करीब एक से डेढ़ फीट तक लंबा होता है ।और शंखपुष्पी के पौधे की जड़ 1 से 2 इंच तक लंबी और उंगली जितनी मोटी होती ।है शंखपुष्पी के पौधे की पत्तियों को मसलने पर मोदी जैसी गंध आती है। शंखपुष्पी के पौधे की पति पत्नी और फूल को कई जटिल बीमारियों के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जाता है।शंखपुष्पी में ट्राइपटेनॉयड, फ्लेवोनॉयड, ग्लाइकोसाइड, एंथोसाइनिन और स्टेरॉइड जैसे तत्व पाए जाते हैं।

खांसी के लिए कैसे उपयोगी है?

शंखपुष्पी का सेवन करने से पुरानी खांसी की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है ।इसके अतिरिक्त शंखपुष्पी में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं जो खासी इंद्राणा मिल गई मतिभ्रम और चिंता जैसी समस्याओं का निवारण करने में सहायक होते हैं ।शंखपुष्पी का सेवन करना आपके स्वास्थ्य के लिए और मानसिक शक्ति के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

सिर दर्द की समस्या को कैसे दूर करें बताईये?

शंखपुष्पी का सेवन करने से अवसाद तनाव और अन्य मानसिक समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है। जो सर दर्द के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। शंखपुष्पी बुद्धि ध्यान एकाग्रता स्मृति और तंत्रिका से संबंधित सभी समस्याओं को दूर करने में सहायक होती है। तंत्रिका विकार में तनाव चिंता मानसिक थकान अनिद्रा जैसी समस्याएं आती है जो सिर दर्द का कारण होती है। इसीलिए शंखपुष्पी का सेवन करना सिर दर्द की समस्या से छुटकारा पाने के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

शंखपुष्पी के Side Effects बताईये?

निम्न रक्तचाप की समस्या से ग्रसित लोगों को शंखपुष्पी का सेवन नहीं करना चाहिए ।क्योंकि यह रक्तचाप को कम करने में सहायक होती है।
गर्भावस्था के दौरान शंखपुष्पी का सेवन नहीं करना चाहिए ।यह आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।