10 Surprising Health Benefits of Sweet Potatoes in Hindi ( शकरकंद के फायदे )

0
62
Sweet Potato

Sweet potato | sweet potato benefits | sweet potato rec | recipe for sweet potato | sweet potato recipes | recipes of sweet potato | recipes with sweet potato | benefits of sweet potato | recipe sweet potato | sweet potato recipe | शकरकंद क्या है | शकरकंद के प्रकार | गर्भावस्था के लिए | वजन कम करने के लिए | हड्डियों के लिए | स्वस्थ हृदय के लिए | रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए | शकरकंद का उपयोग | शकरकंद को कैसे खाएं | शकरकंद का चुनाव | कैंसर के लिए | How to Use Sweet Potato |

Benefits of Sweet Potatoes

शकरकंद को मीठा आलू भी कहते हैं। आम तौर पर उपवास के समय शकरकंद को उबालकर खाया जाता है क्योंकि ये एनर्जी या ऊर्जा का स्रोत होता है। शकरकंद में कई तरह की पौष्टिकताएं होती है जिसके कारण आयुर्वेद में औषधि के रुप में उपयोग किया जाता है। शकरकंद एक ऐसा फल है जो कच्चा या पका दोनों रूपों में सेवन किया जाता है। और उसको उबालकर खाना अच्छा होता है। शायद आपको ये सुनकर आश्चर्य होगा कि शकरकंद मीठा होने के बावजूद डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है। चलिये शकरकंद के बारे में और शकरकंद के फायदों (sweet potato benefits) के बारे में आगे विस्तार से बात करते हैं। शकरकंद खाने में जितना स्वादिष्ट होता है, स्वास्थ्य के लिए भी उतना ही फायदेमंद होता है। अंग्रेजी में इसे स्वीट पोटैटो कहते हैं। शायद यही वजह है कि कुछ लोग इसे आलू से जोड़कर भी देखते हैं, यही कारण है कि इसे मीठा आलू भी कहा जाता है। मीठा आलू खाने के फायदे ढेरों हैं। आमतौर पर यह सर्दियों में अधिक बिकता है, क्योंकि तब इसके फायदे भी अधिक होते हैं। देश के लगभग सभी हिस्सोंं में पाए जाने वाले शकरकंद को कुछ क्षेत्रों में लोग शकरकंदी के नाम से भी जानते हैं और इसे खाने का तरीका भी अलग-अलग है। दादी के नुस्खे के इस लेख में हम आपको शकरकंदी खाने के फायदे बताएंगे और साथ ही इस बारे में भी बात करेंगे कि अच्छी सेहत बनाने के लिए शकरकंद कैसे खाएं? यह सेहतमंद बनाए रखने में कैसे सहायता करता है, चलिए जानते हैं। सभी ने कभी न कभी तो मीठा आलू या शकरकंद जरूर खाया होगा, लेकिन क्या अपने कभी इसके फायदों के बारे में सोचा है। शकरकंद की अलग-अलग किस्में हैं। लाल किस्म के मीठे आलू के गूदे सूखे और ठोस होते हैं, जबकि सफेद और पीले रंग के मीठे आलू के गूदे में अधिक रस होता है। लाल किस्म के मीठे आलू की सुगंध में एक विशेषता है, जो उबलने पर और अधिक महत्वपूर्ण हो जाती है। मीठे आलू का रंग ज्यादातर लाल या नारंगी होता है, जो इसे अधिक सुगंधित बनाता है। यह इसमें मौजूद बीटा कैरोटीन की उपस्थिति के कारण होता है।

शकरकंद क्या है

शकरकंद (Sweet potato in Hindi) विटामिन सी, विटामिन बी-कॉम्प्लेक्स, आयरन, फॉस्फोरस और बीटा कैरोटीन का स्रोत होता है जिसके कारण पौष्टिकता से भरपूर होता है। शकरकंद मीठा, थोड़ा ठंडा और गरम, वात और पित्त को कम करने वाला, कफ को बढ़ाने वाला, शक्ति को बढ़ाने वाला, कब्ज से राहत दिलाने वाला होता है। इसका कंद विरेचक, वाजीकारक, मूत्रल बलकारक, कवकरोधी, जीवाणुरोधी, विबन्ध, प्रदर, अर्श, मधुमेह, कुष्ठ, पूयमेह तथा मूत्रकृच्छ्र में हितकर होता है। इसके भूमिगत कंद (bulb),लाल, सफेद अथवा पीले रंग का होता है। आम तौर पर शकरकंद बीच में मोटा तथा दोनों किनारों पर पतला होता है।

Sweet Potato

अन्य भाषाओं में शकरकंद के नाम (Name of Shakarkand in Different Languages)

Sweet Potato in-

1) Sanskrit-सितालुक

2) Hindi-शकरकन्द

3) Urdu-शकरकन्द (Shakarkand)

4) Assamese-बोगालु (Bogaalu), रंगालु (Rangaalu)

5) Konkani-कनंग (Kanang), कोनोंग (Konong)

6) Kannada-गेनासु (Genasu); कनंगी (Kanangi), सक्कारीया (Sakkariya)

7) Tamil-सक्केराईवल्लेइकेलांगु (Sakkereivelleikelangu), वालीकिलांगु (Vallikilangu)

8) Telugu-गेनासू (Genasu), चेलागडा (Chelagada)

9) Bengali-रंगालु (Rangaalu), चिनेलू (Chinealu), लाल आलू (Lal alu)

10) Panjabi-शखर-कुन्द (Sakhar-kund), शकरकंद (Shakarkand)

11) Marathi-रतालु (Ratalu), रताली (Ratali)

12) Malayalam-कापाकालेंगा (Kapakalenga)

13) English-स्वीट पोटेटो (Sweet potato)

14) Arbi-बटाटा हलुवाह (Batatah haluwah)

15) Persian-लर्दाकलाहोरी (Lardaklahori)

शकरकंद के प्रकार :

शकरकंद के प्रकार तीन तरह के होते हैं .

1) गुलाबी शकरकंद

2) लाल शकरकंद

3) सफेद शकरकंद

शकरकंद के फायदे – ( Benefits of Sweet Potato in Hindi )

शकरकंद में कई प्रकार के गुण और पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं, जो इसे सेहत के लिए फायदेमंद बनाते हैं। यह हमें स्वस्थ रखने के साथ-साथ विभिन्न शारीरिक समस्याओं से उबरने में भी मदद करती है। आइए, अब विस्तार से जानते हैं कि शकरकंद के फायदे क्या-क्या हैं।

1) बालों के लिए ( Benefits of Sweet Potato for Hair )

त्वचा और सेहत के अलावा बालों के लिए भी शकरकंद खाने के लाभ होते हैं। बालों के विकास के लिए और उन्हें टूटने से बचाने के लिए कई प्रकार के पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है, जैसे विटामिन-ए, विटामिन-सी, कैल्शियम, आयरन, जिंक और बीटा-कैरोटिन। शकरकंद में इन सभी पोषक तत्वों की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो बालों की कई समस्याओं को दूर करने के साथ ही उनकी ग्रोथ में मददगार होते हैं।

2) स्किन के लिए ( Benefits of Sweet Potato for Skin )

सेहत के साथ ही शकरकंद त्वचा के लिए भी फायदेमंद होता है। शाेध के अनुसार, शकरकंद में जेंथोफाइल्स ) नामक घटक पाया जाता है, जो सूरज की रोशनी के कारण होने वाली स्किन डैमेज से सुरक्षा प्रदान करता है। शोध में आगे जिक्र है कि शकरकंद में विटामिन-सी की भी अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो झुर्रियों की समस्या को दूर करने में मदद करती है ।

3) बच्चों के लिए ( Benefits of Sweet Potato for Kids )

बड़ों के साथ-साथ बच्चों के लिए भी शकरकंद खाने के लाभ होते हैं। इस विषय पर कई शोध हो चुके हैं। उनमें से एक शोध के अनुसार, बच्चों में विटामिन-ए की कमी से कई प्रकार की बीमारियां होती हैं। शकरकंद विटामिन-ए की कमी को पूरा करने में मददगार होता है। इससे समस्या को कुछ हद तक दूर किया जाता है, इसके अलावा यह बच्चों में अंधेपन को भी दूर करने में फायदेमंद होता है।

4) गर्भावस्था के लिए ( Benefits of Sweet Potato for Pregnancy )

माना जाता है कि विटामिन-ए की कमी अंधपन और गंभीर मामलों में मृत्यु तक का कारण बनती है। इसका सबसे ज्यादा दुष्प्रभाव गर्भावस्था में दिखाई देता है। सामान्य अवस्था के साथ ही शकरकंद के फायदे गर्भावस्था में भी देखने को मिलते हैं। शोध में पाया गया कि शकरकंद में विटामिन-ए की अच्छी मात्रा पाई जाती है। इसलिए, अगर किसी को विटामिन-ए की कमी है, तो शकरकंद का सेवन फायदेमंद होता है । अगर कोई गर्भवती महिला शकरकंद खाना चाहती है, तो पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें ।

5) वजन कम करने के लिए ( Benefits of Sweet Potato for Lose weight )

बढ़ता हुआ वजन कई समस्याओं का कारण बनता है और आज-कल हर कोई अपने वजन को कम करने के लिए एक्सरसाइज के साथ ही हेल्दी फूड का सेवन करना पसंद करता है। इन्हीं हेल्दी फूड में एक नाम शकरकंद का भी आता है। वजन को नियंत्रित करने में शकरकंद के लाभ होते हैं। चूहों पर किए गए शोध में पाया गया कि शकरकंद में एंटी ऑबेसिटी गुण पाए जाते हैं, जो बढ़ते हुए वजन को नियंत्रित कर मोटापे को कम करने में मदद करते हैं ।

6) आंखों के लिए ( Benefits of Sweet Potato for Eyes )

आंखों काे सुरक्षा प्रदान करने के लिए और आंखों की देखभाल के लिए शकरकंद फायदेमंद होता है। शोध से पता चला है कि शकरकंद में ल्यूटिन और जेक्सैंथिन जैसे आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हानिकारक किरणों से आंखों की रक्षा करने में मददगार होते हैं। साथ ही ये ऑक्सीडेटिव डैमेज को भी दूर करने में मदद करते हैं। इसके अलावा, शकरकंद में एस्कॉर्बिक एसिड भी पाया जाता है, जो आंखों को कई बीमारियों से बचाकर उन्हें प्रोटेक्ट करता है ।

7) हड्डियों के लिए ( Benefits of Sweet Potato for strong Bons )

कैल्शियम की कमी के कारण हड्डियां कमजोर होती हैं। हड्डियों की मजबूती के लिए शकरकंद का उपयोग किया जाता है। शोध में पाया गया कि शकरकंद में कैल्शियम व मैग्नीशियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जिस कारण यह हड्डियों के लिए फायदेमंद होता है। कैल्शियम व मैग्नीशियम हड्डियों को मजबूती देने के साथ ही उनके विकास में भी मददगार होता है ।

8) स्वस्थ हृदय के लिए ( Benefits of Sweet Potato for Heart )

हृदय की समस्या को कुछ हद तक दूर करने के लिए शकरकंद का उपयोग किया जाता है। शोध में पाया गया है कि शकरकंद में पोटैशियम, साेडियम और कैल्शियम जैसे पोषक तत्वों की अच्छी मात्रा पाई जाती है। शकरकंद में पाए जाने वाले ये पोषक तत्व बल्ड क्लोटिंग को रोकने के साथ ही हृदय गति को नियंत्रित करने में मददगार होते हैं। इसके अलावा, शोध में यह भी पता चला है कि शकरकंद में एंथोसायनिडिंस नामक फ्लेवोनोइड पाया जाता है। यह फ्लेवोनोइड एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीकार्सिनोजेनिक जैसे गुणों से भरपूर होता है, जो हृदय रोगों से सुरक्षा करने में मददगार होता है ।

9) रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए ( Benefits of Sweet Potato for Immunity )

कमजोर इम्यून सिस्टम यानी प्रतिरक्षा प्रणाली के कारण सर्दी-जुकाम जैसी कई बीमारियां होती हैं। इस समस्या से निपटने के लिए और प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए शकरकंद का उपयोग किया जाता है। शोध से पता चला है कि बैंगनी शकरकंद के अर्क में पॉलीसेकेराइड नामक कंपाउंड पाया जाता है। यह कंपाउंड इम्यून साइटोकाइन के स्तर को सुधारे में मददगार होता है। इम्यून साइटोकाइन एक प्रकार का प्रोटीन है, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को सुधारने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है

10) कैंसर के लिए ( Benefits of Sweet Potato for Cancer )

कैंसर जानलेवा बीमारी है। शकरकंद का सेवन कर इस गंभीर बीमारी को पनपने से रोका जा सकता है। इस विषय पर हुए शोध के अनुसार, शकरकंद के छिलके में एंटीऑक्सीडेंट और एंटीकैंसर गुण पाए जाते हैं। इसके अलावा, शकरकंद में कई फायदेमंद तत्व भी होते हैं। शकरकंद में पाए जाने वाले ये गुण और तत्व विभिन्न प्रकार के कैंसर को पनपने से रोकते हैं । साथ ही हम स्पष्ट कर दें कि शकरकंद का सेवन कैंसर का इलाज नहीं होता है। किसी व्यक्ति को कैंसर होने पर डॉक्टर द्वारा बताया गया उपचार ही फायदेमंद होता है।

शकरकंद का उपयोग : How to Use Sweet Potato

शकरकंद खाना सेहत के लिए क्यों अच्छा है, यह तो आप जान गए हैं। अब पता करते हैं कि शकरकंद कैसे खाएं और कितना खाएं, ताकि इसका अधिक लाभ मिल सके।

1) शकरकंद को कैसे खाएं – आप इसे उबालकर या आग में भूनकर खा सकते हैं। देशभर में इसे अलग-अलग प्रकार से खाया जाता है। आप किसी भी प्रकार से शकरकंद खाएं, इसका लाभ आपको भरपूर मिलेगा।

2) शकरकंद कितना खाना चाहिए – इसे लेकर कोई मानक तो तय नहीं है, लेकिन स्वीट पोटैटो के नुकसान से बचने के लिए इसका सेवन कम ही किया जाए, तो बेहतर होगा। इसमें अधिक मात्रा में फाइबर पाया जाता है, जो पचने में समय लगता है। ऐसे में अगर आप अधिक मात्रा में शकरकंदी का सेवन करेंगे, तो आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगेगी।

3) शकरकंद कब खाना चाहिए – स्वीट पोटैटो खाने के फायदे तो हैं, लेकिन इसे खाने को लेकर लोग असमंजस में रहते हैं। शकरकंद खाने की कोई समय सीमा तय नहीं है। आप अपनी सुविधा के अनुसार कभी भी इसका सेवन कर सकते हैं। फिर चाहे आप इसे भोजन के बाद मीठे के तौर पर खाएं या फिर सुबह नाश्ते के रूप में लें। किसी भी समय इसका सेवन किया जा सकता है।

शकरकंद को लंबे समय तक सुरक्षित कैसे रखें :

शकरकंद का चुनाव :

1) शकरकंद को ऑर्गनिक ढंग से उगाया गया हो, क्योंकि ऑर्गनिक शकरकंद पर कीटनाशक नहीं होते।

2) औसत आकार के शकरकंद का चुनाव करना चाहिए।

3) शकरकंद का छिलका चिकना और ठोस होना चाहिए।

4) अधिक नर्म शकरकंद का चुनाव न करें।

5) भूरे धब्बे होने पर, छेद होने पर या फिर पानी निकलने वाले शकरकंद का चुनाव न करें, क्योंकि वह खराब हो सकता है।

6) गहरे रंग के शकरकंद एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं।

स्टोरेज:

1) शकरकंद को रेफ्रिजरेटर में रखना जरूरी नहीं है।

2) आप इन्हें कमरे के सामान्य तापमान पर रख कर सकते हैं।

3) कमरे के तापमान पर इन्हें एक सप्ताह तक उपयोग किया जा सकता है।

Side Effects of Sweet Potato in Hindi

जिन्हें लो शुगर की समस्या है उन्हें इसका सेवन डॉक्टर की सलाह पर करना चाहिए, क्योंकि इसमें ग्लूकोज को कम करने वाला गुण होता है, जो सेहत पर बुरा असर डाल सकता है

पेट दर्द की शिकायत होने पर भी स्वीट पोटैटो के साइड इफेक्ट हो सकते हैं, इसलिए इसे खाने से परहेज करना चाहिए। 

For more details regarding the Sweet Potato in Hindi: – click here